अनावश्यक विचार ही हमारे क्लेशों और मुसीबतों की जड़ है - खेमराज सिंह बनाफरे - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, November 29, 2020

अनावश्यक विचार ही हमारे क्लेशों और मुसीबतों की जड़ है - खेमराज सिंह बनाफरे


रेवांचल टाइम्स - हम में से बहुत से व्यक्तियों के मन में कई प्रकार के व्यर्थ और तर्क ही विचार चलते रहते हैं इसके कारण हम स्वयं परेशान रहते हैं इसी परेशानी का प्रतिकूल प्रभाव हमारे दैनिक जीवन और कार्यशैली पर पड़ता है अनावश्यक विचार हमारे सभी क्लेशों और मुसीबत की जड़ है


अचेतना एवं अताकिक विचारधारा ही हमारे जीवन में असफलता को जन्म देती है जो विचार हमारा मनोबल गिराती है उन विचारों कि हमें प्रवाह करते रहना चाहिए और समय रहते ही उन्हें सकारात्मक विचार से बदल लेने चाहिए हम अपने जीवन में बदलाव अथवा रूपांतरण कैसे करें इसके लिए कुछ सूत्र हमें अपने हित चिंतकों से मिलते रहते हैं जीवन के ढरे मैं कोई भी बदलाव कर पाना सहज नहीं होता लेकिन उसके लिए हमें सतत प्रयासरत रहना पड़ता है गंभीरता पूर्वक विचार करने की बाद हम जिन सूत्रों को अपने जीवन में उतारने का प्रयास करेंगे तो हमें कुछ सफलता आवश्यक मिलती है


रेवांचल टाइम्स बालाघाट से खेमराज बनाफरे

No comments:

Post a Comment