मौज मस्ती के साथ अभिनय सीख रहे बच्चे - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, November 29, 2020

मौज मस्ती के साथ अभिनय सीख रहे बच्चे




रेवांचल टाइम्स छिंदवाड़ा । मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय के यशस्वी निदेशक आलोक चटर्जी के प्रयासों से विद्यालय के विस्तार कार्यक्रम के अंतर्गत नाट्यगंगा के द्वारा आयोजित बाल नाट्य कार्यशाला प्रारंभ हो गई है। इस कार्यशाला के लिए ऑडिशन के द्वारा 35 बच्चों का चयन किया गया है। प्रतिदिन स्थानीय अमित किडजी में इन बच्चों के साथ कार्यशाला प्रारंभ हो गई है। कार्यशाला के निर्देशक सचिन वर्मा ने बताया कि कार्यशाला को बच्चों के अनुसार बहुत ही रोचक बनाया गया है। कार्यशाला के समय को छोटे छोटे पीरियड में बॉंटा गया है। जिसमें बच्चों को हंसी मजाक, मौज मस्ती के साथ अभिनय, गीत, संगीत आदि से परिचित करवाया जा रहा है। इस कार्यशाला की सभी व्यवस्थाएं संस्था के नए कलाकारों द्वारा की जा रही हैं। संस्था के वरिष्ठ कलाकार चैतन्य आठले कार्यशाला में सबसे पहले बच्चों को शारीरिक अभ्यास करवाते हैं। उनका कहना है कि एक अभिनेता के लिए शारीरिक रूप से फिट रहना बहुत जरूरी है। इसके बाद फैजल कुरैशी के द्वारा बच्चों को विभिन्न नृत्यों की प्रारंभिक मुद्राएं सिखाई जाती हैं। साथ ही बच्चों को अपनी रक्षा के कुछ दांव भी सिखाए जा रहे हैं। निकेतत मिश्रा और ओशिन धारे द्वारा बच्चों को संगीत का प्रारंभिक ज्ञान दिया जा रहा है। उन्हें सरगम का अभ्यास करवाया जा रहा है। बच्चों के अंदर से झिझक समाप्त करने के लिए दानिश अली और स्वाति चौरसिया के द्वारा बच्चों को थियेटर गेम्स खिलवाए जा रहे हैं। संस्था की पुरानी बाल नाट्य कार्यशाला से प्रशिक्षित केतन सोनी के द्वारा बच्चों का अभिनय से परिचय करवाया जा रहा है। कार्यशाला की सभी व्यवस्थाओं को संस्था के पिछली कार्यशाला से प्रशिक्षित कलाकार मानसी मटकर, प्रहलाद उइके, हर्ष यादव, आदित्य रूसिया, ऋषभ शर्मा, अमन खान कर रहे हैं। जिनका मार्गदर्शन पुराने कलाकार श्याम सुंदर यादव, नीता वर्मा, हेमंत नांदेकर, रोहित रूसिया, अमजद खान, शेफाली शर्मा, सुवर्णा दीक्षित, संजय औरंगाबादकर, नीरज सैनी, कुलदीप वैद्य, वैशाली मटकर, विनोद प्रसाद ग्यास, अंबर तिवारी, पियूष जैन कर रहे हैं। इस कार्यशाला के दौरान एक नाटक भी तैयार किया जाएगा जिसका मंचन कार्यशाला के अंत में किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment