खेलते-खेलते सीवर लाइन गड्ढे में गिरने से 2 बच्चों की मौत - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, September 26, 2021

खेलते-खेलते सीवर लाइन गड्ढे में गिरने से 2 बच्चों की मौत



कटनी: मध्य प्रदेश के कटनी जिले से एक दर्दनाक खबर सामने आई है. कुठला थाना अंतर्गत कुठला बस्ती में सीवर लाइन प्लांट बनाने के लिए खोदे गए गड्ढे में दो बच्चों गिर गए और डूबने से उनकी मौत हो गई. दोनों की उम्र 8 और 9 साल थी. करीब पांच घंटे चले रेस्क्यू में दोनों के शवों को गड्ढे से निकाला गया. पुलिस ने दोनों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा.

हादसे के बाद से परिजनों और क्षेत्र के लोगों में काफी आक्रोश है. उनका आरोप है कि रहवासी क्षेत्र में सीवर लाइन का प्लांट नहीं होना चाहिए. लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों के कारण ऐसा हुआ है और प्लांट का गड्ढा यहां नहीं खोदा जाता तो यह हादसा नहीं होता.




खेलते-खेलते गड्ढे में गिरे बच्चे
टीआई विपिन सिंह ने बताया कि रामदास बेन की बच्ची रिया उर्फ अस्सो और दिनेश बेन का 8 वर्षीय बच्चा कृष्णा सुबह लगभग 7 बजे घर के पीछे खेल रहे थे. कुछ देर बाद जब दोनों बच्चे नहीं दिखे तो परिजनों ने उनकी खोजबीन शुरु की. कुछ देर बाद घर के पीछे बने सीवर लाइन के प्लांट के गड्ढे के पास बच्चों की चप्पल दिखाई पड़ी. जिसके बाद तुरंत उनको गड्ढे में देखना शुरू किया गया और पुलिस को सूचना दी गई.


मौके पर पहुंची पुलिस ने नगर निगम को बुलाया और जिसके बाद फायर ब्रिगेड और नगर निगम की रेस्क्यू टीम पहुंची. लोहे के जाल को गड्ढे में डालकर बच्चों की तलाश शुरु की गई.करीब चार घंटे तक चले रेस्क्यू में दोनों के शव को बाहर निकाला गया.




लोगों ने जताया था विरोध, लेकिन नहीं मानें अधिकारी
हादसे के बाद क्षेत्र के लोगों ने बताया कि रहवासी क्षेत्र के पास सीवर लाइन का प्लांट बनाया जा रहा है. सीवर प्लांट के लिए ही वहां पर करीब 40 से 50 फीट गहरा खदाननुमा गड्ढा खोदा गया है. रहवासी क्षेत्र होने के कारण हर समय हादसे की आशंका बनी रहती है, जिसके लिए शुरुआत से रहवासी सीवर लाइन प्लांट लगाए जाने का विरोध कर रहे थे. लेकिन जिम्मेदार अधिकारी विरोध को अनसुना अपने काम में लगे रहे. यहीं कारण है कि आज यह बड़ा हादसा हो गया और दो मासूमों की जान चली गई. फिलहाल टीआई विपिन सिंह सीवर लाइन बनाने वाली कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की बात कह रहे हैं.

No comments:

Post a Comment