नैनपुर में बेखौफ फल फूल रहा सट्टे का व्यापार.....जिम्मेदार कौन ? - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, March 29, 2021

नैनपुर में बेखौफ फल फूल रहा सट्टे का व्यापार.....जिम्मेदार कौन ?



रेवांचल टाइम्स नैनपुर शहर और ग्रामीण अंचलों में सट्टे का कारोबार दिन-प्रतिदिन पैर पसार रहा है। इस पर लगाम लगाने पुलिस तो है लेकिन ना जाने क्यों नाकाम नजर आती है। जिससे शहर के युवा भी इस नशे की गिरफ्त में फंसकर बर्बाद हो रहे हैं। 

जानकार लोगों नें बताया कि नैनपुर सहित आसपास के गांवों में भी खुलेआम चल रहे सट्टे पर पुलिस की कार्रवाई न होने के कारण खाईवालों के हौसले बुलंद है। लोगों का आरोप है कि इस काले गोरखधधे के कारण शहर का माहौल बिल्कुल खराब हो चुका है। कई बार स्थानीय पुलिस में भी शिकायत दी गई है, लेकिन पुलिस प्रशासन द्वारा इस दिशा में अब तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। लोगों का तो यहां तक कहना है कि पुलिस की निष्क्रियता से शहर में चल रहे सट्टे के कारोबार से युवा वर्ग अपराध की दुनिया में अपने पैर पसार रहा है। सट्टे की लत के कारण शहर व आस पास के क्षेत्र में चोरी,लूट, जैसी आपराधिक घटनाएं भी बढ़ती जा रही है।


नैनपुर में, चौक चौराहों पर खुलेआम सट्टा पट्टी  लिखते लिखाते देखा जा सकता है। जैसे निवारी चौक में बिजली ऑफिस के सामने, सिवनी फाटक सुजीत लॉज के सामने, बुधवारी बाजार  के कुछ मुख्य पान ठेलों में, नगर के मुख्य बांसुरी वादन चौराहे के सामने पान ठेलों में, उमरिया वार्ड नंबर 4 में, वार्ड नंबर 1 में, वार्ड नंबर 7 में, जैसे मुख्य जगहों पर  बेखौफ होकर सट्टा पट्टी काटते देखा जा सकता है इसे देखकर तो यही लगता है कि कानून नाम की कोई चीज है ही नहीं,इन्हें कानून का डर है ही नहीं और कानून के रखवाले कानून की देवी की तरह आँखों में पट्टी बांधे हुए हैं। जानकार लोगों का तो साफ तौर से कहना है कि बगैर पुलिस की मिलीभगत से कोई कैसे किसी अवैध गोरखधंधे को बेख़ौफ़ संचालित कर सकता है जरूर पुलिस की मिलीभगत से ही यह गोरख धंधा फल-फूल रहा है।


सट्टे की लत भी किसी नशे से कम नहीं है यह अवैध व्यापार बड़े पैमाने पर खुलेआम चल रहा है जिसके चपेट में आज के नव युवा वर्ग भी आ गए हैं। युवाओं को सट्टे के लिये पर आसानी से सट्टा लगाते देखा जा सकता है। सट्टे  का व्यापार युवाओं को भी इसका आदि बना रहा है साथ ही साथ युवाओं का भविष्य खतरे में नजर आता है। लोगों का मानना है कि बगैर पुलिस की शह के यह अवैध सट्टे का व्यापार संचालित नही किया जा सकता, परंतु यह धंधा बेख़ौफ़ फलफूल रहा है जिस पर जल्द अंकुश लगाने की जरूरत है अन्यथा वह दिन दूर नहीं जब स्कूल और कॉलेज के विद्यार्थी इस खेल की गिरफ्त में होंगे।


सट्टा नगर के लिए एक सामाजिक बुराई है किंतु इस सामाजिक बुराई पर अंकुश लगाने पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है लेकिन यहां की पुलिस की लापरवाही से नगर के कुछ मुख्य चौराहों पर खुलेआम सट्टा लगाने वाले लोग  आसानी से दिखाई देते हैं सामाजिक और असामाजिक रसूखदार लोग बेख़ौफ 1 के 9 और 1 के 80 का खेल खेलते है। नगर के खाईवाल रोजाना हजारों और लाखों का हेरफेर करके  मोटी रकम कमाते हैं। लोगों ने बताया कि सट्टे का कारोबार पूरी तरह फैल चुका है। जहां देखो वहीं पर युवा सट्टा खेलते नजर आते हैं। सट्टे के इस अवैध व्यापार से माहौल तो खराब हो ही रहा है, साथ ही युवा वर्ग भी इस धंधे में ज्यादा सक्रिय हो रहा है। बार-बार शिकायत और बार-बार खबर लगाने के बाद भी इस काले धंधे करने वाले लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिसे शहरवासियों एवं ग्रामीणों में आक्रोश पैदा हो रहा है। नगर में खेले जा रहे सट्टे का असर अब छोटे स्कूली बच्चों पर भी पड़ने लगा है। जल्द ही इसे नहीं रोका गया तो वह दिन दूर नहीं जब गांव व शहर में हर कोई सट्टे की गिरफ्त में होगा।


शहर में अनेक ऐसे जगह है जहां पर छोटे पट्टी काटने वाले और खाईवालों द्वारा बस स्टैंड, रेल्वे स्टेशन, निवारी बिजली ऑफिस के सामने,सिवनी फाटक सुजीत लाज के सामने, बुधवारी बाजार में मुख्य पान ठेलों में,वार्ड नंबर 7 में, वार्ड नंबर 4 में,वार्ड नंबर 1में ,वार्ड नंबर 10 में ,वार्ड नंबर 9 में, नगर के मुख्य चौराहे बांसुरी वादन चौक के सामने पान ठेलों  आदि जगहों पर सट्टा पट्टी काटते देखे जा रहे हैं ।

No comments:

Post a Comment