आखिर किसके संरक्षण मैं रात दिन हो रहा है अवैध रेत का उत्खनन और ड़म्प ? रेत चोरी रोकने में प्रशासन हुआ नाकाम - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, October 22, 2020

आखिर किसके संरक्षण मैं रात दिन हो रहा है अवैध रेत का उत्खनन और ड़म्प ? रेत चोरी रोकने में प्रशासन हुआ नाकाम

 



रेवांचल टाइम्स - रात दिन हो रही रेत की चोरी पर लगातार ग्रामीणों के द्वारा जिला प्रशासन एवं संबंधित विभाग के वरिष्ठ को  जन सिकवा, सिकायत करने  के बावजूद यहाँ पर बंजर एवं कन्हार नदी मैं रेत उत्खनन का अवैध कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है ।  कन्हार एवं बंजर नदी को रेत माफिया कर रहे खोखला , शासन के नियम निर्देशों के विपरीत हो रहा है अवैध उत्खनन और

    उल्टे इस अवैध रेत उत्खनन काय॔ को बढ़ावा दिया जा रहा है आखिर इस अवैध कारोबार के पीछे किसका संरक्षण और बल है इसकी जानकारी धीरे धीरे मीडिया को प्राप्त होने लगी है । खनखनाते रूपये की चकाचौंध और पद की गरिमा के विपरीत यहाँ पर रात्रि के अंधेरे मैं बंजर नदी और कन्हार नदी के विभिन्न अघोषित घाटो मैं बहेरी, सुर्खी एवं भड़िया , बरबसपुर, मुगदरा जैसे गाँव के समीप से रेत माफियाओ के द्वारा लगातार अनवृत शासन एवं प्रशासन के नियम निर्देशों के विपरीत धड़ा धड़ रेत का उत्खनन करके बेच रहे हैं वहीं इनके द्रारा अवैध रेत का जगह जगह ड़म्प किया गया है इसकी तस्वीर स्पष्ट  इन घाटो के ईर्द गिर्द दिखाई दे रही है । बगैर किसी भय और ड़रके रेत माफियाओ की गाड़ियाँ धड़ल्ले से दौड़ रही है । 

   यहाँ के ग्रामीणों के द्वारा इस अवैध रेत उत्खनन कारोबार को रोकने के लिए अनेको बार संम्बधित खनिज विभाग एवं जिला प्रशासन को लिखित मैं आवेदन दिया गया है किन्तु परिणाम शून्य दिखाई दे रहा है ।   

     अब ग्रामीणों का कहना है कि आखिर रेत माफियाओ को खुद विभाग के नुमाईन्दो के द्वारा अभयदान दिया जा रहा है और पर्यावरण मंत्रालय की गाईड लाईन के विपरीत प्राकृतिक के साथ लगातार खिलवाड़ कर ग्रामीणों को गुमराह कर इन्हें अभयदान दे रहे हैं । वहीं जिला  पुलिस अधीक्षक मण्ड़ला एवं जिला कलेक्टर के सख्त निर्देशों के बावजूद  आज भी यहाँ पर लगातार रेत माफियाओ के द्वारा अवैध उत्खनन किया जा रहा है । विश्वसनीय सूत्रों ने बताया कि रेत माफियाओ के द्वारा जगह जगह अपने आदमियो को बैठाया जाता है जैसे ही कोई शासकीय वाहन यहाँ पर अवैध रेत उत्खनन काय॔ मैं लगे कारोबारियों के खिलाफ सख्त काय॔ वाही करने के लिए पहुँचती है उसकी जानकारी  इन्हें नदी किनारे बैठे माफियाओ को मिल जाती है और इनके द्रारा अवैध रेत उत्खनन काय॔ कुछ समय के लिए बन्द करवा दिया जाता है । 

      वहीं लगातार हो रहे अवैध रेत उत्खनन काय॔ के बावजूद इनके द्रारा  बड़े महँगे दामों मैं रेत बेचा जा रहा है जिससे ग्रामीण अंचलों मैं बन रहे प्रधानमंत्री आवास एवं निर्माण कार्यों मैं भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा है । इस चकाचौंध वाली दुनिया मैं निजी आवास एवं शासकीय निर्माण कार्य भी हो रहे हैं जहाँ पर महँगी रेत के चलते गरीबों के कार्यों पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है । 

    शासन एवं प्रशासन के नियम निर्देशों के विपरीत यहाँ पर एक लम्बे अरसे से रेत का अवैध उत्खनन काय॔  किया जा रहा है किन्तु संम्बधित विभाग को सब कुछ मालूम होने के पश्चात भी यहाँ पर चारों तरफ हो रहे रेत के अवैध उत्खनन  और अवैध ड़म्प के खिलाफ सख्त काय॔ वाही ना करना कहीं ना कहीं संदेह को जन्म दे रहा है ।

   विगत दिनों जिले की स्वैच्छिक समाज सेवी संस्था जागृति युवा संस्थान मण्ड़ला के वरिष्ठ पदाधिकारियों के द्वारा इस अवैध रेत उत्खनन कारोबार को पूर्णतः बन्द करवाने की जन माँग को लेकर जिला कलेक्टर मण्ड़ला, पुलिस अधीक्षक मण्ड़ला एवं मध्यप्रदेश सरकार के मुख्य मंत्री को एक ज्ञापन प्रेषित करके अनुरोध किया गया है यहाँ पर अनवृत हो रहे अवैध रेत उत्खनन कारोबार को शीघ्र बन्द करवाया जायेगा एवं संबंधित क्षैत्रो की ग्राम पंचायतों को शासकीय नियम अनुसार रायल्टी जारी कर रेत निकालने की अनुमति प्रदान की जाये जिससे ग्रामीण अंचलों मैं हो रहे विकास कार्यों मैं सहजता के साथ रेत उपलब्ध हो सके। सूत्रों की माने तो इस रेत चोरी में माफियाओ के साथ खनिज विभाग के साथ साथ सबंधित थाना चौकी की शह ही रेत की चोरी की जा रही और इस रेत चोरी में सब का अपना अपना हिस्सा बना हुआ शायद इस कारण रेत का अबैध कारोबार जोरो पर है।

नैनपुर से राजा विश्वकर्मा की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment