ग्राम पंचायत सचिव पर जिला पंचायत सी. ई.ओ. जानव्ही हुड्डा ने की कार्यवाही अनिमित्ता और भ्रष्टाचार पर किया निलबंन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, 28 July 2020

ग्राम पंचायत सचिव पर जिला पंचायत सी. ई.ओ. जानव्ही हुड्डा ने की कार्यवाही अनिमित्ता और भ्रष्टाचार पर किया निलबंन


रेवांचल टाइम्स - नैनपुर विकासखंड नैनपुर के ग्राम पंचायत गोंझी मैं विगत कई वर्षों से पदस्थ सचिव संजय ठाकुर ग्राम अतरिया निवासी जिस पर अनेकों बार ग्राम पंचायत के घोटाले को लेकर एवं अपनी कार्यप्रणाली पर सुधार ना लाने जिससे तंग आकर ग्रामीणों के द्वारा अनेकों बार शिकायत की गई पर इस बार कुछ ऐसा हुआ सचिव संजय ठाकुर के द्वारा फर्जी मस्टर एवं फर्जी बिलों व एंड्राइड मोबाइल खरीद कर अपने परिजनों को लाभ दिलाया और  बिल का भुगतान ग्राम पंचायत से किए गया वही अपने रिश्तेदारों के वाहन से मटेरियल अनाप-शनाप दर पर खरीदी करने और फर्जी बिल लगाकर भुगतान करवाने पर ग्राम पंचायत के सरपंच उपसरपंच पंच एवं ग्रामीणों के द्वारा जिला सीईओ को लिखित में शिकायत की गई जांच के आधार पर सचिव का निलंबन किया गया निलंबन की जानकारी मिलते ही ग्राम के लोग में उत्साह देखा गया       
       पूरा मामला यह है किरार समाज का जिला अध्यक्ष विनय ठाकुर का भाई संजय ठाकुर जोकि ग्राम अतरिया के रहने वाले हैं संजय ठाकुर गोंझी ग्राम पंचायत में विगत कई वर्षों से सचिव पद पर पदस्थ है जिस की कार्यप्रणाली को लेकर ग्रामवासी काफी दिनों से परेशान होते रहे हैं और अनेकों बार सचिव की शिकायत ग्रामवासी एवं जनप्रतिनिधि के द्वारा जनपद कार्यालय नैनपुर में भी की गई पर अधिकारियों ने कारवाई ना करते हुए सचिव का पक्ष रखते हुए उसे इस पंचायत से हटाने की बजाय वही पदस्थ रखा गया वही ग्राम वासियों के द्वारा बताया गया सचिव के द्वारा फर्जी मास्टर भरना फर्जी बिलों का भुगतान करना ऐसी ग्राम पंचायत में कई मार्ग फाइलों में बना दिया है जिस का भी भुगतान हो चुका है और सड़क बनी नहीं है वही प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत कराने के लिए पैसे की मांग करता है कोई भी कार्य पंचायत से जुड़े वाले जिसको करने के लिए पैसे की मांग की जाती है नहीं देने पर कार्य रोक देता है अभी फिलहाल में हमारे ग्राम पंचायत में सड़क निर्माण का कार्य चल रहा था जिसमें सचिव के द्वारा ग्राम के शिवम जंघेला के साथ कुछ लोग जो हैदराबाद में कार्य के लिए गए हुए हैं वही  अपने रिश्तेदारों के नाम से फर्जी हाजिरी मस्टर में भरकर एवं फर्जी दस्तखत करके राशि आहरण कर ली गई जिसकी जानकारी लगने पर हमारे द्वारा जिला सीईओ को शिकायत किया गया जांच में सत्य पाई जाने पर जिला सीओ तन्वी  हुड्डा के द्वारा सचिव पर कार्रवाई करते हुए निलंबित कर दिया गया है  पर हमारा जिला प्रशासन एवं स्थानीय प्रशासन से आग्रह है कि सचिव पर निलंबन की कार्रवाई तक ही सीमित ना रहे इसके सभी कार्यों की जांच की जाए और जांच पर सही पाने पर सचिव के ऊपर दंडात्मक कारवाई की जाए शासकीय कार्य में भी रुचि नहीं लेते थे मेरी जानकारी अनुसार सचिव संजय ठाकुर शासकीय कार्य एवं जानकारी से संबंधित कोई जानकारी जनपद कार्यालय उपलब्ध नहीं कराते थे वही कार के प्रति घोर लापरवाही देखी जा रही थी लॉकडाउन के दौरान बाहरी प्रवासी मजदूर बड़ी मात्रा में ग्रामीण क्षेत्र में प्रवेश हो रहे थे जिसकी जानकारी भी सचिव के द्वारा नहीं दिया ना ही कोई दस्तावेज उपलब्ध कराएं जब मॉनिटरिंग के लिए जनपद कार्यालय से टीम भेजी गई तो सचिव नदारद मिले और मोबाइल भी बंद कर लिए नोटिस देने के बावजूद भी इनके द्वारा कोई जवाब कोई प्रस्तुत नहीं किया गया और सभी आरोप जांच पर सिद्ध पाए गए जिस आधार पर निलंबन की कार्रवाई की गई   
                    इनका कहना है
    सचिव संजय ठाकुर के द्वारा ग्राम पंचायत में अपनी हाजिरी ना देना न ही ग्राम के लोगों का कार्य करने में रूचि नहीं थी हर काम करने में पैसे मांगा जाता था अपने स्तर पर मस्टर और फर्जी बिलों का भुगतान लगातार इसके द्वारा किया जा रहा था जिसकी शिकायत सरपंच उपसरपंच पंच एवं ग्रामीणों के द्वारा जिला पंचायत अधिकारी को की गई जांच सही पाने पर निलंबन की कार्रवाई की गई                             सूरज जंघेला उपसरपंच ग्राम पंचायत गोंझी                               
      उन्होंने बताया सचिव संजय ठाकुर कि शिकायत लगातार पंचायत के लोगों के द्वारा मिल रही थी जांच में पाया गया कि सचिव के द्वारा फर्जी मास्टर फर्जी बिल एंड्राइड मोबाइल के बिल खर्ची वाहनों के बिल वही लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूर के आवा जावी की जानकारी कार्यालय में उपलब्ध नहीं कराई गई नोटिस तामिल पर भी जवाब तलब नहीं किया गया जिला पंचायत अधिकारी को इस संबंध में जानकारी दी गई तो उनके द्वारा निलंबन की कार्रवाई की गई।                                     
         विजय कुमार श्रीवास्तव सीईओ जनपद पंचायत नैनपुर

No comments:

Post a comment