सावन में भगवान भोलेनाथ को धतूरे चढ़ाने से भर जाएगी खाली झोली - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

Thursday, July 6, 2023

सावन में भगवान भोलेनाथ को धतूरे चढ़ाने से भर जाएगी खाली झोली



हिंदू धर्म (Hindu Religion) में सावन के महीने को बहुत पवित्र माना जाता है। इस दौरान भगवान शिव (Lord Shiva) को प्रसन्न करने के लिए भक्त सावन सोमवार का व्रत रखते हैं! इसके साथ ही भगवान शिव के भक्त कई चीजें चढ़ाते हैं। जिससे खुश होकर शिवजी भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं। इस बार सावन 4 जुलाई से शुरु हो चुका है।

शिव जी पर बेलपत्र सबसे ज्यादा चढ़ाया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि वह और कौन-से फूल-पत्ते हैं जो शिव जी को अति प्रिय हैं, लेकिन धतूरा भी शिवजी को बेहद प्रिय है। सावन के महीने में भगवान शिव को धतूरा चढ़ाने से भी वह जल्द प्रसन्न होते हैं। इसके साथ ही धतूरे के कुछ उपाय करके भी शिवजी की कृपा पा सकते हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सावन सोमवार के दिन धतूरे की जड़ को घर में स्थापित करें। इसके बाद मां काली की पूजा करके उनके बीज मंत्र का 108 बार जाप करें. इससे धन सबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

संतान की प्राप्ति के लिए
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सावन के महीने में धतूरा का फल शिवलिंग पर अर्पित करने से संतान सुख की प्राप्ति होती है।


संकट दूर करने के लिए
शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने में अश्लेषा नक्षत्र में धतूरे की जड़ को घर में लाकर स्थापित कर दें. कहते हैं इससे घर में आने वाला संकट टल जाएगा।

बुरी शक्तियों से बचाव के लिए
शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने में काले धतूरे की जड़ को रविवार या मंगलवार के दिन घर में स्थापित करने से बुरी शक्तियां आसपास भी नहीं भटकती. साथ ही घर की नकारात्मक ऊर्जा बाहर चली जाती है।

सभी परेशानी से मुक्ति के लिए
शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने में सावन सोमवार के दिन अगर कोई व्यक्ति धतूरे की जड़ को अपने बाएं हाथ की कलाई में बांध लें तो उसके जीवन में आ रही सभी परेशानियां दूर हो जाती है।

धन हानि नहीं होगी
शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने में शिवजी पर चढ़े धतूरे को घर की तिजोरी में रखने से धन हानि का सामना नहीं करना पड़ता।

नकारात्मक ऊर्जा होगी दूर
शास्त्रों के अनुसार धतूरा घर के मुख्य द्वार पर लटकाने से घर में कभी नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश नहीं करती. ध्यान रखें कि इसे सूखने से बाद बदलते रहें।



No comments:

Post a Comment