नारायणगंज की जनता बनी सिर्फ वोट बैंक, अवैध कारोबार की नेताओं को नहीं खबर सो रहे गहरी नींद में... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Monday, January 2, 2023

नारायणगंज की जनता बनी सिर्फ वोट बैंक, अवैध कारोबार की नेताओं को नहीं खबर सो रहे गहरी नींद में...





रेवांचल टाईम्स - मंडला जिले में इन दिनों सट्टा कारोबार पुलिस के रहमोकरम से खुलेआम नगर से लेकर गांव गाँव 1 के 80 बनाने का कारोबार जोरों पर है आज 21 वी सदी के समय लोग सीधे अपने मोबाईल से सट्टा पट्टी लिखवा रहे है और फोनपे पैसों का लेन देन किया जा रहा है।

            वही नारायणगंज क्षेत्र मंडला जिले की राजनीति का हमेशा से केन्द्र बिन्दु रहा है जिले की राजनीति पर नारायणगंज क्षेत्र का खासा प्रभाव है  परंतु सिर्फ यहा की आम जनता को वोट बैंक बना कर प्रतिनिधि और नेता अपना मतलब निकालते हैं नारायणगंज क्षेत्र में खुले आम चल रहे अवैध कारोबार पर लगाम लगाने में नेताओं और क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के भी पसीने छूट रहे हैं या तो यह कहा जाऐ की इन अवैध कारोबारियों की सांठगांठ इन नेताओं से भी है इसलिए समूचे नारायणगंज क्षेत्र में खुले आम अवैध काले कारोबार आबाद है जिसपर प्रशासन भी संज्ञान नहीं ले रहा है।


सट्टाबाजार का केन्द्र बिन्दु बना नारायणगंज क्षेत्र

सट्टा पट्टी, जुआ जैसे काले कारोबार का केन्द्र बिन्दु नारायणगंज बन चुका है प्रशासन की उदासीन कार्यप्रणाली के चलते दलालों और सट्टेबाजों के होंसले बुलंद हैं दिन दहाड़े जुआ, सट्टा का खेल नारायणगंज क्षेत्र के मंगल भवन ग्राउंड,भावल, बालई पुल,बस स्टैंड बड़ चौराहा में चल रहा है परंतु स्थानीय प्रशासन बेखबर होकर आराम फरमाते नजर आ रहा है।


क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों का हाथ दलालों के सर पर, प्रशासन मजबूर

नारायणगंज क्षेत्र में चल रहे अवैध कारोबार पर प्रशासन भी लगाम कसने में कामयाब नहीं हो पाता , क्योंकि स्थानीय नेताओं और जनप्रतिनिधियों का हाथ दलालों और सट्टेबाजों के सर पर है , जिससे पुलिस प्रशासन भी कार्रवाई करने में असमर्थ हो जाता है।

आखिर कब तक आम जनता होगी परेशान, युवा पीढ़ी हो रही बर्बाद जिम्मेदार कब जागेंगे नीद से

सट्टा-पट्टी में अपनी मेहनत की कमाई गंवाने वालो के घर परिवार तबाह हो रहे हैं युवा पीढ़ी सट्टा की लत के चलते अपना भविष्य गर्त में डाल रही है स्कूली बच्चों से लेकर बुजुर्ग महिलाएं तक पैसा डबल करने की लालच में अपने घर का राशन बेच कर दांव लगा रहे हैं जिससे आये दिन लोगों के घरों में झगड़े तथा पारिवारिक विवाद बड़ रहे हैं।

No comments:

Post a Comment