अगस्त में आ सकती है कोविड-19 की तीसरी लहर, लापरवाही पडे़गी भारी: ICMR - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, July 16, 2021

अगस्त में आ सकती है कोविड-19 की तीसरी लहर, लापरवाही पडे़गी भारी: ICMR



भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अब कमजोर हो गई है। लेकिन अब देश में कोविड-19 की तीसरी लहर का अंदेशा जताया जा रहा है। यह भी आशंका जताई जा रही है कि कोविड-19 की तीसरी लहर का असर देश में आई दूसरी लहर से कम होगा। जानकारी के अनुसार, अगस्त के महीने में तीसरी लहर के आने की उम्मीद है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) डिवीजन ऑफ एपिडिमियोलॉजी एंड कम्युनिकेबल डिजीजेज के प्रमुख डॉ. समीरन पांडा ने एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर देशव्यापी होगी। हालांकि, इसका यह मतलब नहीं कि यह दूसरी लहर की तरह भयावह और तेजी से फैलने वाली होगी।इसके अलावा उन्होंने कहा कि चार कारकों के बारे में भी बताया।

पहला कारक:- कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर में हासिल की गई इम्युनिटी का कम होना है। यदि ये नीचे जाती है तो कोविड-19 की देश में तीसरी लहर आ सकती है।


दूसरा कारक:- अभी तक हासिल की गई इम्युनिटी पर कोविड-19 का नया वेरिएंट बढ़त बना सकता है।


तीसरा कारक:- यदि कोविड-19 का तीसरा नया वेरिएंट इम्युनिटी को पार नहीं कर पाता है। तो इसकी प्रकृति तेजी से फैलने वाली हो सकती है।


चौथा कारक:- राज्यों के द्वारा जल्दीबाजी में प्रतिबंध हटाने की वजह से नए मामलों में तेजी आने की उम्मीद है।


इंटरव्यू के दौरान जब डॉ. समीरन पांडा से पूछा गया कि कोरोना का ये वेरिएंट क्या डेल्टा प्लस हो सकता है। इस पर उन्होंने बताया कि उन्होंने कोविड-19 के दोनों ही वेरिएंट डेल्टा और डेल्टा प्लस देश में फैले हुए हैं। उन्हें डेल्टा वेरिएंट से किसी और सार्वजनिक स्वास्थ्य के कहर की उम्मीद नहीं है।

No comments:

Post a Comment