धड़ल्ले से खुलेआम हो रहा है अवैध रेत का उत्तखन्न परिहन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, January 19, 2021

धड़ल्ले से खुलेआम हो रहा है अवैध रेत का उत्तखन्न परिहन




रेवांचल टाईम्स :- नैनपुर. इन दिनों क्षेत्र की सभी नदियों में अवैध रेत उत्खनन वा परिवहन का कार्य जोरों पर है। इस धंधे में क्षेत्र के अनेक लोग धड़ल्ले से इस कारोबार को अंजाम दे रहे हैं। वहीं प्रशासन भी कार्रवाई के नाम पर छोटी मछलियों पर हाथ डालकर बड़ों को तथाकथित संरक्षण दे रही है। 

इन दिनों  नैनपुर  नगर की सीमा से लगे हुए एक दूसरे जिले  बालाघाट के क्षेत्र लामता की ओर से अधिक मात्रा में रेत लगातार आ रही है क्षेत्र से बहने वाली नदी में लगभग हर स्थानों पर रेत की निकासी धड़ल्ले से हो रही है परंतु क्षेत्रवासियों को अब भी महंगे दामों पर रेत उपलब्ध हो रही है जबकि रेत माफियाओं के द्वारा रायल्टी अथवा कोई भी शुल्क भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस संदर्भ में नगर के नागरिकों ने बताया कि उनके यहां मकान निर्माण का काम बीते कुछ दिनों से जारी था परंतु लॉकडाउन व रेत के महंगे दामों के कारण मकान का काम अधूरा था परंतु आगे मानसून को देखते हुए मजबूरी में 1500 रूपए से मिलने वाली रेत के लिए 3 से 5 हजार रूपए तक भुगतान करना पड़ रहा है।


स्थानीय प्रशासन के द्वारा इन अवैध रेत खदानों पर अक्सर दबिश दी जाती है परंतु कार्रवाई के आंकड़े कुछ और ही कहते हैं। रेत माफियाओं पर किसी प्रकार का शिकंजा प्रशासन द्वारा कसता नजर नहीं आ रहा और लगातार रेत उत्खनन का कार्य बेधड़क चल रहा है लगातार नगर में अधिक मात्रा में 709 एवं डंफरों की सहायता से रेत नगर में पहुंच रही है एवं अधिक दामों में लोगों को पहुंचा कर मोटी रकम कमाई जा रही है इस पर शासन प्रशासन के द्वारा किसी भी प्रकार की कार्यवाही होती नजर नहीं आ रही है।


          अधिकतर रेत की गाड़ियां चोरी-छिपे नगर में रात में आती है। नगर की बाईपास सड़कों द्वारा जहां पर रात में सन्नाटा पाया जाता है रेत माफिया के लिए यह सड़क काले कार्यों के लिए सफलतम मार्ग है जिनके द्वारा आसानी से नगर में रेत लाई जा रही है जिसकी खबर प्रशासन को होने के बावजूद भी इन रेत माफियाओं पर किसी प्रकार की कारवाही नहीं की जाती। 


मुंह देखकर होती है कार्रवाई


स्थानीय प्रशासन के द्वारा इन अवैध रेत माफियाओं पर अक्सर दबिश दी जाती है परंतु कार्रवाई के आंकड़े कुछ और कहते हैं जिम्मेदार अधिकारी के द्वारा अवैध रेत निकासी करते वाहनों को पकड़ा तो जाता है। लेकिन इन वाहनों पर ना तो कोई कार्रवाई होती है और ना ही इसकी जानकारी उच्च कार्यालय अथवा मिडिया को ही दी जाती है जबकि बालाघाट जिले के लामता क्षेत्र की ओर से महीनों से लगातार आज दिनांक तक रेत की निकासी कर नदी की दिशा बदली जा रही है और कार्रवाई अब तक शून्य है।


रेत का अवैध कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। सुबह से ही रेत से भरे वाहन नजर आने लगते हैं। पूरे दिन वाहन बाजार से निकलते हैं, कई बार यह इतनी तेज गति से होते हैं, कि जिनसे हादसा भी हो सकता है। बावजूद इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। यह वाहन नगर में जगह जगह रेत की सप्लाई कर रहे हैं। इन दिनों कई जगह रेत के ढेर देखे जा सकते हैं।इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

No comments:

Post a Comment