नशीली दवाओं के कारोबारी श्याम मूंदड़ा को 30 जून तक जेल भेजा। अभी दो और मुकदमों में गिरफ्तारी होगी। - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Thursday, June 17, 2021

नशीली दवाओं के कारोबारी श्याम मूंदड़ा को 30 जून तक जेल भेजा। अभी दो और मुकदमों में गिरफ्तारी होगी।



रेवांचल टाइम्स  - पुलिस का फोकस अब कमलजीत मौर्य को पकडऩे पर है।अजमेर में नशीली दवाओं के प्रमुख कारोबारी श्याम मूंदड़ा और उसके सहयोगी शेख साजिद को 17 जून को आगामी 30 जून तक के लिए न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया है। सात दिन का रिमांड समाप्त होने पर मूंदड़ा और साजिद को 17 जून को अजमेर की अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संख्या-5 हीना परिहार की अदालत में पेश किया गया। पुलिस ने अदालत को अब तक के अनुसंधान के बारे में बताया और आगे रिमांड की आवश्यकता नहीं बताई। ऐसे में अदालत ने मूंदड़ा और साजिद को 30 जून तक के लिए जेल भेज दिया। वहीं अनुसंधान अधिकारी और अजमेर के दक्षिण डीएसपी मुकेश सोनी ने बताया कि मई माह में ट्रांसपोर्ट नगर से जो साढ़े पांच करोड़ रुपए की नशीली दवाएं जब्त की थी,उस मुकदमे में मूंदड़ा को गिरफ्तार किया गया था। इस मुकदमे में जांच का काम पूरा हो गया है इसलिए अब रिमांड की जरूरत नहीं है। लेकिन मूंदड़ा के विरुद्ध दो अन्य मुकदमे दर्ज है। कोई सवा पांच करोड़ रुपए की नशीली दवाएं अजमेर के धोला भाटा और रामगंज क्षेत्रों से भी जब्त की गई थी। इन दोनों मुकदमों में अभी मूंदड़ा से पूछताछ की जानी है। चूंकि नशीली दवाओं के कारोबार में नागौर के मेड़ता निवासी कमलजीत मौर्य की भूमिका है, इसलिए अब पुलिस का फोकस मौर्य को तलाशने पर है। मौर्य की गिरफ्तारी के बाद ही पता चलेगा कि जो नशीली दवाएं उत्तराखंड की हिमालय मेडिटेक कंपनी से मंगवाई जाती थी उनकी बिक्री राजस्थान अथवा राजस्थान के बाहर कहां कहां की जाती थी? सोनी ने बताया कि नशीली दवाओं इन प्रकरणों में जब भी आवश्यकता होगी, तब मूंदड़ा को अजमेर की सेंट्रल जेल से गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 17 जून को अदालत में मूंदड़ा की ओर से कोई वकील उपस्थित नहीं रहा। अलबत्ता सरकार की ओर से गंगाराम रावत ने उपस्थिति दर्ज करवाई।

No comments:

Post a Comment