नैनपुर नगर के अंदर ही बने इनडोर स्टेडियम, खिलाड़ियों की मांग - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, February 20, 2021

नैनपुर नगर के अंदर ही बने इनडोर स्टेडियम, खिलाड़ियों की मांग




रेवांचल टाइम्स :- नैनपुर में आज पार्षद से लेकर प्रधानमंत्री तक भाजपा के हैं और जननायक मोदी द्वारा विगत 6 सालों में नयाय एवं कार्य में रुकावट पैदा करने वाले 1600 कानूनों को समाप्त कर दिया गया है और कोरोना काल में भी आगामी 50 वर्षों की जन उपयोगी योजनाओं को क्रियान्वित किया गया है। जिससे कहीं ना कहीं विकास का पहिया दौड़ रहा है। किंतु आदिवासी अंचल में मोदी की इन योजनाओं को पलीता लगाते हुए कानूनों का आड़ लेते हुए नगर को विनाश की ओर धकेला जा रहा है। जबकि मंडला जिले में सौभाग्य से 70 साल बाद राज्यसभा सांसद की उपलब्धि मिली है, लोकसभा में केंद्रीय मंत्री के रूप में जिले के नेता हैं, प्रदेश में विकास की बातें करने वाले मुख्यमंत्री शिवराज है, और क्षेत्र में चार बार के विधायक और पूर्व मंत्री मौजूद है, और नगर में युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत खिलाड़ियों के खिलाड़ी युवा तरुणाई के प्रतीक अध्यक्ष परिषद में है, तो फिर ना जाने क्यों नैनपुर नगर के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है विकास नहीं बल्कि विनाश की ओर नगर को  ढकेला जा रहा है। जनता के पैसों का बंदरबांट किया जा रहा है एवं इन पैसों की होली खेली जा रही है लगातार गुणवत्ता हीन कार्य नगर में चरम सीमा पर है लगातार मनमानी की जा रही है।


लगभग 60 लाख की लागत से शहर में बीचो-बीच नवीन स्कूल परिसर में सबसे उपयुक्त जगह पर बनने वाला इनडोर स्टेडियम ना जाने किन कारणों से शहर से बाहर लगभग तीन-चार किलोमीटर की दूरी पर एकांत में अनादि आश्रम के आगे जहां वर्तमान में असामाजिक तत्वों का आतंक छाया हुआ है। असामाजिक तत्वों द्वारा अनादि आश्रम में लगे हुए झूलों और कुछ जगह पर कीमाच डाली जा रही है और वहां बैठकर दारू पी जाती है और दारू की बोतलें जगाह जगाह फेकी जाती है। जिससे अनादि आश्रम वीरान होता जा रहा है।और यह केवल अय्याशों का अड्डा बनता जा रहा है। अनादि पार्क में 5 से 10 साल के बच्चे बच्चियों को जहां जाने आने में परेशानी हो रही है वहां इनडोर स्टेडियम क्या सुरक्षित रहेगा या फिर वहां के भी खिड़की दरवाजे पंखे सब चोरी हो जाएंगे और वह 1 साल बाद खंडहर के रूप में तब्दील हो जाएगा और शराबियों का अड्डा बन जाएगा क्या यह 60 लाख की होली खेलकर बंदरबांट करने का जुगाड़ तो नहीं।


आखिर क्यों इस तरह का विनाश कार्य हमारे नगर के साथ हो रहा है इंडोर स्टेडियम के विषय में नगर परिषद में बैठे अध्यक्ष ने प्रस्ताव रखा था लेकिन उनका यह प्रस्ताव नहीं सुना गया। कलेक्टर और मुख्य नगरपालिका अधिकारी यदि चाहे तो आसानी से इंडोर स्टेडियम नवीन स्कूल परिसर में बनाया जा सकता है और नगर के युवाओं को एक बड़ी सौगात मिल सकती है। जिसमें शायद ही किसी प्रकार की परेशानी हो क्योंकि पार्षद से लेकर प्रधानमंत्री तक भाजपा के मौजूद है। तो फिर विघ्न पैदा होने का तो सवाल ही नहीं उठता। हमारे नगर में प्रतिभाओं की कमी नहीं है लेकिन उन्हें उभरने का मौका नहीं मिलता हमारे नगर से बड़े बड़े खिलाड़ी जैसे हॉकी के मास्टर मुस्ताक खान ने नैनपुर नगर का नाम स्टेट लेवल तक गौरवान्वित किया है आज यदि नगर के युवाओं को अपनी प्रतिभा उभारने का मौका मिलेगा तो निश्चित ही वह भी नगर का नाम गौरवान्वित करेंगे नगर के बीचो बीच रेलवे का एक ऐतिहासिक जीआरसी ग्राउंड है जिसमें लंबे अरसे से किसी प्रकार की प्रतियोगिता का आयोजन नहीं किया जा रहा था लेकिन नगर के कुछ गणमान्य लोगों द्वारा नगर में नैनपुर प्रीमीयर लीग की शुरुआत की गई जिसमें नगर रेलवे के ए ई एन अनादि मित्तल, डॉ रवि तेजा,  किशोर समुंद्रे, इनका सहयोग प्राप्त हुआ और प्रतियोगिताओं की शुरुआत हुई और काफी लंबे अरसे से दबी हुई प्रतिभाएं उभर कर सामने आई जिसमें नगर के कम उम्र के युवाओं का जोश ज्यादा दिखाई दिया वही साथ में सीनियर खिलाड़ियों को भी  वापसी करने का मौका मिला। यदि आज हमारे नगर में इनडोर स्टेडियम नवीन स्कूल परिसर में बनाया जाए तो यहां हर प्रकार की प्रतियोगिताएं होती रहेंगी जिससे नगर के लोग उत्साहित होकर प्रतिभाओं में भाग लेंगे और उन की प्रतिभा को देखते हुए आगे तक बढ़ने का मौका मिलेगा और स्टेट में इनकी प्रतिभा से नैनपुर नगर का नाम गौरवान्वित होगा। नैनपुर नगर के लोगों का कहना है कि इंडोर स्टेडियम अनादि में ना बनाकर नवीन स्कूल परिसर में ही बनाया जाए ताकि यह लंबे समय तक सुरक्षित रहें और इसकी देखरेख समय-समय पर होती रहे और खिलाड़ियों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

No comments:

Post a Comment