मंडला में विश्व विख्यात आयुर्वेदाचार्य का हुआ आगमन जड़ी बूटियों के पांच हजार पेड़ लगाने का लक्ष्य - श्री टाटा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, November 29, 2020

मंडला में विश्व विख्यात आयुर्वेदाचार्य का हुआ आगमन जड़ी बूटियों के पांच हजार पेड़ लगाने का लक्ष्य - श्री टाटा


रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहुल्य जिला मंडला में बीते दिनों गुरुवार को विश्व विख्यात आयुर्वेदाचार्य प्रकाश टाटा का मंडला आगमन हुआ।सर्वप्रथम श्री टाटा का महाराजपुर पौड़ी रेलवे क्रॉसिंग के पास कुछ समाजसेवी व पत्रकारों के द्वारा फूल माला से स्वागत किया गया। इसके पश्चात जिला मुख्यालय के स्थानीय रेस्ट हाउस में उनका भव्य स्वागत किया गया।तदोपरांत सिद्ध घाट रेवा दरबार संध्या आर्थिक मंच द्वारा रपटा घाट में आयोजित महाआरती में शामिल हुए।यहां पर महाआरती पश्चातू उनका स्वागत कार्यक्रम रखा गया।श्री टाटा ने इस अवसर पर कहा कि मेरी योग्यता कुछ भी नहीं है लेकिन आयुर्वेद पर मैंने जो कार्य किया हैं,आयुर्वेदिक औषधि के उपयोग से आप गंभीर से गंभीर बीमारी पर विजय प्राप्त कर सकते हैं।उन्होंने कहा कि वे एक माह में  छिंदवाड़ा में अपनी सेवा देते हैं और 15 दिन वे देश विदेशों के विभिन्न नगरों में जाया करते हैं। उन्होंने गंभीर और जन समाज से जुड़े अनेक मुद्दों पर बताया। उपस्थित गणमान्य नागरिकों से उन्होंने अपील की हैं कि वह अधिक से अधिक औषधि पेड़ो को लगाएं, वही अजवाइन के फायदे भी उन्होंने बताएं। उन्होंने आगे कहा कि अजवाइन का हवन करने से वातावरण शुद्ध हो जाता हैं।90 के दशक में गेंदबाजों में खौफ का पर्याय बने,श्रीलंका के पूर्व ओपनर सनत जयसूर्या ने आखिरकार अपने पैरों की बीमारी से मुक्ति पा ली हैं।पूर्व क्रिकेटर को ठीक करने का कमाल कर दिखाया हैं।जुन्नारदेव के आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉक्टर प्रकाश टाटा ने इलाज शुरू होने के मात्र 72 घंटे में जयसूर्या वगैरह वैशाखियो के अपने पैरों पर खड़े हो सकें।उन्होंने पैर के साथ कमर में भी आई गंभीर बीमारी की वजह से बिस्तर पकड़ लिया था।वैशाखियो के सहारे थोड़ा बहुत चल लेते थे लेकिन दिलचस्प बात यह हैं कि जयसूर्या ने मेलबोर्न में पैरों का ऑपरेशन कराया था। इसके अलावा श्रीलंका के एक अस्पताल में भी इलाज के लिए भर्ती थे, लेकिन उन्हें कहीं भी राहत नहीं मिली थी।श्री टाटा ने बताया कि पताल कोट में भी जड़ी बूटियों की खोज की हैं। यहां पर वैद्यराज माखन विश्वकर्मा की सहायता से उन्होंने गंभीर और असाध्य रोगों की ऐसी अनेक जड़ी बूटियां खोजी हैं,जो मानव जीवन के लिए महत्वपूर्ण हैं।टीम इण्डिया के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन को जब जयसूर्या की परेशानी के बारे में पता चला तो उन्होंने आयुर्वेदिक इलाज लेने की सलाह दी।अजहर ने म.प्र.के आयुर्वेदाचार्य डॉ.प्रकाश इण्डियन टाटा से जयसूर्या की बात करवाई,कुछ वक्त तक जयसूर्या की परेशानी को समझने के बाद डॉ. प्रकाश ने उनकी बीमारी का इलाज खोज निकाला हैं। आयुर्वेदाचार्य डॉ.प्रकाश इण्डियन टाटा म.प्र.के छिंदवाड़ा के रहने वाले हैं।डॉ.प्रकाश इण्डियन टाटा एक ऐसा नाम जिन्होंने कई अनूठी जड़ी बूटियों की खोज कर कई असाध्य रोगों का इलाज किया हैं। आयुर्वेदाचार्य डॉ.प्रकाश इण्डियन टाटा के फेसबुक पेज पर उनकी कई सितारों के साथ तस्वीर पोस्ट की गईं हैं। जिनमें अमिताभ बच्चन मिथुन चक्रवर्ती जैसे बड़े नाम शामिल हैं।बताया जाता हैं कि डॉ.प्रकाश टाटा कई सालों से देश विदेशों में कई गरीबों और असहाय लोगों की निस्वार्थ सेवा की हैं, और इलाज से हजारों लोगों को राहत मिली हैं। वही श्री टाटा इन दिनों विश्व महामारी कोरोना वायरस को लेकर भी काफी चिंतित हैं।और उन्होंने एक विशेष प्रकार का काढ़ा तैयार किया हैं।जिसके लगातार सेवन से कोरना आपको छू भी नहीं सकेगा। जिसका वे लगातार वितरण कर रहें हैं।उन्होंने आगे बताया कि यूकैन के प्रसिद्ध डॉ. रंजय ने 15 दिवस तक दवा वितरण के लिए श्री टाटा को बुलाया था।यहां पर उन्होंने 18 हजार लोगों को दवा वितरण की हैं,जिसमें 50 प्रतिशत लोगों को राहत मिली हैं।इस अवसर पर धर्माचार्य पण्डित नीलू महाराज वरदान आश्रम अंजनिया,पण्डित इंद्रमणि पाठक विशेष रूप से उपस्थित रहें। उन्होंने श्री टाटा के द्वारा किए जा रहे जनकल्याण समाजिक  प्रयासों की  सराहना की हैं।रपटा घाट में कार्यक्रम समापन के दौरान कोरोना वायरस से बचाओ काढ़ा का वितरण भी किया गया हैं। राम प्रकाश ठाकुर,विकास जयसवाल,श्रीमती ज्योति जयसवाल, श्रीमती ममता चौरसिया, शिव दोहरे,लखन भाण्डे, टीकाराम चौधरी, कमलेश मिश्रा,पवन राय,संकट मोचन चंद्रौल, मनीष चौधरी,सुरेंद्र भाण्डे,सुनील मिश्रा, बब्बल खरया,सुनील दुबे,आशीष ज्योतिषी, सुधीर कांसकार,आशीष चौरसिया,ए.के.चौहान, बिंदी शर्मा, पूरन ठाकुर,अमन रघुवंशी,श्री टाटा के साथ आए सिवनी जिले के प्रसिद्ध सिंगरअशोक अकेला, श्रीमती दीप्ति नामदेव, श्रीमती वंदना अवस्थी, सहित सैकड़ों नागरिक उपस्थित रहें।इस अवसर पर भाग्यरति सेवा विकास परिवार द्वारा कार्य दर्शिका पत्रिका का विमोचन भी श्री टाटा के द्वारा किया गया।इस अवसर पर अजय वंशकार, सौरभ सिंह यादव,साहिल लाहोरिया, पंकज बरमैया सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहें।

No comments:

Post a Comment