Madhya Pradesh में चिकित्सा शिक्षा की पढ़ाई अब हिन्दी में भी होगी - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, September 15, 2021

Madhya Pradesh में चिकित्सा शिक्षा की पढ़ाई अब हिन्दी में भी होगी




चिकित्सा शिक्षा मंत्री बोले-मॉड्यूल तैयार करने बनेगी कमेटी



भोपाल। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग (State Medical Education Minister Vishwas Kailash Sarang) ने हिन्दी दिवस पर शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में चिकित्सा शिक्षा की पढ़ाई (Studying Medical Education in Madhya Pradesh) अंग्रेजी के साथ अब हिन्दी में भी होगी। जल्दी ही एक कमेटी बनाई जायेगी, जो एक मॉड्यूल तैयार करेगी। कमेटी के सुझाव के आधार पर ही पूरा पाठ्यक्रम हिन्दी में तैयार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि भाषा चयन का विकल्प छात्र के पास रहेगा कि वह किस भाषा में अपनी पढ़ाई करना चाहता है।





मंत्री सारंग ने मंगलवार को जारी अपने बयान में कहा कि अपनी मातृभाषा में पढ़ाई की सुविधा से गरीब, ग्रामीण और आदिवासी पृष्ठभूमि के विद्यार्थियों का आत्मविश्वास बढ़ेगा। इसी सोच के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई मातृभाषा में करने के प्रावधान किये हैं।

मंत्री सारंग ने कहा कि प्रदेश में चिकित्सा शिक्षा की पढ़ाई राज भाषा हिन्दी में भी हो, इसके लिए जल्दी ही एक कमेटी गठित की जायेगी। यह कमेटी एक मॉड्यूल तैयार करेगी। इस मॉड्यूल में चिकित्सा शिक्षा का हिन्दी में पाठ्यक्रम तैयार करने के साथ पाठ्यक्रम से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर भी विचार होगा। कमेटी यह भी देखेगी कि इससे कोई दूसरी व्यवहारिक परेशानी तो नहीं होगी। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी भाषा में पढ़ाई पहले जैसी चलती रहेगी। सारंग ने कहा कि कमेटी की रिपोर्ट आते ही प्रदेश के सभी चिकित्सा महाविद्यालयों में अंग्रेजी के साथ-साथ हिन्दी में भी पढ़ाई शुरू हो जायेगी। (

No comments:

Post a Comment