गुण वत्ता मानकों की जाँच के बाद खरीदी धान तो किसान नही जिम्मेदार - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, December 5, 2020

गुण वत्ता मानकों की जाँच के बाद खरीदी धान तो किसान नही जिम्मेदार



रेवांचल टाईम्स - ये कैसे हो सकता है मानकों के आधार पर धान की खरीदी हुईं तुलाई हुई पैकिंग ट्रांसपोर्टिंग तक हो गई और फिर वहाँ से वापस ।

     भ्रस्टाचार से परेशान इस देश की मालिक जनता ने देश की सबसे बड़ी पार्टी का सफाया ही भ्रस्टाचार से निजात पाने के मुद्दे पर किया था और भाजपा को भारी बहुमत से लाया था पर सत्ता तो बदल गयी पर व्यवस्था नही बदल पायी। सरकारी दफ्तरों में  कुछ एक देश प्रेमी अधिकारी कर्मचारियों को छोड़ सब खाना पूर्ति कर जिम्मेदारी से टंटा छूडाने में लगे होते है सरकारी दफ़्तरों में भ्रस्टाचार का बोल बाला है जिसकी पुष्टि स्वंय भाजपा के निर्वाचित विधायक राकेश पाल ने आज कर मोहर लगा दी ।

     जिले का किसान इन दिनों समूचा परेशानी झेल रहा है एक उपज के दाम नही मिल रहे खाद बीज बिजली पानी की किल्लत है तो सरकार द्वारा लाये तीन कृषि अध्यादेश कानून बन गए है जो किसानों को भय व चिंता में डाले हुए है।


अतिबर्षा  कोरोंना महामारी जैसे संकट काल से पीड़ित किसान सरकार की लचर व्यवस्था से आहत है उसे जबरन परेशान किया जा रहा है।



किसानों के बुलावे पर कान्हीवाड़ा पहुँचे आप के जिलाध्यक्ष


        भोमा कान्हीवाड़ा की सहकारी समितियों द्वारा किसानों से खरीदी गई 16 ट्रक धान वेयरहाउस से वापस समितियों को भेजें जाने की खबर फैलते ही कान्हीवाड़ा भोमा में किसान विरोध प्रदर्शन के आतुर हो गए खबर लगते ही आप के पदाधिकारी जिला अध्यक्ष दुर्गेश विश्वकर्मा जिला उपाध्यक्ष रघुवीरसिंह सनोडिया, अनीस खान सहित अन्य कार्यकर्ता कान्हीवाड़ा पहुँचे।


जहाँ सैम्पल जाँच अधिकारी से किसानों के पक्ष में बात की और पूरा मामला को समझा जाँच अधिकारी  जो किसानों की अनुपस्थिति में धान के सैम्पल के पास फैल का खेल रहे थे आप के विरोध के बाद किसानों के समक्ष जाँच को तैयार हुए। आप कार्यकर्ता पदाधिकारी ओं की किसानों से बातचीत पर


जब पूरे मामले को समझा तो आप कार्यकर्ताओं को भारी साजिश दिखाई दी ।

     उक्त मामले में आप के जिला अध्यक्ष दुर्गेश विश्वकर्मा ने बताया कि धान की खरीदी प्रायवेट कम्पनी को सौप दी गई है उपज तुलाई के पूर्व कुशल सर्वेयर द्वारा  गुणवत्ता मानकों का परीक्षण कर ही सुनिश्चित की जाती है ना कि भंडारण के समय और यदि ऐसा हो रहा है तो इसका जिम्मेदार खरीदी अधिकारी  होते है ना कि किसान । यहां किसानों को परेशान करना बिल्कुल अनुचित व गलत है

        ऐसी पुनरावृत्ति अन्य खरीदी केंद्रों में ना हो इसके लिए जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को आदेशित किया जाना चाहिए। और किसानों को कोई कठिनाई ना हों परेशानियों को दृष्टि गत रखते हुए ध्यान दिया जाना चाहिए। केवलारी के निर्वाचित विधायक राकेश पाल जी कमीशन के खेल में धान वापस हुई है तो जाँच करवाएं व दोषियों को जेल भेजें यह आप जैसे  चुने हुए जनप्रतिनिधि की नैतिक जिम्मेदारी व कर्तव्य है।

     पीड़ित किसानों के साथ ऐसे अन्याय की पुनरावृत्ति ना हो।

No comments:

Post a Comment