गांवो को मलेरिया मुक्त बनाने हेतु मच्छरों के लार्वा को घर घर ढूंढकर किया जा रहा है उसका विनिष्टिकरण - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, November 9, 2020

गांवो को मलेरिया मुक्त बनाने हेतु मच्छरों के लार्वा को घर घर ढूंढकर किया जा रहा है उसका विनिष्टिकरण




रेवांचल टाइम्स   मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी  डॉ मनोज पाण्डेय और जिला मलेरिया अधिकारी रामजी भलावी बालाघाट के निर्देशन में बालाघाट जिले के बिरसा, बैहर  और परसवाड़ा ब्लॉक के 47 गांवों में गोदरेज इंडस्ट्रीज तथा फैमिली हेल्थ इंडिया द्वारा संचालित एंबेड परियोजना द्वारा 296 ग्रामीणों को मलेरिया उन्मूलन हेतु वॉलंटियर के रूप में प्रशिक्षित किया गया है। ये कम्युनिटी वॉलंटियर, बी सी सी एफ, आशा दीदी, के साथ मिलकर लोगो को घर- घर जाकर कोविड -19 के नियमों का पालन करते हुए परिवार के लोगो को मलेरिया और डेंगू जैसी मच्छरजनित बीमारियों से बचाव हेतु घरों में रखे पुराने मटके, टायर, बर्तन आदि में जमा पानी और लार्वा को नष्ट करने का कार्य समुदाय के साथ प्रेरित करते हुए कर रहे है।

जिससे घरों में पानी जमा ना होने पाए, साथ ही घर में और घर के बाहर या आस- पास जमा पानी में जला ऑयल या मिट्टी का तेल डलवाया जा रहा है और लोगो को समझाया जा रहा है कि जमा हुए पानी मे  हर 7 दिन में जला हुआ तेल डाले या उस पानी की निकासी करे, लोगों को रोज रात में  सोते समय कीटनाशक उपचारित मच्छरदानी लगाने, नीम पत्ती का धुंआ, अगरबत्ती, कॉइल, फास्ट कार्ड आदि जैसे मच्छर रोधी साधनों का उपयोग प्रतिदिन करने के लिए समझाया जा रहा हैं। ये कम्युनिटी वालेंटियर हफ्ते में एक दिन रविवार को सामुदायिक गतिविधि के रूप में लार्वा सर्वे और लार्वा विनिष्ठीकरण करते है और  इस गतिविधि को नाम दिया है हर रविवार मच्छर पर वार । इस दिन घर घर-घर मच्छर के लार्वा को खोजा जाता है और उसको नष्ट किया जाता है।



रेवांचल टाइम्स बालाघाट से खेमराज बनाफरे की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment