फिर हुई आसमान से आफत की बारिश में,मूंग उड़द की फसलों को किया नुकसान - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Friday, June 4, 2021

फिर हुई आसमान से आफत की बारिश में,मूंग उड़द की फसलों को किया नुकसान

 





रेवांचल टाइम्स - लगभग आधा घंटे हुई जोरदार बारिश और तेज हवाओं ने मूंग ओर उड़द फसलों को फिर से नुकसान पहुंचाया


. दिन को हुई जोरदार बारिश एवं तेज हवाओं ने एक बार फिर से लोगो को परेशान कर दिया। लगभग आधा घंटे हुई जोरदार बारिश और तेज हवाओं ने फसलों को फिर से नुकसान पहुंचाया। इस बारिश ने उन फसलों को नुकसान बताया जा रहा है जो पकने पर आ गई है। इस बार किसान मौसम का मिजाज समझ नहीं पा रहे है।



इस बार मौसम ने किसानों को खासा परेशान कर दिया है। लगातार बदल रहे मौसम के बाद किसान समझ नहीं पा रहे है आखिर अगले पल क्या होने वाला है। शुक्रवार को दिन में आसमान साफ रहा और धूप खिली रही।  मौसम पूरी तरह से साफ था। दिन में 1 बजे के लगभग अचानक से बदले मौसम के बाद जोरदार गरज और हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई। अचानक से बदले मौसम को देखकर लोग समझ नहीं पा रहे थे कि आखिर यह हो क्या रहा है। इस बारिश ने किसानों को फिर से परेशान कर दिया। तेजी से गरज रहे बादलों के बाद किसानों के मन में हर पल सही चिंता सता रही थी कि कहीं ओलावृष्टि न हो जाए। लगभग आधा घंटे हुई इस बारिश से फसलों को नुकसान बताया जा रहा है।


इन फसलों को ज्यादा नुकसान: इस बारिश एवं हवाओं से सबसे ज्यादा नुकसान मूंग ओर उड़द की फसल को बताया जा रहा है। विदित हो कि अब क्षेत्र में लगभग 70 फीसदी फसलें पकने पर आ गई है। मूंग ओर उड़द पूरी तरह तैयार हो चुकी है और कुछ किसानों की तो आधी से अधिक फसल पक चुकी है।


 हर जगह हुई बारिश: शुक्रवार की रात्रि जिले के अनेक हिस्सों में बारिश होने की सूचनाएं मिल रही है। ऐसे में जिले भर के किसान परेशान बने हुए है। इस बार का मौसम लोगों की समझ से परे बना हुआ है। किसानों का कहना है कि उन्होंने पहले कभी ऐसा मौसम नहीं देखा। अब किसान भगवान से यह प्रार्थना कर रहे है कि एक पखवाड़ा मौसम साफ रहे और वह अपनी फसल को खेतों से निकाल लें।


 नैनपुर से राजा विश्वकर्मा की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment