अनुविभाग स्तर पर शुरू करें कंट्रोल रूम, घुघरी, निवास और बिछिया में शुरू करें कोविड केयर सेंटर - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, April 12, 2021

अनुविभाग स्तर पर शुरू करें कंट्रोल रूम, घुघरी, निवास और बिछिया में शुरू करें कोविड केयर सेंटर






कोरोना समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने दिए विस्तृत निर्देश




मण्डला 12 अप्रैल 2021

कलेक्टर हर्षिका सिंह ने जिले में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की विस्तृत बैठक ली। बैठक में उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के लिए सभी को प्रभावी इंतजाम सुनिश्चित करने होंगे। उन्होंने कहा कि अनुविभागीय स्तर पर ही लोगों की समस्याओं के समाधान समाधान के लिए कंट्रोल रूम बनाया जाए। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि इन कंट्रोल रूम में ड्यूटी निर्धारित करें एवं सभी जरूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए अपने स्तर पर संबंधित क्षेत्र की समस्याओं को लेकर उसका प्राथमिकता के साथ समाधान करें। श्रीमती सिंह ने घुघरी, निवास और बिछिया में कोविड केयर सेंटर बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने एसी ट्राइबल को कोविड केयर सेंटर के लिए जरूरी आधारभूत संरचना एवं अन्य व्यवस्थाओ के संबंध में विस्तृत निर्देश दिए। उन्होंने कार्यपालन यंत्री पीएचई विभाग को इन कोविड केयर सेंटरो में पानी की लगातार जिला आपूर्ति अधिकारी श्री पांडे को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटर में खाना, जरूरी दवाइयां एवं अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने जिला आपूर्ति अधिकारी श्री पांडे को कोविड केयर सेंटरों में गुणवत्तापूर्ण पौष्टिक खाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला पंचायत सीईओ एवं एडीएम को इन कोविड केयर सेंटरों में सभी व्यवस्थाओं की सतत निगरानी करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला आबकारी अधिकारी को निर्देशित किया कि जिला मुख्यालय के कंट्रोल रूम में सभी महत्वपूर्ण फोन नंबर एवं दूरभाष नंबर उपलब्ध रहे। जिले के किसी भी क्षेत्र से प्राप्त होने वाली समस्याओं को रजिस्टर में संधारित करते हुए संबंधित विभाग के साथ संबंध में करें एवं समस्या का निराकरण करें। श्रीमती सिंह ने कोविड टेस्टिंग और सैंपलिंग पर चर्चा करते हुए कहा कि टेस्टिंग लगातार बढ़ाए एवं लक्ष्य के अनुरूप टेस्टिंग करें। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्ति जिनका सैम्पल लिया गया है वे रिपोर्ट आने तक होम क्वारेंनटाइन में रहेंगे। उन्होंने जिले में टेस्टिंग किट की उपलब्धता के संबंध में भी सीएमएचओ डॉ सिंह से जानकारी ली। कलेक्टर ने टीका उत्सव की समीक्षा करते हुए कोविड वैक्सीनेशन का प्रतिशत लगातार बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कोविड वेक्सीनेशन में कम प्रगति दर्शाने वाले विकासखंडों के सीईओ जनपद एवं संबंधित बीएमओ से जवाब मांगे। श्रीमती सिंह ने आदिवासी विकास के सहायक आयुक्त को बैगा क्षेत्र में बैगाओं के स्वास्थ्य की जांच के लिए समुचित इंतजाम करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में सैंपलिंग की जाए। कलेक्टर ने सहायक आयुक्त को निर्देशित किया कि आदिवासी संगठनों के प्रतिनिधियों से बात करें तथा ऐसे क्षेत्रों में टीकाकरण के प्रतिशत को बढ़ाने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों का सहयोग लें।



बाहर से आने वाले प्रवासियों का डाटा संधारित करें



कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि जिले में अन्य जिलों एवं बाहर के राज्यों से लोगों का आना शुरू हुआ है। ऐसे में जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग उनके स्वास्थ्य परीक्षण एवं अन्य समुचित इंतज़ाम करे। उन्होंने सीईओ जनपद पंचायत को निर्देशित किया कि उनके क्षेत्र में बाहर से आने वाले प्रवासियों का स्वास्थ्य परीक्षण सुनिश्चित कराएं। उन्होंने सभी एसडीएम से पंचायतवार जानकारी संधारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रवासियों के लिए पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों का रवैया संवेदनशील रहना चाहिए। प्रवासियों को किसी भी प्रकार की समस्या ना होने पाए।

कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड वेक्सीनेशन एवं कोरोनावायरस से जागरूकता के लिए मुनादी कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समय-समय पर निःशुल्क मॉस्क बांटे, साप्ताहिक हाट बाजार प्रतिबंधित रहे। उन्होंने मवई क्षेत्र में छत्तीसगढ़ से आने वाले लोगों को चिन्हित करने के निर्देश दिए तथा उन्हें रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने की बात कही। श्रीमती सिंह ने आरटीओ को सभी एसडीएम को दो-दो गाड़ियां उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आरटीओ गाड़ियां उपलब्ध कराकर एसडीएम को सौंपे। इसी प्रकार आरटीओ जिले में प्रवेश करने वाली बसों के सैनिटाइजेशन व्यवस्था सुनिश्चित कराएं, साथ ही प्रत्येक बसों में थर्मल स्क्रीनिंग एवं मॉस्क के उपयोग का कड़ाई से पालन कराएं। श्रीमती सिंह ने एपिडेमियोलॉजिस्ट श्री वर्मा से संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों की कांटेक्ट ट्रेसिंग, कंटेनमेंट क्षेत्र एवं अन्य व्यवस्थाओं की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि एसडीएम मंडला बम्हनी क्षेत्र में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण की स्थिति की जानकारी निकालें। इसी प्रकार उन्होंने शिक्षा विभाग को निर्देशित किया कि आगामी दिनों में आयोजित की जाने वाली परीक्षा के दौरान विशेष सावधानी रखें। विद्यार्थियों को पेपर, परीक्षा केंद्र से देने एवं लौटाने के समय में कोरोना नियंत्रण के लिए सभी जरूरी सुनिश्चित करें। उन्होंने डीपीसी को ग्रामीण क्षेत्रों में आयुष्मान कार्ड बनाने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस समय लोगों की चिकित्सकीय मदद के लिए आयुष्मान कार्ड अत्यंत उपयोगी हैं। अतः आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए स्थानीय लोगों से संपर्क करें, उन्हें प्रोत्साहित करें। कलेक्टर ने एडीएम, जिला पंचायत सीईओ एवं सीएमएचओ को निर्देशित किया कि जिला मुख्यालय में कोविड टीकाकरण के लिए अन्य स्थानों को भी तलाशे ताकि वर्तमान में चल रहे टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ कम से कम किया जा सके। उन्होंने समस्त एसडीएम को निर्देशित किया कि आगामी आदेश तक राजस्व न्यायालय बंद रहेंगे। उन्होंने एसडीएम निवास को निर्देशित किया कि मनेरी औद्योगिक क्षेत्र में औद्योगिक कार्य निर्बाध गति से संचालित रहे। उद्योग क्षेत्र में श्रमिकों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण करें तथा किसी भी प्रकार के संक्रमण की सूचना मिलने पर तत्काल संबंधित विभागों के साथ समन्वय कर उनका स्वास्थ्य परीक्षण एवं अन्य जरूरी कार्यवाही सुनिश्चित करें।

No comments:

Post a Comment