प्राइवेट डेंटिस्ट की फीस देख महिला ने उठाया खौफनाक कदम, खुद ही उखाड़ डाले 11 दांत - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, October 8, 2021

प्राइवेट डेंटिस्ट की फीस देख महिला ने उठाया खौफनाक कदम, खुद ही उखाड़ डाले 11 दांत



नई दिल्ली: दांतों में समस्या (Dental Problems) होने पर आमतौर पर लोग डेंटिस्ट (Dentist) के पास ही जाते हैं. लेकिन एक 42 वर्षीय महिला को जब दांतों में दिक्कत हुई, तो उसने ऐसा काम किया जिसे जानकर हर कोई हैरान रह गया. महिला ने डेंटिस्ट के पास जाने के बजाय खुद ही अपने 11 दांत उखाड़ डाले. आइए जानते हैं पूरा मामला.. दरअसल, ये मामला ब्रिटेन (Britain) के लंदन का है, जहां डेनिएल वाट्स (Danielle Watts) नाम की महिला ने इसलिए अपने 11 दांत उखाड़ डाले, क्योंकि उसके पास प्राइवेट डेंटिस्ट के पास जाने के पैसे नहीं थे.'मिरर यूके' की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला ने कहा है कि वह अपने क्षेत्र के सरकारी हॉस्पिटल में गई थी, लेकिन वहां कोई डेंटिस्ट नहीं था और प्राइवेट डॉक्टर के पास जाने के लिए उसके पास पैसे नहीं थे. इसीलिए उसने खुद से एक-एक करके अपने 11 दांत उखाड़ दिए. डेनिएल वाट्स ने पिछले तीन सालों में अपने 11 दांत उखाड़े हैं. उसका कहना है कि प्राइवेट डॉक्टर की फीस भरना उसके लिए मुमकिन नहीं था. ऐसे में मजबूरी में अपने खराब दांतों को निकालना पड़ा. डेनिएल कहती हैं, 'मैं मुस्कुराना भूल चुकी हूं, मेरा आत्मविश्वास भी खत्म हो गया है. दर्द की वजह से मुझे हर दिन दवाइयां (पेनकिलर) लेनी पड़ती हैं'. महिला ने कहा कि यह काफी पीड़ादायक प्रक्रिया रही, लेकिन मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था. डेनिएल के मुताबिक, उसके दांतों में परेशानी थी, कुछ दांत हिल भी रहे थे. वह घर के पास मौजूद सरकारी स्वास्थ्य केंद्र गई. लेकिन वह 6 साल पहले ही बंद हो चुका था. आसपास दांतों का कोई भी डॉक्टर नहीं था. सभी ने प्राइवेट डॉक्टर का सुझाव दिया, लेकिन उसका खर्च मैं नहीं उठा सकती थी.


No comments:

Post a Comment