महिला बाल विकास की बढ़ती हुई लचर व्यवस्था नोनीहाल बच्चों से किया जा रहा है खिलवाड़.. - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

Friday, October 6, 2023

महिला बाल विकास की बढ़ती हुई लचर व्यवस्था नोनीहाल बच्चों से किया जा रहा है खिलवाड़..


रेवांचल टाईम्स - मंडला आदिवासी बाहुल्य जिले में बाल विकास विभाग के जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी के द्वारा लापरवाही कोई नई बात नही है आज भी ग्रामीण इलाके में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रो के तो बुरे हाल है कुछ केन्द्र खुलते है तो कुछ हप्तों से केंद्रो की शोभा दरवाजे में लगे ताला बढ़ाते है और रही बात इन्हें मिलने वाली सुविधाएं वह तो केन्द्रो में देख की ही कुछ बता सकते है और उन्हें मिलने वाला खाना कभी भी मीनू के हिसाब से मिल जाये तो ये बड़ा ही शुभ दिन माना जाता है केंद्रों में बच्चे तो पहुँच रहे पर कार्यकर्ता समय मे पहुँच जाये और जहा कार्यकर्ता पहुँच रहें वहाँ पर बच्चे ही नही मिल पाऐगे।

       वही सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार भुआ बिछिया के अंतर्गत आने वाली आंगनबाड़ी केंद्र औरई माल सेक्टर औरई सुपरवाइजर व आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की मिली भगत से संचालन हो रहे केंद्र, शासन प्रशासन की आंखों में झोकी जा रही धूल केंद्र खुला छोड़कर कार्यकर्ता व सहायिका नदारत, जबकि नोनीहाल 8 से 10 बच्चे भवन में रोते बिलखते आते हैं नजर, भवन के आसपास घनी झाड़ियां सर्पदंश का खतरा, पानी के टैंकर में नहाते नजर आते हैं नोनीहाल बच्चे, आखिरकार नोनीहाल बच्चों के साथ कोई अप्रिय घटना घटती है तो जिम्मेदार कौन, लगभग महिला बाल विकास की लचर व्यवस्था बिछिया ब्लॉक के औरई सेक्टर में देखने को मिलती है जहां सेक्टर सुपरवाइजर को पूर्व में भी कुछ आंगनबाड़ी की अनिमित्ताओं से अवगत कराया गया,जहां लगता है संबंधित सुपरवाइर घर में ही बैठकर ही करती है आंगनबाड़ी केन्द्रों का विजिट

No comments:

Post a Comment