प्रेमी के साथ मिलकर की पति की हत्या,फिर गूगल से पूछा- 'लाश ठिकाने कैसे लगाए' - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, June 20, 2021

प्रेमी के साथ मिलकर की पति की हत्या,फिर गूगल से पूछा- 'लाश ठिकाने कैसे लगाए'



भोपाल। मध्य प्रदेश के हरदा (Harda) जिले में प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने पति की हत्या (Husband murder) कर दी। पति की हत्या के पत्नी ने गूगल पर सर्च करना शुरू कर दिया कि लाश को ठिकाने कैसे लगाएं। पति की हत्या की आरोपी पत्नी का नाम तबस्सुम और उसके प्रेमी इरफान है, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि मृतक का दोस्त ही उसकी पत्नी का प्रेमी बन गया और इस पूरी साजिश को अंजाम दिया। हरदा का एसपी मनीष कुमार अग्रवाल ने बताया है कि मामला कल खेड़ीपुरा नई आबादी क्षेत्र का है। जहां 18 मई को आमिर की हत्या हुई थी। इस घटना का खुलासा पुलिस ने 36 घंटों में ही कर दिया है।

पुलिस ने मामले की जांच जब शुरू की तो उसे हत्या का खुलासा करने में ज्यादा समय नहीं लगा। आमिर की हत्या और पत्नी तबस्सुम और उसके प्रेमी इरफ़ान ने ही मिलकर की थी। पुलिस ने आरोपी के खून से सने हुए कपड़े, हत्या में इस्तेमाल हुई हथौड़ी, मोबाइल फ़ोन और मृतक का हाथ पैर बांधने के लिए इस्तेमाल दुपट्टा जब्त कर लिया है। इरफान को लेकर पुलिस ने बताया है कि वो हरदा नगर पालिका में राजस्व विभाग में तैनात है। दोनों ही आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

आमिर की हत्या की वजह लॉकडाउन बना। दरअसल, तबस्सुम और इरफान के प्रेम प्रसंग चल रहा था और लॉकडाउन की वजह से वो दोनों मिल नहीं पा रहे थे, जिससे परेशान होकर उन्होंने आमिर की हत्या की साजिश रची। आमिर को उसकी पत्नी ने 18 जून की रात को नशे की गोली दे दी, जिसके बाद आमिर को होश नहीं रहा। इसके बाद इरफ़ान और तबस्सुम ने आमिर के हाथ-पैर दुपट्टे से बांधे और सिर पर ताबड़तोड़ तब तक वार किये जब तक उनकी मौत नहीं हो गई।


शुरुआती जांच में पुलिस का लगा कि आमिर की हत्या चोरों ने की है लेकिन जब तबस्सुम कॉल डिटेल देखी तो सामने आया कि वो इरफान से काफी बात करती थी। वहीं मोबाइल की सर्च हिस्ट्री में पुलिस ने पाया कि तबस्सुम ने गूगल पर सर्च किया था कि हत्या के बाद लाश को कैसे ठिकाने लगाएं। इसके बाद ही मामले का खुलासा हो गया और पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

No comments:

Post a Comment