जिले को जैविक खेती प्रोत्साहन, पशुधन बीमा में अच्छी उपलब्धि...और इन अन्य कार्यों के लिए मिली बधाई - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, May 31, 2021

जिले को जैविक खेती प्रोत्साहन, पशुधन बीमा में अच्छी उपलब्धि...और इन अन्य कार्यों के लिए मिली बधाई





जिले को जैविक खेती प्रोत्साहन, पशुधन बीमा में अच्छी उपलब्धि तथा प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए मिली बधाई

कृषि उत्पादन आयुक्त की बैठक में हुई विस्तृत समीक्षा




मण्डला 31 मई 2021

31 मई को कृषि उत्पादन आयुक्त की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कृषि उत्पादन आयुक्त एवं संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास द्वारा वी.सी. के माध्यम से रबी वर्ष 2020-21 एवं खरीफ 2021-22 की तैयारियों की विस्तृत समीक्षा की गई। जिला मुख्यालय के एनआईसी कक्ष में कलेक्टर हर्षिका सिंह, उपसंचालक कृषि एसएस मरावी तथा संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। कृषि उत्पादन आयुक्त ने रबी वर्ष 2020 में बोई जाने वाली सभी फसलों के क्षेत्राच्छादन, उत्पादन एवं उत्पादकता पर संतुष्टि व्यक्त की। इसी प्रकार आगामी रबी वर्ष में सरसों की उत्पादकता बढ़ाने के निर्देश दिए। जिस पर कलेक्टर हर्षिका सिंह द्वारा मंडला में विशेष अभियान के तहत सरसों के उत्पादन को बढ़ावा देने की बात कही है। कृषि उत्पादन आयुक्त द्वारा जिले में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए किए गए कार्यों की समीक्षा की गई। उन्होंने जिले में जैविक खेती को बढ़ावा देने एवं जैविक उत्पादों को अन्य प्रदेशों में पहचान दिलाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के लिए कलेक्टर हर्षिका सिंह, जिला प्रशासन एवं कृषि विभाग को बधाई दी। उन्होंने कलेक्टर से जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी भी ली। इसी प्रकार एपीसी श्री केके सिंह ने जिले को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना तथा पशुधन बीमा में लक्ष्य से अधिक उपलब्धि हासिल करने पर बधाई दी। बैठक में जिले में खरीफ वर्ष 2021-22 के संबंध में धान के क्षेत्राच्छादन को बढ़ाने की जानकारी दी गई। कृषि उत्पादन आयुक्त ने अच्छी गुणवत्ता के धान की किस्मों को लगाने की बात कही। उन्होंने खाद की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने तथा सप्लाई चैन को अबाधित रखने के निर्देश दिए।

कलेक्टर हर्षिका सिंह ने जिले में कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे विभिन्न कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वर्ष जिला मंडला में खरीफ वर्ष 2020-21 में कोविड-19 महामारी के दौरान जिला पंचायत से मनरेगा एवं कृषि विभाग द्वारा संयुक्त रूप से कन्वर्जेंस के माध्यम से नवाचार के रूप में मेड़ों पर अरहर लगाने का कार्यक्रम 2487 हे. रकबा में लिया गया। कलेक्टर ने जानकारी दी कि जिले की औसत उत्पादकता 1004 कि.ग्रा. प्रति हे. की दर से लगभग 2497 टन अरहर का उत्पादन कर 3118 कृषकों द्वारा औसत 4000 रू. प्रति कृषक अतिरिक्त आय की वृद्धि हुई है। इसी प्रकार आगामी खरीफ वर्ष 2021 में नये मेड़ बंधान पर अरहर एवं उड़द का कार्यक्रम कृषि विभाग एवं मनरेगा के माध्यम से किया जायेगा। बैठक में मंडला जिले के लिए एक जिला एक उत्पाद के अंतर्गत चयनित फसल कोदो कुटकी के बारे में जानकारी दी गई। इसी प्रकार कोदो-कुटकी की फसल के लिए सम्पूर्ण पैकेज एवं प्रेक्टिस के आधार पर कार्यक्रम बनाकर कोदो-कुटकी का रकबा उत्पादन एवं उत्पादकता बढ़ाने के बारे में बताया गया। बैठक में संचालक किसान कल्याण तथा कषि विकास म.प्र. भोपाल श्रीमति प्रीति मैथिल द्वारा मंडला जिले में यूरिया भंडारण हेतु रेक प्वाईट से उपलब्धता के संबंध में चर्चा की गई। इसी प्रकार कृषि विज्ञान के माध्यम से सिंगल सुपर फास्फेट को बढ़ावा देने के निर्देश दिये गये। बैठक में उद्यानिकी, पशुपालन, सहकारिता विभागों की भी विस्तृत समीक्षा की गई।

No comments:

Post a Comment