स्वस्थ अपने स्वास्थ्य की समस्या बेझिझक साझा करे, मनादेई में आयोजित हुआ साथिया सम्मेलन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, January 4, 2021

स्वस्थ अपने स्वास्थ्य की समस्या बेझिझक साझा करे, मनादेई में आयोजित हुआ साथिया सम्मेलन





रेवांचल टाइम्स - मातृ मृत्यु, शिशु मृत्यु और सकल प्रजनन दर में कमी लाने के उद्देश्य से जिले के सभी विकासखंडों में राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है। कार्यक्रम कार्ड संस्था के प्रशिक्षित परामर्शदाता और प्रशिक्षकों द्वारा ग्रामों में जाकर की किशोर, किशोरियों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के साथ स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्रदान कर रहे है। कार्यक्रम के अंतर्गत विकासखंड मंडला के ग्राम मनादेई में साथिया सम्मेलन कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें उपस्थित किशोर किशोरी साथिया को इंसेटिव किट का वितरण किया गया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग से जिला समन्वयक अर्जुन सिंह, संस्था समन्वयक दिलीप राय, परामर्शदाता संजना राय, नेहा पटेल, ग्राम के सरपंच सुखचेन मरावी, एएनएम संध्या पन्द्रो, एमपीडब्ल्यू केएस पंद्रो, सहायिका भगवती नंदा, मास्टर टे्रनर्स पीएचसी महाराजपुर से रविशंकर झरिया, नीलू लोधी, पीएचसी हिरदेनगर से दुर्गेश चंद्रोल, चित्रा धनगर, पीएचसी मोहनिया पटपरा से जतन कार्तिकेय, शोभना कांड्रा समेत 16 ग्राम से आए किशोर, किशोरी साथिया मौजूद रहे ग्राम मानादेही के उप स्वास्थ्य केंद्र ग्राउंड में साथिया इंसेटिव किट वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इंसेंटिव किट में साथिया को एप्रेन, केप, छाता, टी शर्ट, लोवर का वितरण किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत प्रार्थना गीत से किया गया। कार्यक्रम में उपस्थिति अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छ तिलक वंदन कर किया गया। 


जिला समन्वयक अर्जुन सिंह ने उपस्थित साथिया से पोषण आहार पर चर्चा की गई। इन्हें संतुलित आहार लेने की सलाह दी। जिसमें उन्हें तिरंगा ताली को विस्तार से बताया। कार्यक्रम के दौरान किसी गलत बात को मना कैसे करें इसे विस्तार से बताया। किशोर, किशोरियों को यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य पर विस्तार से बताया। उन्हें बताया कि यौन शोषण यौनिक प्रकृति का ऐसा व्यवहार है जो कोई व्यक्ति अन्य व्यक्ति की सहमति के बिना उसके साथ करता है। यौन शोषण मौखिक या शरीरिक, सिर्फ एक बार या बार-बार हो सकता है। आगे बताया कि अलग-अलग लिंग के व्यक्तियों या समान लिंग के व्यक्तियों के बीच हो सकता है। 

किशोर, किशोरी साथिया को दिये इंसेटिव किट: 

राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ कार्यक्रम के अंतर्गत ब्लाक मंडला के ग्राम मानादेही में साथिया के उत्साहवर्धन के लिये कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में 16 ग्राम के किशोर-किशोरी साथिया मौजूद रही। कार्यक्रम में उपस्थित साथिया द्वारा अपने ग्राम में कार्यक्रम के अंतर्गत किये जा रहे कार्य को साझा किया। इसके साथ ही कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाले साथिया का उत्साहवर्धन कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मौजूद साथिया को जिला समन्वयक अर्जुन सिंह, संस्था समन्वयक दिलीप राय समेत उपस्थित अतिथियों द्वारा इंसेटिव के रूप में एप्रेन, केप, छाता, टी शर्ट और लोबर दिया गया इंसेटिव पाकर साथिया के चेहरे में खुशी झलक रही थी।  उपस्थित साथिया को गुड टच बैड टच के विषय में जानकारी दी। इन्हें कार्यक्रम के उद़देश्य और घटकों को विस्तार से बताया गया। र्स्वयं की देखभाल करें :

कार्यक्रम के दौरान जिला समन्वयक अर्जुन सिंह ने साथिया को बताया कि हमें स्वस्थ रहने के लिये खुद की स्वच्छता आवश्यक है। अपने शरीर को साफ रखने से बहुत सी बीमारियों से दूर रहा जा सकता है। जानकारी देते हुये यौन प्रजनन स्वास्थ्य, आरटीआई, एसटीआई के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि एसटीआई, आरटीआई से बचाव के लिये अपने शरीर के अंदुरूनी भाग की साफ सफाई जरूरी है। जिससे हम एसटीआई, आरटीआई से बचा जा सकता है। आगे उन्होने व्यक्तिगत स्वच्छता पर जोर देते हुये कहा कि आरटीआई के लक्षणों की पहचान व बचाव जागरूकता से ही की जा सकती है। किशोर, किशोरी अपने प्रजनन स्वास्थ्य  से सम्बंधित चिंताओं को बेझिझक साझा करने में बिल्कुल भी संकोच ना करे अपनी समस्या के समाधान के लिये अपनी आशा, मास्टर ट्रेनर, काउंसलर से सलाह ले। जिससे आप अपने आप को स्वस्थ रख सकते है  

साथिया का महत्वपूर्ण स्थान :

साथिया सम्मेलन में संस्था समन्वयक दिलीप राय ने उपस्थित किशोर, किशोरी साथिया को बताए कि उनका स्थान इस कार्यक्रम में कितना महत्वपूर्ण है एक साथिया का कार्य गांव के किशोर, किशोरियों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है जिससे किशोरावस्था के बाद युवावस्था में उन्हें किसी भी प्रकार से शरीरिक, मानसिक परेशानी का सामना ना करना पड़े राय ने साथिया से कहा कि साथिया में गोपनीयता का गुण बहुत आवश्यक है। यदि ग्राम के किशोर किशोरी आपसे अपनी समस्या साझा करते है तो उस समस्या को आप अन्य किसी से साझा ना करें, यह सबसे महत्वपूर्ण है। उनकी समस्या के समाधान के लिये आपको सिर्फ आपके कार्यक्रम से जुड़ी आशा कार्यकर्ता आपके मास्टर ट्रेनर, परामर्शदाता से साझा करके उनकी समस्या का समाधान करा सकते है उद्देश्य और घटक की हो जानकारी संस्था द्वारा जिला चिकित्सालय में पदस्थ परामर्शदाता संजना राय ने उपस्थित साथिया से कहा कि सभी को कार्यक्रम के तीन उद्देश्य और 6 घटकों की पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहां कि स्वस्थ मस्तिष्क के लिये पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन मिलना बहुत जरूरी है। जिसके लिये हमारे शरीर में हीमोग्लोबीन सही मात्रा में होना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि हमारे शरीर में एचबी तब ही सही मात्रा में उपलब्ध होगा जब हम पोषक तत्वों, खनिज लवण युक्त भोजन को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। उन्होंने आगे मदाक पदार्थो पर चर्चा करते हुये बताया कि नशे की बुरी लत से हमारे शरीर को बहुत से दुष्प्रभाव होते है। यदि कोई गर्भवती महिला नशे की आदी है या नशा करती है तो उसका होने वाला शिशु सामान्य बच्चों की तरह नहीं होगा। अधिकत्तर शिशु विकृत वाले पैदा होते है। उन्होने साथिया को आगे बताया कि हम किसी भी बुरी चीज या नशे के लिये मना कैसे करें। संजना राय ने बतया कि हम मना नहीं कर सकते है लेकिन नशे के दुष्परिणाम को बताकर हम नश करने से मना कर सकते है साथ ही उन्हें भी इसका सेवन ना करने की समझाईश दे सकते है।

No comments:

Post a Comment