अगर आप 50 साल पार कर गए हैं, तो आपकी डाइट के लिए ये हैं सबसे अच्छे फूड्स - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, August 10, 2021

अगर आप 50 साल पार कर गए हैं, तो आपकी डाइट के लिए ये हैं सबसे अच्छे फूड्स



पचास की दहलीज पार करने के बाद शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं. हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और शरीर ढलने लगता है. लिहाजा, जरूरी है कि अपनी डाइट में पोषण से भरपूर भूड्स को शामिल करना चाहिए.

उम्र बढ़ने के साथ पोषण का महत्व भी बढ़ जाता है. इस दौरान आप जो कुछ खाते हैं उसकी बेहद अहमियत होती है. हमारा शरीर भोजन, पाचन और अवशोषण से बनता है, जिसका मतलब हुआ आपके शरीर को फिर से जीवित करनेवाला, मजबूत करनेवाला और भरपाई करनेवाला. ऐसे में स्वाभाविक सवाल पैदा होता है कि कौन सा भोजन सबसे अच्छा है? न्यूट्रिशनिस्ट मुग्धा प्रधान ने 50 की उम्र में कदम रखने पर भोजन से जुड़े कुछ सुझाव दिए हैं. पोषण से भरपूर भोजन को अपनी रोजाना की डाइट में शामिल करना चाहिए.


अंडा- ये सबसे सस्ता और आसानी से उपलब्ध होनेवाला पशु प्रोटीन है. उसे प्रकृति का शुद्ध सुपर फूड समझा जाता है. प्रोटीन के अलावा, अंडे में जरूरी पोषक तत्व होते हैं जो एथलीट्स और फिटनेस प्रेमियों का भी विकल्प होता है. अंडे की सफेदी में 60 फीसद पशु के प्रोटीन होते हैं, जबकि जर्दी में स्वस्थ फैट्स, विटामिन्स, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं. ज्यादातर लोग अंडे से फैट के कारण डरते हैं, लेकिन इसके सबूत नहीं हैं कि अंडे से प्राप्त कोलेस्ट्रोल और फैट नकारात्मक तरीके से स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं. अंडा को ब्रेकफास्ट, लंच, डिनर और यहां तक कि भूख लगने पर भी खाया जा सकता है.


मटन, चिकन, समुद्री फूड- डाइटरी प्रोटीन्स हमारे शरीर का बिल्डिंग ब्लॉक्स हैं. पशु प्रोटीन आसानी से इंसानों के लिए प्रोटीन की शक्ल में पचनेवाला होता है. रेड मीट से भी डरने की कोई वजह नहीं है. रेड मीट में स्टीएरिक एसिड वास्तव में आपका वजन कम करने में मदद कर सकता है क्योंकि ये शरीर को ज्यादा फैट बर्न करने का संकेत देता है. डार्क चिकन विटामिन के2 में अधिक होता है और चिकन की स्किन में कोलेजन होता है जो आपके शरीर के लिए अच्छा है. समुद्री फूड जैसे पोमफ्रेट, झींगा न सिर्फ प्रोटीन का अच्छा स्रोत है बल्कि ओमेगा-3 फैटी एसिड भी पाया जाता है जो स्वभाव में सूजन रोधी होता है. अगर आप अपने शरीर का मरम्मत और चाहते हैं कि ठीक हो जाए तो रोजाना आपको अपनी डाइट में पशु प्रोटीन शामिल करना आवश्यक है.


घी, मक्खन और नारियल तेल- घी का महत्व सेहत, स्किन, बाल के लिए जाहिर है. कैनोला का तेल, मूंगफली, सोयाबीन, कुसुम, सरसों, तिल, बिनौला, पॉम ऑयल और कॉर्न ऑयल इस्तेमाल करने पर सूजन समर्थक स्थितियां होती हैं. आप उम्र बढ़ने के साथ निश्चित सूजन नहीं चाहेंगे. घी, मक्खन और नारियल तेल सूजन वाले यौगिकों से खाली होते हैं. उम्र बढ़ने पर जरूरी ये फैट्स आपकी स्किन को चमकाने, उसे कोमल और युवा बनाने में भी मदद करते हैं. सैचुरेटेड फैट्स में भरपूर डाइट हार्मोन के असंतुलन को भी रोकते हैं क्योंकि अधिकतर हार्मोन्स कोलेस्ट्रोल पर निर्भर करते हैं.

No comments:

Post a Comment