मंडला: बेखौफ चल रहा रेत का अवैध कारोबार, रेत माफियाओं के सामने बौना साबित हो रहा जिला प्रशासन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, May 31, 2020

मंडला: बेखौफ चल रहा रेत का अवैध कारोबार, रेत माफियाओं के सामने बौना साबित हो रहा जिला प्रशासन


   
   मंडला जिले के अनेक अनधिकृत रेत खदानों पर से बंजर नदी एवं नर्मदा नदी और बुडनेर नदी से भी भारी मात्रा मैं रेत की चोरी खुलेआम हो रही है दिन हो या रात नदी पर रेत से भरे वाहन देखने को मिल जाएंगे रेत माफियाओं को प्रशासन का जरा भी भय नहीं है यही वजह है कि रेत से भरे वाहन सड़कों बेलगाम दौड़ रहे हैं आम नागरिकों को रेत से भरे वाहन सड़कों पर दौड़ते या फिर नदी से रेत  निकालते मिल जाते हैं आख़िर संबंधित विभाग को नजर क्यों नहीं आते यह    विचारणीय है जब भी खनिज विभाग उन स्थानों पर जाते है जहां से अबैध रेत निकाली जाती है तो मौके पर कोई वाहन नहीं मिलते रेत माफियाओ को खनिज विभाग के पल पल की जानकारी रहती है वह कैसे सोचनीय विषय है वही अधिकारी कब कहां किस मार्ग पे कौन सी गाड़ी पर जा रहे हैं  इन रेत माफियाओं को पूरी जानकारी रहती है इससे स्पष्ट होता है की विभाग से ही जानकारी बाहर जाती है रेत माफिया तक जाती है वही खनिज विभाग के पास अमला कम है इस कारण हर जगह दर्विश नहीं दी जा शक्ति परंतु राजस्व विभाग से हल्का पटवारी कोटवार ग्राम पंचायत के सचिव इनको सारी जानकारी होती है फिर क्यों रेत  चोरों पर शिकंजा नहीं कसा जा रहा है रे चोरी एवं परिवहन पर पुलिस प्रशासन भी नाम मात्र के लिए कार्यवाही करती है।

 अगर पुलिस प्रशासन रेत चोरों पर सख्त रवैया अपनाले तो जिले से रेत चोरी बंद हो सकती है जिस तरह पूरे देश में लॉक डाउन को सफल बनाने में पुलिस प्रशासन का बहुत बड़ा योगदान रहा कम जवान होने के बाद भी शहर से लेकर दूराअंचल ग्रामीण क्षेत्र मैं भी पुलिस के ख्वाब से संपूर्ण लॉक डाउनलोड और रे चोरी भी नहीं हो रही थी फिर अब क्यों खुलेआम रेत चोरी हो रही है और परिवहन पी हो रहा है
अब क्यों  रेत माफियाओं को पुलिस का भय नहीं है यह विचारणीय है 
मंडला के  भपसा  टोला हृदय नगर बरबसपुर  टिकरी भढ़िया   ठरका टिक्कर बाड़ा जैसे अनेक स्थान है जहां से रोज  सैकड़ों की संख्या मैं ट्रैक्टर नदी से रेप निकालते देखें जा सकते हैं  ग्रामीणों और माफियाओं के बीच हमेशा विवाद  भी होते रहते हैं ग्रामीणों का कहना है की संबंधित विभाग की सांठ गांठ से ही रेत चोरी हो रही है  रेत माफियाओ को राजनैतिक संरक्षण भी प्राप्त है इस वजह से विभाग दबंग रेत माफियाओं पर कार्यवाही नहीं कर  पाते अपनी छवि बचाऐ रखने के लिए कुछ वाहनों पर कार्यवाही कर दी जाती है ताकि विभाग पर उंगली ना उठे परंतु भारी मात्रा में निक निकालकर भंडारण एवं परिवहन रेट माफियाओं के द्वारा किया जा रहा है इससे  संबंधित विभागों विभागों पर अनेक सवाल उठ रहे हैं।

रेवांचल टाइम्स से प्रमोद धनंगर के साथ शैलेश सिंह की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment