जनपद पंचायत लांजी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं ग्राम पंचायत महोदय के सचिव द्वारा नहीं किया जा रहा है लॉकडाउन का पालन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, August 30, 2020

जनपद पंचायत लांजी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं ग्राम पंचायत महोदय के सचिव द्वारा नहीं किया जा रहा है लॉकडाउन का पालन

कलेक्टर बालाघाट के आदेश का हो रहा है उल्लंघन
बालाघाट|जनपद पंचायत लांजी के अंतर्गत ग्राम पंचायत मोहझरी के सरपंच सचिव एवं रोजगार सहायक द्वारा कलेक्टर बालाघाट के आदेशों का उल्लंघन कर ग्राम पंचायत मोहझरी के सरपंच सचिव गांव रोजगार सहायक द्वारा शासन के आदेशों को अनदेखा कर ग्राम में

लॉकडाउन के तहत वार्ड क्रमांक 17 आदिवासी मोहल्ला में आज दिनांक 30/08/2020 को जोकि भारत सरकार द्वारा प्रत्येक रविवार को पूर्ण lock-down का दर्जा दिया गया है

फिर भी शासन के आदेशों को अनदेखा कर सरपंच सचिव एवं रोजगार सहायक द्वारा पूर्व लॉकडाउन रविवार के दिन ही सीसी रोड का निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया है जो असंवैधानिक है
बता दें कि इस सीसी रोड निर्माण कार्य के लिए शासन द्वारा वर्ष 2019 में राशि स्वीकृत करवाया गया था किंतु सरपंच सचिव की लापरवाही के कारण आज दिनांक तक यहां सीसी रोड निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं किया गया था जो जांच का विषय है



बता दें  की इसके पूर्व भी उक्त वार्ड के निवासियों द्वारा उक्त सीसी रोड के निर्माण कार्य में कार्य करने की इच्छा पंचायत समिति से की थी किंतु भाई भतीजावाद की नीति इस लॉकडाउन के दौरान मनरेगा जैसे कार्य में ग्राम पंचायत  मोहझरी में देखने को मिल रहा है प्रशासन से अपील है कि ग्राम पंचायत मोर्चरी में हो रही अनियमितताओं की जांच कर जांच कर दोषियों  के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाए


ग्राम पंचायत मंजरी लांजी विधानसभा क्षेत्र में सबसे बड़ी बस्ती मानी जाती है इस ग्राम में अधिकतर सीमांत एवं सीमांत किसान एवं गरीब तबके के लोग निवास करते हैं यह लोग अपने जीवन यापन करने के लिए बाहर का माने जाते हैं किंतु लॉकडाउन के चलते बेबस मजदूर लोग अपने गांव में ही निवास कर रहे हैं क्योंकि भारत सरकार द्वारा लागू में फंसे लोगों को सबसे पहले मजदूरी का कार्य देने का वादा किया जाता है वह पूर्णत विफल दिखाई दे रहा है इस संबंध में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से चर्चा की गई चर्चा के दौरान अधिकारियों द्वारा बताया गया कि लॉकडाउन में भी सीसी रोड का निर्माण कार्य किया जा सकता है क्योंकि पूरे प्रदेश में कोरोना वायरस की दवा खत्म हो चुकी है कभी भी कोई भी व्यक्ति किसी भी समय शासन के निर्माण कार्य करवाए जा सकते हैं

रेवांचल टाइम्स बालाघाट से खेमराज बनाफर की रिपोर्ट
7 लाख करोड़ रुपए के वैश्विक खिलौना बाजार में भारत की हिस्सेदारी बहुत कम, लोकल के लिए वोकल की जरूरत: पीएम मोदी

No comments:

Post a Comment