किसान ने लगाई फासी जांच में जुटी पुलिस - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, October 25, 2020

किसान ने लगाई फासी जांच में जुटी पुलिस

 



रेवांचल टाइम्स:- प्राप्त जानकारी के अनुसार सिवनी से महज 15 कि. मी.जैतपुर कला के किसान दशरथ बघेल ने अतिव्रष्टि से खराब हुई फसल की पीड़ा से  दुःखी होकर अपने खेत के पेड़ में फाँसी लगाकर जीवनलीला समाप्त कर ली आज आम आदमी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष रघुवीर सिंह और राजेश पटेल सहित आप कार्यकर्ता मृतक किसान से परिवार से मिलने उसके निवास पर पहुँचे जहाँ उन्होंने परिवार को ढाढ़स बँधाया व परिवार के सुख दुख में सहयोग का आश्वासन दिया स्वर्गीय दशरथ बघेल में बूढे पिता जी है जो कि सचिव पद में इक्कीस साल की सेवा देते हुए चावड़ी पँचायत से सेवानिवृत्त हो चुके है जिन्हें एक रुपये भी पेंशन तक नही मिलती दशरथ बघेल गरीबी रेखा में अपना जीवनयापन करते थे दो बच्चे है एक बेटा उत्कृष्ट विधालय में 12 वी में अध्यनरत है जिसकी फीस 1200 रुपये भरने के लिए वह पिछले दिनों परेशान थे वही उनके 5 एकड़ मे मक्का की फसल बोयी थी जिसमें सिर्फ 1 ट्राली भुट्टा निकला अगली फसल बौने के लिए खाद बीज व टीसी कनेक्शन के पैसे के लिए भी बहुत चिंतित थे और ग्रामवासियों के अनुसार इसी मानसिक टेंशन से उनके गले मे फाँसी का फंदा लगा लेने का अनुमान लगा रहे है चूंकि अभी पुलिस जाँच होना बाकी है  किसान ने तीन चार साल पहले अपनी जमीन में 2 लाख रुपये का कर्ज भी ले रखा था परंतु कर्जमाफी की आस में वह चिंता पकड़ लिया था आम आदमी पार्टी के पदाधिकारी व ग्रामवासियों ने उक्त परिवार को 10 लाख रुपये की सहायता राशि के साथ ही उसका कृषि कर्ज माफ किये जाने व उसकी पत्नी को सरकारी सेवा में लिए जाने की  व बच्चों की मुफ्त शिक्षा की माँग की है।


आम आदमी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष किसान नेता उन्नत कृषक रघुवीर सिंह सनोडिया ने उक्त किसान द्वारा मौत को गले लगाने के पीछे भाजपा सरकार की कृषि नीतियों को दोषी ठहराया है जिसके कारण किसानों को आज उपज का दाम नही मिल रहा जिसके कारण किसान मानसिक तनाव झेल रहे है वही अतिव्रष्टि से पीड़ित किसानो को अभी तक मुआवजा राशि और ना ही बीमा राशि से सहायता दी गई अगर किसान को सहायता राशि मिलती तो वह आज जीवित होता अतः सरकार किसान के परिवार के प्रति सवेंदना पूर्वक उक्त माँगो की पूर्ति करें ।

सरकार का उपेक्षा पुर्ण रवैया का परिणाम ऐसी दुःखद घटनाएं है और सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों की उपज खरीद नही रही ना ही विक्रय का कोई प्रबंध किसान हितों में कर रही है किसानों को लागत मूल्य तक निकल नही रहा है और इन्ही नीतियों की बजह से किसान कर्जदार बनते जा रहा है।



उक्त बातें आम आदमी पार्टी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कही है जिसमे बताया गया है कि सरकारी दफ्तर खुलते ही जिला कलेक्टर महोदय विधायक साँसद महोदय से आवश्यक सहायता के साथ ही मुख्यमंत्री के नाम आम आदमी पार्टी ज्ञापन सौपेंगी और शोकाकुल परिवार को हर सम्भव सहायता दिलाने की मांग करेंगी।

रेवांचल टाइम्स से मुकेश जायसवाल की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment