श्रावण मास में भगवान भोलेनाथ की भक्ति मय हुआ महिष्मति नगर चारो ओर हर हर महादेव, की गूंज.... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, July 26, 2021

श्रावण मास में भगवान भोलेनाथ की भक्ति मय हुआ महिष्मति नगर चारो ओर हर हर महादेव, की गूंज....

 




रेवांचल टाईम्स - आज भगवान देवाधिदेव महादेव की भक्ति आराधना का पावन महीना श्रावण मास का  शुभारंभ हो गया है। वही श्रावण मास के शुभारंभ के साथ ही जिले भर में धार्मिक आयोजनों का भी आगाज हो गया है। तो वही शिवालयों में सुबह से ही पूजन-अर्चन, अभिषेक करने के लिए भक्तों का तांता लगने लगा है। हालांकि भक्तों द्वारा कोरोना प्रोटोकाल के अनुरूप आयोजन किये जा रहे है।


उल्लेखनीय होगा कि प्रतिवर्ष श्रावण मास को भगवान शिव की भक्ति के प्रमुख पर्व के रूप में जिले भर में मनाया जाता है। जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण इलाके में भी स्थित मंदिरों में भी सुबह से ही भक्तों की भीड़ देखी जा रही है।

       भगवान भोलेनाथ के अभिषेक पूजन के साथ ही अखंड रामायण का पाठ भजन कीर्तन पूरे माह चलता है। इसी तरह प्रतिदिन नगर के हृदय स्थल में स्थित शंकर मंदिर बंजर चौक सूरज कुंड में भी पूरे महिनें अभिषेक और विशेष पूजन किया जाता है। नगर के उपनगरीय क्षेत्र महाराजपुर स्थित सिद्धेश्वर महादेव मंदिर में भी श्रावण मास के शुभारंभ के साथ मोहल्ले के महिला मंडल द्वारा श्रावण मास पर विशेष पूजन पाठ और अभिषेक किया जाता है। इसी तरह नर्मदा नदी तट पर महाकालेश्वर मंदिर बाबा मंगलेश्वर मंदिर में भी पूरे माह भर धार्मिक आयोजन चलते है। इसके साथ ही स्वामी सीताराम बड़ी खेरी में स्थित मंदिर में भी पूरे मास भर धार्मिक आयोजन होते है इसके आलावा मंडला शहर सहित जिले भर में स्थित शिवालयों में पूरे श्रावण मास में धार्मिक आयोजनों की श्रृंखला आज से प्रारंभ हो गई है। वही लोगों के द्वारा मंदिरों के आलावा अपने घरों में भी धार्मिक आयोजन, पूजन पाठ, हवन अखण्ड रामायण आदि का सिलसिला भी आज से शुरू हो गया है। 

       

वही इस वर्ष पड़ रहे चार सोमवार


       वही इस माह वर्ष विशेष पूजन अर्चन अखण्ड रामायण और अभिषेक से प्रारंभ हो गया है जो पूरे महीने भर चलेगा। श्रावण मास को भगवान शिव की भक्ति आराणना का प्रमुख माह भी माना जाता है। श्रावण मास में इस वर्ष चार सोमवार पड़ रहे है। पहला श्रावण सोमवार आज 26 जुलाई को पड़ा है, दूसरा श्रावण सोमवार 2 अगस्त को पड़ेगा, तीसरा श्रावण सोमवार 09 अगस्त और चौथा श्रावण सोमवार 16 अगस्त को पड़ेगा। 

      श्रावण सोमवार पर व्रत करके भगवान देवाधिदेव महादेव भोलेनाथ की पूजन-अर्चन करने से भक्तों की सभी मनोकामना पूरी होती है और संकटों से मुक्ति मिलती है।


वही श्रावण मास के शुभारंभ के साथ ही जिले भर में धार्मिक आयोजन प्रारंभ हो गये है तो वही आज से श्रावण सोमवार प्रारंभ होने से चारों ओर हर-हर भोले, हर-हर महादेव की गूंज से वातावरण धर्ममय हो जायेगा। श्रावण मास तो वैसे ही अपने आप में खास होता है और श्रावण सोमवार उसमें भी और खास होते है। श्रावण मास में भगवान शिव का अभिषेक पूजन करके धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन करने, रामायण पढ़ने और दूसरों को सुनाने से परमपुण्य की प्राप्ति होती है। मन में शान्ति परिवार में खुशहाली आती है भगवान भोलेनाथ के पूजन अर्चन करने से बड़े से बड़े दुख दूर हो जाते है।

               ॐ नमः शिवायः

No comments:

Post a Comment