रजक महासंघ का शंखनाद...जनप्रतिनिधियों को सिखाएगें सबक - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, October 1, 2020

रजक महासंघ का शंखनाद...जनप्रतिनिधियों को सिखाएगें सबक

 आज होगा रजक महासंघ का ग्वारीघाट में जल सत्याग्रह आंदोलन जनप्रतिनिधियों को सिखाएगें सबक



रेवांचल टाइम्स - प्रदेश के जबलपुर शहर के ग्वारीघाट में रजक महासंघ एबीआरएम द्वारा अनुसूचित जाति के ज्वलंत मुद्दे पर एबीआरएम सहित रजक समाज  जनों के साथ वरिष्ठ पदाधिकारियों द्वारा आज गांधी जंयती के शुभ अवसर पर जबलपुर के ग्वारीघाट में जल सत्याग्रह आंदोलन मां नर्मदा जी के पवित्र जल में गांधीवादी तरीके से करेंगे जिसमें प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार से शोषित पीड़ित रजक समाज को अनुसूचित जाति में शीघ्र शामिल करने के लिए चेतावनी पत्र सौपा जाएगा आंदोलन में रजक महासंघ एबीआरएम सहित एबीआरएम संगठन शामिल होगे जल सत्याग्रह आंदोलन आज सुबह 11 बजे से स्थान जबलपुर ग्वारीघाट में किया जाएगा जिसमें अधिक से अधिक संख्या में समाज जन उपस्थित होगे कार्यक्रम की जानकारी रजक महासंघ एबीआरएम मध्यप्रदेश के अध्यक्ष केशलाल रजक भगतजी प्रदेश महासचिव एड.रामभरत (बल्ली रजक) संरक्षक डॉ रमेश रजक सचिव आरडी रजक ने दी जबलपुर में सभी रजक समाज जनों के साथ मिलकर रजक महासंघ मध्यप्रदेश अपनी पूरी ताकत से अनुसूचित जाति के मद्दे पर लड़ाई लड़ेंगी

तीन जिला अनुसूचित जाति में शामिल

          प्रदेश के राज्य के तीन जिलों में भोपाल सीहोर और रायसेन में रजक समाज के लोग अनुसूचित जाति में शामिल हैं जबकि अनुसार49 जिलों के लोगों को अन्य पिछड़ा वर्ग में रखा गया है सरकार ने ही रजक समाज को प्रदेश में दो भागों में बांट दिया है इन्हें कहीं अनुसूचित जाति में तो कहीं ओबीसी में शामिल कर रखा है यह उचित नहीं है सरकार द्वारा सिर्फ कई सालों से अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए आश्वासन ही मिल रहा है अब परिणाम चाहिए

अनुसूचित जाति में शामिल नहीं किया तो 28 विधानसभा सीटों पर होगा बहिष्कार

प्रदेश महासचिव रामभरत (बल्ली रजक) ने कहा कि हमारी रजक समाज की दशा संपूर्ण मप्र में बद से बदतर है लेकिन अब हमारी समाज जागरूक हो चुकी है अब चाहे भाजपा हो कांग्रेस हो या कोई अन्य दल वह हमारी समाज को वोट बैंक के रुप में उपयोग नहीं कर पाएगी उन्होंने कहा यदि रजक समाज की वर्षों पूरानी मांग पूरी नहीं की गई तो मध्यप्रदेश में होने वाले उपचुनाव में 28 विधानसभा सीटों पर रजक समाज के संगठन चुनाव का बहिष्कार करेगी प्रदेश की दोनों पार्टियों को चेतावनी दी है कि मध्यप्रदेश में रजक समाज को अनुसूचित जाति में शामिल करने का फैसला उपचुनाव के पहले ले नहीं तो भाजपा कांग्रेस सहित अन्य दलों को जिन्होंने समाज का शोषण किया है उनको हमारी समाज प्रदेश में होने वाले उपचुनाव में सबक सिखाएगी

No comments:

Post a Comment