MP: आकाशीय बिजली गिरने से नौ लोगों की मौत, 8 झुलसे - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, September 28, 2021

MP: आकाशीय बिजली गिरने से नौ लोगों की मौत, 8 झुलसे



मुख्यमंत्री ने व्यक्त किया दुख

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के देवास और आगरमालवा जिले (Dewas and Agarmalwa districts) में अलग-अलग जगह आकाशीय बिजली की घटनाओं (lightning events) में सोमवार को नौ लोगों की मौत हो गई, जबकि 8 लोग बुरी तरह झुलस गए। गंभीर रूप से घायलों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती किया गया है, जहां उनका उपचार जारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन हादसों पर दुख व्यक्त किया है।

देवास जिले के सतवास थाना क्षेत्र में सोमवार दोपहर दो बजे के बाद अंचल के विभिन्न ग्रामों में आसमानी बिजली गिरने की घटनाएं हुईं। इन घटनाओं में 6 लोगों की मौत हो गई। चार लोगों का गंभीर हालत में उपचार चल रहा है।

पहली घटना ग्राम बामनीबुजुर्ग की है। यहां 40 वर्षीय सावित्रीबाई, 19 वर्षीय दीपिका पुत्री मोतीलाल और 40 वर्षीय रेखा पत्नी हरिओम तीनों खेत पर काम कर लौट रही थी। रास्ते में ही आसमानी बिजली गिर गई, जिससे रेखाबाई की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सावित्रीबाई व दीपिका को सतवास में प्रारंभिक इलाज के बाद इंदौर रेफर किया गया।

दूसरी घटना समीपस्थ ग्राम डेहरिया की है। यहां 39 वर्षीय रामरूप पुत्र सीताराम, उसकी 15 वर्षीय लड़की माया तथा ग्राम बागनखेड़ा से अपने मामा के घर आई 18 वर्षीय रीना पुत्री रामदीन खेत में सोयाबीन फली बीनने का काम कर रहे थे। तभी बिजली कड़कने के साथ तेज बारिश होने लगी, जिससे बचने के लिए ये तीनों खेत छोटे से पेड़ के नीचे बैठ गए। इस दौरान इन पर बिजली गिरी। इससे रीना की मौके पर ही मौत हो गई तथा रामरूप और उसकी लड़की माया गंभीर रूप से झुलस गए। ग्रामीण इन्हें सतवास तक लाते, इसके पूर्व रास्ते में इन्होंने भी दम तोड़ दिया।

तीसरी घटना ग्राम खारी में हुई, जहां हरिओम (40) पुत्र अमरसिंह भी बिजली की चपेट में आकर झुलस गया। इलाज सतवास अस्पताल में चल रहा है। वहीं, सतवास क्षेत्र के साथ ही खातेगांव के ग्राम बछखाल में खेत में काम कर रही 36 वर्षीय रेशबाई पत्नी रूपसिंह बघेल की भी बिजली गिरने से मौत हो गई। इसी प्रकार टोंकखुर्द में वार्ड क्रमांक एक निवासी 21 वर्षीय रानी पुत्री मेहरबान की भी बिजली गिरने से मौत हुई। इस प्रकार देवास जिले में सोमवार को बिजली गिरने से छह लोगों की मौत हुई है। वहीं, चार लोग बुरी तरह झुलस गए।

इसी तरह आगर मालवा जिले में सोमवार को 3 अलग-अलग हादसों में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 4 गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों का इलाज अस्पताल में जारी है। मरने वालों में 2 महिलाएं और 1 बच्चा शामिल है। चारों गंभीर रूप से घायलों को लखेड़ा शासकीय स्वास्थ्य केंद्र से प्राथमिक इलाज के बाद जिला अस्पताल आगर रेफर किया गया है। मृतकों में ग्राम पिलवास की एक महिला और ग्राम मनासा की एक महिला और एक बच्चा शामिल है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देवास एवं आगर मालवा जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से नागरिकों की मृत्यु पर दु:ख व्यक्त किया है। देवास में सोमवार को तीन अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरी जिसके फलस्वरूप ग्राम डेरिया गुड़िया, ग्राम खल और ग्राम बामनी में नागरिकों की असामयिक मृत्यु हुई है। आगर मालवा जिले में नलखेड़ा के पास ग्राम मनासा, पिलवास और लसुलड़िया केलवा में बिजली गिरने की घटनाएँ हुई हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने देवास एवं आगर मालवा के जिला प्रशासन को प्रभावित परिवारों की सहायता के लिए निर्देश दिए हैं।

No comments:

Post a Comment