करंट फैलने का डर: दीवार ढहने के बाद इतने घंटे तक लकड़ी की सीढ़ी पर खड़ी रहीं दो महिलाएं....फिर क्या हुआ पढ़े पूरी खबर - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, July 18, 2021

करंट फैलने का डर: दीवार ढहने के बाद इतने घंटे तक लकड़ी की सीढ़ी पर खड़ी रहीं दो महिलाएं....फिर क्या हुआ पढ़े पूरी खबर



मुंबई| मुंबई के माहुल इलाके में रविवार को भारी बारिश के कारण इलाके में एक दीवार गिरने के बाद दो महिलाएं करंट लगने के डर से दो घंटे से अधिक वक्त तक अपनी झोंपडी में लकड़ी की सीढ़ी पर खड़ी रहीं।

एक अधिकारी ने बताया कि माहुल के भरतनगर इलाके में देर रात करीब एक बजे भूस्खलन के बाद एक छोटी पहाड़ी पर स्थित कुछ मकानों पर दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत हो गयी। जब इलाके में दीवार गिरने के बाद लोग बाहर चिल्ला रहे थे, उस वक्त लक्ष्मी जोंगनकर (40) अपनी झुग्गी में थीं। उन्होंने अपने घर की खिड़की खोली और देखा कि अन्य झोपड़ियां भी ढह गयी हैं, लेकिन उन्होंने यह नहीं देखा कि उनके घर में भी मलबा घुस गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘लोगों ने चिल्लाना शुरू कर दिया कि इलाके में बिजली का करंट फैल गया है तो मैं अपनी एक महिला रिश्तेदार के साथ अपनी झोंपड़ी में लकड़ी की सीढ़ी पर चढ़ गयी। दो घंटे से अधिक वक्त बाद एक व्यक्ति हमारा हालचाल जानने आया और हमें बाहर आने के लिए कहा।’’

महिला ने कहा कि उसने दरवाजा खोला और लड़की के डंडे की मदद से मकान के बाहर निकलीं। स्थानीय निवासी भाऊदास रंगारवार्पे ने कहा कि भूस्खलन के कारण दीवार ढही। उन्होंने कहा, ‘‘दीवार बहुत पुरानी थी तो वह उससे सटी झुग्गियों पर गिर गयी।’’

स्थानीय निवासी रफीक ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर मलबे से शव निकालने में बचाव दल की मदद की। उसने कहा कि भारी बारिश के कारण यह घटना हुई। उसने कहा, ‘‘इस घटना में एक परिवार के तो सभी सदस्यों के करंट लगने के कारण मरने का संदेह है।’’

No comments:

Post a Comment