कोवैक्सिन ट्रायल पर तेज हुई सियासत, मृतक वॉलिंटियर के परिजन से मिलने पहुंचे दिग्विजय - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, January 10, 2021

कोवैक्सिन ट्रायल पर तेज हुई सियासत, मृतक वॉलिंटियर के परिजन से मिलने पहुंचे दिग्विजय


रेवांचल टाईम्स डेस्क :- भोपाल मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोवैक्सीयन के ट्रायल को लेकर सियासत गर्मा गई है। कोवैक्सीनेशन से वॉलिंटियर की मौत होने के बाद राज्यसभा सांसद और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह मृतक के घर पहुंचे और परिजन का हाल जानकर सरकार पर जमकर निशाना साधा।


दिग्विजय ने साधा सरकार पर निशाना


कोवैक्सिन का ट्रायल टीका लगने के बाद वॉलंटियर दीपक मरावी की मौत के बाद दिग्विजय सिंह भोपाल के टीलाजमालपुर स्थित दीपक के घर पहुंचे और परिजन से मुलाकात की । दिग्विजय ने सवाल करते हुए कहा कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि कोरोना वॉलंटियर गरीब बस्तियों से ही क्यों है ? उन्होंने एक निजी अस्पताल का नाम लेते हुए सवाल पूछा कि निजी अस्पताल में कोवैक्सिन ट्रायल किया गया। जहां शुरुआती 6 दिन में महज 45 ही वॉलंटियर आए लेकिन फिर 1 महीने के अंदर ही 1700 से अधिक लोगों पर ट्रायल हो गया। जिन लोगों पर ट्रायल हुआ उनमें 95 फीसदी लोग भोपाल के हैं। जिनमें से अधिकतर निजी अस्पताल के पास की ही गरीब बस्तियों के रहने वाले हैं। ये भी शिकायतें उन्हें मिली हैं कि एक ही परिवार के कई लोगों को टीका लगाया गया है।


स्वास्थ्य मंत्री ने दिया जवाब


      दिग्विजय सिंह की तरफ से उठाए गए सवालों का स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने जवाब दिया। प्रभुराम चौधरी ने कहा कि वो खुद डॉक्टर हैं और उन्हें पता है कि कोवैक्सिन से किसी की भी मौत नहीं हो सकती है। लेकिन हर मौत दुखद है और मौत के कारणों की जांच सरकार की ओर से कराई जाएगी।

No comments:

Post a Comment