शराब ठेकेदार कर रहा नैनपुर नगर का माहौल खराब,नहीं रुक रहा वार्ड में शराब का अवैध व्यापार - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, March 29, 2021

शराब ठेकेदार कर रहा नैनपुर नगर का माहौल खराब,नहीं रुक रहा वार्ड में शराब का अवैध व्यापार

 



रेवांचल टाइम्स- नैनपुर तहसील क्षेत्र के ऐसे कई वार्ड और चौराहे है, जहाँ अवैध शराब का काला कारोबार बे-रोकटोक जारी है। क्षेत्र के कई गाँवों की स्थिति यह है कि वार्ड वालों को पानी तलाशने में भले ही भटकना पड़ता हो, पर मदिरा प्रेमियों को वार्ड में बिना मशक्कत किये ही शराब उपलब्ध हो रही है। अवैध रूप से वार्ड में संचालित हो रही अवैध शराब की दुकानों ने वार्ड का माहौल दूषित कर दिया है। क्षेत्र में शराब के कारण दिनों-दिन अपराधों में वृद्धि हो रही है। साथ ही आसानी से शराब उपलब्ध हो जाने से भोले-भाले युवा वर्ग शराब की लत में जकड़ते जा रहे हैं। 


नैनपुर क्षेत्र के गाँव-गाँव,वार्ड और गली-गली में फुटकर ठिये बनाकर अवैध शराब बेची जा रही है।जिससे नैनपुर शहर में कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह्न लग रहा है। गाँव-गाँव व वार्ड में खुलेआम हो रही अवैध शराब की बिक्री से जहाँ वार्ड का माहौल खराब हो रहा है, वहीं युवा पीढ़ी भी नशे की लत की आदी होती जा रही है। जिससे दर्जनों ऐसे परिवार है, जो उजड़ने की कगार पर हैं। ऐसा भी नहीं है कि अवैध शराब के कारोबार की जानकारी जिले के आवकारी विभाग और पुलिस प्रशासन को न हो, किन्तु जानकारी के बाबजूद भी अवैध शराब की बिक्री पर लगाम न लगने से आवकारी और पुलिस विभाग की कार्य प्रणाली सवालों के घेरे में खड़ी होती दिखाई दे रही है।


सूत्रों की मानें तो ऐसे बहुत कम वार्ड होंगे, जहाँ अवैध रूप से शराब की बिक्री नहीं हो रही हो। ऐसा भी नहीं कि आवकारी महकमा इस अवैध कारोबार से अंजान हो, बल्कि जानकारी होते हुए भी विभाग अवैध शराब के कारोबार को अनदेखा कर रहा है। गाँव-गाँव तक शराब पहुँचाने के लिये ठेकेदार द्वारा स्थानीय जिम्मेदारों से साँठ-गाँठ कर जीपों व बाईक से परिवहन किया जा रहा है। उसके बाबजूद भी प्रशासन अवैध शराब का व्यापार करने वालों से दूर है। 


नगर के रेवांचल टाइम्स पत्रकार शालू अली द्वारा इसकी शिकायत मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में भी की गई है लेकिन शिकायत प्रेषित होने के बाद आबकारी विभाग द्वारा केवल खानापूर्ति की गई है।इसी वजह से शराब कारोबारियों के हौंसले बुलंद है और धड़ल्ले से अवैध शराब का कारोबार संचालित हो रहा है। अवैध शराब की बिक्री को रोकने के मामले में सरकारी सिस्टम फेल साबित हो रहा है। अगर हम बात करें नैनपुर थाना क्षेत्र के वार्ड नं 8, वार्ड नंबर 7,वार्ड नंबर 4,वार्ड नंबर 1, वार्ड नंबर 15 राधा कृष्ण मंदिर के सामने, वार्ड नंबर 10, वार्ड नंबर 14, थांवर निवारी चौक, तो यहाँ शराब कारोबारी नियम और कानून को ताँक पर रखकर व्यापार को संचालित कर रहे है। ऐसा ही हाल नैनपुर क्षेत्र के कई गाँवों में किरानों की दुकानों पर भी अवैध शराब आसानी से उपलब्ध हो जायेगी। यही नहीं क्षेत्र के वार्ड नंबर 7 ईटका, वार्ड नंबर 14 कनौजिया टोला,पर खुलेआम अवैध कच्ची शराब बनाने के लिये भट्टियाँ धधक रहीं हैं और क्षेत्र के कई स्थानों पर लोग खुलेआम शराब बेच रहे है, किन्तु उसके बाबजूद भी आवकारी विभाग और पुलिस द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाये जा रहे है। जिससे आये दिन विवाद की स्थिति भी खड़ी हो रही है। क्षेत्रीय लोगों ने कई बार जिला प्रशासन से गाँव में बिक रही अवैध शराब पर पाबंदी लगाने की माँग उठाई है लेकिन आज तक किसी प्रकार की कार्रवाई प्रशासन द्वारा नहीं की गई।


लगभग प्रत्येक वार्ड में अवैध शराब खुलेआम बिकने के कारण युवा नशे की लत में पड़ते जा रहे हैं, और जिम्मेदार हाथ पर हाथ रखे बैठे हुए हैं। क्षेत्र में आए दिन मारपीट के मामले सामने आ रहे हैं,परिवारों में आपसी कलह देखी जा रही है,जिसका मुख्य कारण शराब ही है। जो युवा देश का भविष्य है आज नशे की लत के कारण मदहोशी में पड़ा है और जिम्मेदार बेखबर हैं।


क्षेत्र में खुलेआम अवैध शराब बेची जा रही है विभाग के अधिकारियों को कई बार अवगत करा चुके हैं और कई बार मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में भी शिकायत की गई है इसके बावजूद विभाग के जिम्मेदार कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति करते हैं। अवैध कारोबारियों का गोरखधंधा जैसा चल रहा है इससे यह प्रतीत होता है कि इन्हें किसी की कोई परवाह नहीं है, क्योंकि विभाग के जिम्मेदार भी इस गोरखधंधे में शामिल हैं।


ताजा तरीन समाचार पाने के लिये whatsapp पर हमें ज्वाइन करें


https://chat.whatsapp.com/BS1iRQu49LL8gJ9DQl7bKx

No comments:

Post a Comment