जिले के कड़कना रेत घाट धड़ल्ले से चल रहा है रेत का अवैध उत्खनन कार्य तेज गति से हुआ प्रारंभ - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Friday, March 5, 2021

जिले के कड़कना रेत घाट धड़ल्ले से चल रहा है रेत का अवैध उत्खनन कार्य तेज गति से हुआ प्रारंभ



रेवांचल टाईम्स :-  जिले के किरनापुर तहसील के अंतर्गत ग्राम कड़कना पंचायत के अंतर्गत रेत घाट का बांदा कंपनी के द्वारा कड़कना नदी रेत घाट का ठेका लिया गया था ठेकेदार द्वारा जिस भू राजस्व याने नदी रेत घाट का ठेका दिया गया था उस जगह का रेट ठेकेदार वाला सप्लायर किया जा चुका है किंतु ठेकेदार के द्वारा अधिक पैसा कमाने के लालच में ग्राम कड़कना के कुनबी समाज से सांठगांठ कर ठेकेदार के द्वारा पैसे की लालच देकर 500000 लाख रुपए में कड़कना ग्राम के भूतपूर्व सरपंच ऋषि राज रावते को माध्यम बनाते हुए राशि प्रदान किया गया


क्या उस गांव का ग्राम प्रधान निर्जीव है जो समाज के लोगों के माध्यम से ठेकेदार द्वारा साठ गांठ करवाया गया है जो नियम के विरुद्ध

बता दें कि शासन की संपत्ति को सरपंच या समाज के लोगों को बेचने का अधिकार नहीं है


किंतु ग्राम पंचायत कड़कना के सरपंच एवं कुणबी समाज के लोगों के द्वारा शासन की संपत्ति को बेचने का कार्य किया जा रहा है जो जांच का विषय है


ठेकेदार द्वारा  समाज के अध्यक्षों को खरीदने के बाद कड़कना रेट घाट करने के बाद महाराष्ट्र के गोंदिया जिले में रेत का सप्लायर अधिक रेट किया जा रहा है



ऐसे दबंग ठेकेदार के ऊपर शासन प्रशासन के द्वारा कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है इससे स्पष्ट साबित होता है कि जिला प्रशासन भी ठेकेदार के दबाव में है या जिला प्रशासन को ठेकेदार द्वारा कमीशन दिया जा रहा है


इसके पूर्व अभी रेवांचल टाइम्स के माध्यम से कड़कना रेत घाट के संबंध में शासन प्रशासन को अवगत कराते हुए समाचार प्रकाशित किया गया था किंतु जिला प्रशासन एवं स्थानीय प्रशासन के द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है इस से स्पष्ट साबित होता है कि जिला प्रशासन भी ठेकेदार की मिलीभगत से काम कर रहे हैं


रेवांचल टाइम्स बालाघाट से खेमराज बनाफरे की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment