ईमानदार जनप्रतिनिधि को लोक निर्माण सभापति पद से हटाया गया - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, January 25, 2021

ईमानदार जनप्रतिनिधि को लोक निर्माण सभापति पद से हटाया गया





रेवांचल टाईम्स :- नैनपुर नगर में पिछले कई वर्षों से जनता की निष्पक्ष भाव से सेवा करने, वाले कर्मठ, जुझारू, एवं सभी से मिलनसार जनप्रतिनिधि शंकर सायरानी जिन्होंने नगर के कांग्रेश के महारथी माने जाने वाले  प्रतिनिधि को केवल 1 वोट से शिकस्त दी थी और नगर पालिका चुनाव में अपनी पार्टी के लिए निष्पक्ष एवं निस्वार्थ भाव से कार्य करते हुए पार्टी को सफलता दिलाई थी।


जिनकी निष्पक्ष एवं निस्वार्थ भावना को देखते हुए उन्हें लोक निर्माण विभाग सौंपते हुए लोक निर्माण सभापति बनाया गया था। जिन्होंने बखूबी अपने पद का इस्तेमाल करते हुए नगर में निर्माण की एक अच्छी रूपरेखा बनाई और नगर निर्माण में एवं नगर हित के लिए अपना विशेष योगदान दिया 

लेकिन वह कहते हैं न कि धर्म करने वाले को हमेशा धक्का खाना पड़ता है यह कहावत आज नैनपुर नगर में सत्य होती दिखाई दे रही है।

नगर के लोक निर्माण सभापति शंकर शायरानी को उनके पद से नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा हटाया गया है।


काफी दिनों से नगर में विकास कार्यों में गुणवत्ताहीन कार्य देखने को मिल रहे हैं एवं नगर पालिका में बंदरबांट का माहौल बना हुआ है। जिससे नगर में निर्माण कार्य केवल सौंदर्यीकरण के रूप में ही हो रहे हैं 1000 दुकाने बोलकर केवल 10 दुकानें बनाई गई हैं जिसके सहारे युवाओं को नगर में रोजगार देने के दावे किए गए थे। लेकिन यह दावे केवल जुमले ही निकले इन 10 दुकानों की पगड़ी की राशि इतनी अधिक रखी गई है की आम युवाओं का इन दुकानों को हासिल करना नामुमकिन है।


नगरपालिका नैनपुर में पदस्थ उपयंत्री के द्वारा शासन की गाइडलाइन को दरकिनार करते हुए ठेकेदारों के साथ मिलकर शासन को चूना लगाया जा रहा है।

जो निम्नलिखित बिंदु वार है 

1. नगर के डिवाइडर सार्वजनिक शौचालय एवं मुक्तिधाम की रंगाई पुताई करने कोटेशन निविदा आमंत्रित किया गया है।जो 6 अलग-अलग निविदा कोटेशन निकाल कर करीब ₹580000 की लागत से बनाई जा रही है जिसकी ₹54 स्क्वायर मीटर दर पासकर ठेकेदार को उपकृत किया जा रहा है जबकि पुताई का एस ओ आर शासन की गाइड लाइन में दर्ज है एक ही टेंडर लगा कर ऑनलाइन कार्य कराया जाना था परंतु ऑफलाइन कार्य कराकर पारदर्शिता को छिन्न-भिन्न किया गया है। और आर्थिक लाभ लिया जा रहा है 2 . नगर के वार्ड क्रमांक 14 में जेसीबी मशीन से समतलीकरण कराए जाने कोटेशन निविदा आमंत्रित की गई जो कि 99000 से अधिक का कार्य है इस कार्य को भी कराए जाने की टेंडर प्रक्रिया की जाना था जिसे आर्थिक लाभ लेने ठेकेदार को ऑफलाइन में कार्य कराया जा रहा है नगरपालिका कार्यालय भवन में एसीपी सीट लगाई जा रही है जिसकी निविदा कोटेशन में भी अधिक दर स्वीकृत कर आर्थिक लाभ लिया जा रहा है।


इन सब घोटालों का समर्थन ना करने वाले एवं उनका विरोध करने वाले शंकर सायरानी जैसे ईमानदार प्रतिनिधि को इस तरह से पद से हटाना यह बहुत ही दुख का विषय है नगर पालिका अध्यक्ष को इस मामले में पुनः विचार करना चाहिए।

No comments:

Post a Comment