21 एवं 22 जुलाई को होगा रज़ा स्मृति का आयोजन..रज़ा कला वीथिका में होगा चित्रकला कार्यशाला और माटी पर रंग का आयोजन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, July 19, 2021

21 एवं 22 जुलाई को होगा रज़ा स्मृति का आयोजन..रज़ा कला वीथिका में होगा चित्रकला कार्यशाला और माटी पर रंग का आयोजन

मण्डला - विश्व पटल पर आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले का नाम रोशन करने वाले महान चित्रकार सैयद हैदर रज़ा की पुण्य तिथि पर रज़ा स्मृति का आयोजन किया जा रहा है। 21 एवं 22 जुलाई 2021 को रजा फाउंडेशन द्वारा आयोजित रजा स्मृति कार्यक्रम के अंतर्गत चित्रकला कार्यशाला, माटी पर रंग और टीशर्ट पर रंग का आयोजन किया गया है। यह आयोजन सैयद हैदर रज़ा मार्ग स्थित रज़ा कला वीथिका में सुबह 11:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक किया गया है। इस कार्यशाला में आशीष कछवाहा, शुभांशी कांसकार, गरिमा ताम्रकार और विक्रम प्रजापति बतौर कलाकार उपस्थित रहेंगे। सैयद हैदर रजा की पुण्यतिथि, 23 जुलाई 2021 को बिंझिया स्थित कब्रिस्तान पर पुष्प अर्पण किया जाएगा।




इस वर्ष रजा फाउंडेशन के साथ-साथ एमपी टाइगर फाउंडेशन सोसाइटी भी कार्यक्रम आयोजित कर रही है। बाघ सखा कार्यक्रम के अंतर्गत टी शर्ट पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। इसमें बाघ, तेंदुआ, मध्य प्रदेश में पाए जाने वाले पक्षी, मध्यप्रदेश के वनों के लैंडस्केप की पेंटिंग की जा सकेगी। इसके अलावा मध्यप्रदेश के शाकाहारी वन्य प्राणी जैसे चीतल, सांभर, बारहसिंघा, कृष्ण मृग, गौर आदि के चित्र बनाए जा सकेंगे। मध्य प्रदेश में पाए जाने वाले अन्य प्राणी जैसे पैंगोलिन, भालू, भेड़िया, लंगूर आदि के चित्र भी टी-शर्ट पर बनाए जा सकते हैं। पेंटिंग के लिए टी-शर्ट रज़ा कला वीथिका में 21 और 22 जुलाई को सुबह 11:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक प्रदान की जाएंगी। प्रतिभागी अपने घर में बैठकर आराम से टी शर्ट पैंट कर सकते हैं। प्रिंटेड टी शर्ट्स 30 जुलाई तक वापस जमा सकेंगी।

रजा फाउंडेशन की सदस्य सचिव संजीव चौबे ने बताया कि रजा फाउंडेशन इस वर्ष को रज़ा शत वार्षिकी वर्ष के रूप में मना रहा है। फरवरी 2022 में रजा साहब का 100वां जन्म दिवस है। ऐसे में हम पूरे वर्ष वृहद आयोजन करने की तैयारी में थे लेकिन कोरोना काल के चलते हम शासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए सीमित तौर पर कार्यक्रमों का आयोजन कर रहे हैं। रज़ा फाउंडेशन द्वारा विभिन्न वर्चुअल कार्यक्रम भी लगातार किए जा रहे हैं। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी मंडला में रज़ा साहब की पुण्यतिथि पर रजा स्मृति का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें स्थानीय लोगों को चित्रकारी करने का मौका मिलेगा। उन्होंने बताया कि रज़ा साहब ने 23 जुलाई 2016 को नई दिल्ली में अंतिम सांस ली थी। उनकी इच्छा के मुताबिक मंडला स्थित कब्रिस्तान में उनके वालिद की कब्र के बगल में उन्हें सुपुर्द ए खाक किया जाना था। लिहाजा नई दिल्ली से नागपुर तक वायुयान से आपका पार्थिव शरीर लाया गया। नागपुर से मंडला सड़क मार्ग से लाया गया था और यहां 24 जुलाई 2016 को पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनको सुपुर्द ए खाक किया गया था। तब से रज़ा फाउंडेशन इस क्षेत्र के कलाकारों की छुपी प्रतिभा को बाहर लाने तरह - तरह के कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है। रज़ा साहब शायद इस पूरे अंचल की एकमात्र ऐसी शख्सियत होंगे जिन्हें भारत सरकार के अति विशिष्ट सम्मान पद्मश्री, पद्मभूषण और पद्मविभूषण से अलंकृत किया गया हो। अपने इस चहीते कलाकार को मंडला के लोग भी चित्रकारी कर सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते है।

No comments:

Post a Comment