जागृति युवा संस्थान जामगाॅव के द्वारा ग्रामीण अंचलों किया जा रहा जागरूकता काय॔क्रम - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, January 10, 2021

जागृति युवा संस्थान जामगाॅव के द्वारा ग्रामीण अंचलों किया जा रहा जागरूकता काय॔क्रम


रेवांचल टाइम्स - समाज मैं तम्बाकू सेवन की  बढ़ती चलन  एवं शारीरिक संरचनाओ पर बढ़ने वाले दुष्परिणामो की रोकथाम को लेकर जिले की स्वैच्छिक समाज सेवी संस्था " जागृति युवा संस्थान" जामगाॅव मण्ड़ला के वरिष्ठ पदाधिकारियों एवं मध्यप्रदेश शासन से प्रशिक्षित विषय विशेषज्ञों के द्वारा मण्ड़ला जिले के ग्रामीण अंचलों मैं इन दिनों गाँव गाँव जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जिसमें उपस्थित ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों,  युवा मण्ड़ल , महिला मण्डलो,  स्व सहायता समूहों के महिला- पुरूषो को गत दिनों संस्थान के अध्यक्ष श्री सुखदेव सिंह ठाकुर ने संबोधित करते हुए बताया कि मानव शरीर विभाग संरचनाओ,  कोशिकाओं से बना हुआ है और इसमें जहर रूपी तम्बाकू जो कि निकोटिन नामक नशीले पदार्थों से बना हुआ है जिसे हम बिना सोचे समझे आसानी के साथ उपयोग कर रहे यही तम्बाकू  हमारे शारीरिक कोशिकाओं को कैन्सर रूपी महामारी मैं परिणित कर देता है । तम्बाकू सेवन का मतलब हुआ हम मृत्यु को अपने पास बुला रहे हैं । जो जहर खाने से हमारी शारीरिक संरचनाओ पर बुरा प्रभाव पड़ता हो उसे जीवन पर्यन्त कभी नहीं खाना चाहिए । ग्रामीण अंचलों इसका प्रचलन बड़ी मात्रा मैं दिखाई दे रहा है हर घरों मैं तम्बाकू सेवन के आदि लोग मिल जायेगे । तम्बाकू सेवन से पूरा शरीर खोखला हो रहा है और केन्सर रूपी महामारी को हम लगातार आमंत्रित कर मृत्यु के गर्त मैं समाहित कर रहे हैं । 

    विषय विशेषज्ञ संत कुमार ठाकुर ने सभी स्थानों मैं आयोजित नशा मुक्ति जागरूकता अभियान मैं उपस्थित जनसमुदाय को बताया कि समाज मैं तम्बाकू का सेवन बहुत ज्यादा बढ रहा है,  अगर समय रहते सजग  और जागरूक नहीं हुए तो बहुत जल्द प्रत्येक घरों मैं एक केन्सर के गम्भीर रोक से ग्रसित व्यक्ति नजर आयेगा । दुनिया मैं सब बीमारियों का इलाज है किन्तु केन्सर जैसी जानलेवा गम्भीर बीमारी  का समुचित इलाज कहीं पर भी नहीं है । इसमें आर्थिक,  शारीरिक  एवं मानसिक के साथ पारिवारिक दुष्परिणाम भी दिखाई देता है । 

तम्बाकू सेवन के बाद शारीरिक कोशिकाये सिथिल हो जाती है और रक्त का संचार रूक जाता है जिससे लोगों को अनेको गम्भीर बीमारियों से जूझना पड़ता है । 

    हम  अच्छा अन्न खाईगे तो हमारा शरीर भी हष्ट पुष्ट रहेगा । नशा नाश का जड़ है और इसमें अंततः मौत ही होती है । नशा चाहे जो भी मादक पदार्थ एवं मादक द्रव्यो के सेवन से शरीर दिन प्रति दिन नाजुक होता चला जाता है । इसलिए नशा का पूर्णतः परित्याग करना आज समय की माँग है । जो वस्तु  आसानी से और सस्ती जगह जगह प्राप्त हो रही है वह तम्बाकू  आज हम सभी को अपने ग्रफ्त मैं लेकर मृत्यु की सैया मैं सुलाने को विवश दिखाई दे रही है ।

       विषय विशेषज्ञों मैं प्रशांत कुमार जैन के द्वारा उपस्थित जनसमुदाय  एवं ग्रामीण जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए बताया कि आज ड़िजीटल का जमाना आ गया है और गाँव में वहीं रूढी वादी प्रथा प्रचलित है । बुजुर्ग लोग पहले अकेले रहते थे और टाइम पास के लिए नशा करते थे , किन्तु नशा का बढ़ता ग्राफ  आज समाज और बुद्धि जीवियो को झक झोर कर रहा है । तम्बाकू सेवन से प्रति दिन देश मैं 12000 लोगों की मृत्यु हो रही है । केन्सर का ग्राफ भी बढ़ा हुआ है । बड़े बड़े ड़ाक्टरो की क्लीनिंको मैं नशा से पीड़ित व्यक्तियो की भीड़ लगी है । तम्बाकू के सेवन से नशा आता है और यह निकोटिन नामक जहर शरीर की कोशिकाओं को कमजोर कर देता है । थकान , हाथ पैरों मैं भयानक दर्द  और चक्कर  आना , पैरा लिस , लकुआ जैसे और भी अनगिनत गम्भीर बीमारियों एवं  आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है किन्तु समाज के लोग आज भी जागरूक नहीं हो रहे हैं जिससे इन्हें गम्भीर परिणाम भोगने के लिए तैयार रहना चाहिए । विषय विशेषज्ञ ड़ाॅ खान ने उपस्थित लोगों को बताया कि इस जागरूकता अभियान मैं शासन,  प्रशासन और समाज सेवी संस्था जागृति युवा संस्थान बड़े ही मुस्तेदी के साथ तम्बाकू सेवन से होने वाले गम्भीर बीमारियों एवं दुष्परिणाम को बताने के लिए आपके गाँव,  नगर और शहरों मैं ऐसी जागरूकता संवाद संगोष्ठी आयोजित कर आप लोगों को जागरूक करने का प्रयास कर रहे हैं । अब आप लोगों को अपने घरों मैं रखे नशा रूपी जहर तम्बाकू से बने सभी उत्पादों को बाहर निकालने के लिए आगे आना होगा , और तम्बाकू का पूर्णतः परित्याग करना पड़ेगा तभी सुख चैन की जिन्दगी जी पायेगे नहीं तो इस संसार मैं आने के कोई औचित्य नहीं है । नशा चाहे जो भी हो पहले थोड़ा थोड़ा खाया जाता है जिसे हम खाते हैं और बाद मैं यही नशा हमारे इस सुन्दर शरीर को धीरे धीरे खाना शुरू कर देता है तब तक बहुत देर जाता है । इसी प्रकार यहाँ पर आयोजित सभी नशा मुक्ति जागरूकता काय॔ क्रमो  को जागृति युवा संस्थान के विषय विशेषज्ञों के द्वारा संबोधित करते हुए जनसमुदाय को नशा के सेवन से कैसा दूर रहा जाये और खुसहाल जिन्दगी जीने के वृहद तारीके को पोस्टर प्रदर्शनी  और बैनरो , फोटो ग्राफस , वीडियो के प्रदर्शन के माध्यम से बताया गया और नशा तम्बाकू के सेबन प्रवृत्ति की रोकथाम के लिए गाँव गाँव इसी प्रकार हमैशा जागरूकता गतिविधियों का आयोजन करने की गुहार लगाई गई । आयोजित सभी जागरूकता काय॔ क्रमो मैं ग्रामीणों की बड़ी संख्या देखी गई और सभी ने एक मतेन नशा का परित्याग करने का संकल्प और शपथ ग्रहण किये । बहरहाल जागृति युवा संस्थान का यह तम्बाकू को लेकर चला जागरूकता अभियानों मैं अब विकास खण्ड स्तर पर कार्यालय प्रमुखों और जनप्रतिनिधियों की सारगर्भित उपस्थिति मैं काय॔ शाला , संवाद संगोष्ठी और जागरूकता काय॔ क्रम आयोजित किया जायेगा जिसमें वरिष्ठ अधिकारियों का मार्ग दर्शन प्राप्त कर जिलों को तम्बाकू सेवन से मुक्त करने की रणनीति तैयार की जायेगी ।

1 comment:

  1. महोदय जी तम्बाकू ही बंद करवाईयै सराहनीय कार्य 🙏🙏🙏🙏

    ReplyDelete