अधिकारी कर्मचारी मोर्चा मंडला का गठन सर्वसम्मति से के डी दुबे को जिलाध्यक्ष, दिलीप मरावी को सचिव मनोनीत किया गया - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, July 24, 2021

अधिकारी कर्मचारी मोर्चा मंडला का गठन सर्वसम्मति से के डी दुबे को जिलाध्यक्ष, दिलीप मरावी को सचिव मनोनीत किया गया


रेवांचल टाइम्स - मध्यप्रदेश सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों से त्रस्त होकर मध्य प्रदेश के सभी अधिकारी, कर्मचारियों के संगठनों में एक साथ मिलकर सरकार के खिलाफ आंदोलन करने का फैसला किया है। इसी तारतम्य में दिनांक 23 जुलाई दिन गुरुवार को पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह में मंडला जिले के समस्त अधिकारी, कर्मचारी संगठनों की बैठक आहूत की गई है, जिसमें लिपिक संघ के अध्यक्ष के डी दुबे को सर्वसम्मति से अधिकारी-कर्मचारी संयुक्त मोर्चा का जिलाध्यक्ष मनोनीत किया गया। ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष दिलीप मरावी को सर्वसम्मति से सचिव, पटवारी संघ के अध्यक्ष सोनू मर्सकोले को कोषाध्यक्ष, नगरपालिका कर्मचारी संघ के अध्यक्ष को मीडिया प्रभारी मनोनीत किया गया। साथ ही सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग विजय तेकाम एवं पेंशनर संघ से बी के राय को अधिकारी-कर्मचारी संयुक्त मोर्चा का संरक्षक मनोनीत किया गया। मध्य प्रदेश सरकार में कोरोना की आड़ में राज्य कर्मचारियों के महंगाई-भत्ते, वेतन-वृद्धि में दो वर्षों से रोक लगा रखी है, साथ ही 6 वर्षों से पदोन्नति का मामला भी लटका कर रखा है। जिससे राज्य के सरकारी कर्मचारियों को प्रतिमाह हजारों रुपए का नुकसान हो रहा है, जिसके विरोध में 24 जुलाई को अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा जनप्रतिनिधियों का घेराव कर ज्ञापन सौंपा जाएगा।।



                                        नैनपुर से राजा विश्वकर्मा की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment