निर्माण श्रमिकों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने के संकल्प के साथ हो रहा योजनाओं का संचालन भवन एवं अन्य संनिर्माण कल्याण मंडल के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने की समीक्षा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Tuesday, December 20, 2022

निर्माण श्रमिकों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने के संकल्प के साथ हो रहा योजनाओं का संचालन भवन एवं अन्य संनिर्माण कल्याण मंडल के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने की समीक्षा

 



मंडला 20 दिसम्बर 2022

                मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कल्याण मंडल के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने अपने मंडला प्रवास के दौरान विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि निर्माण श्रमिकों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने के संकल्प के साथ विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं। इन योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करें तथा हितग्राहियों को चिन्हित कर पात्रतानुसार लाभ दिलाने में शासन के अन्य विभाग भी सहभागी बनें। जिला पंचायत सभाकक्ष में संपन्न हुई इस बैठक में सीईओ जिला पंचायत रानी बाटड, अपर कलेक्टर मीना मसराम, संबंधित विभागों के अधिकारी तथा श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।



                श्री तिवारी ने कहा कि मंडल द्वारा असंगठित क्षेत्र के भवन एवं अन्य संनिर्माण कार्यों में रत श्रमिकों का पंजीयन किया जाता है। पंजीयन के लिए श्रमिकों के 49 प्रवर्ग अधिसूचित किए गए हैं। निकायवार समीक्षा करें तथा पंजीयन से शेष बचे श्रमिकों के पंजीयन की कार्यवाही पूर्ण करें। पंजीकृत श्रमिकों की 2 पुत्रियों के लिए सामूहिक विवाह योजना के तहत 55 हजार रूपए तक के हितलाभ प्रदाय किए जाते हैं। सुपर 5000 योजना के तहत 10वी तथा 12वी में राज्य की मेरिट में प्रथम 5 हजार बच्चों में सम्मिलित होने पर हितलाभ 25-25 हजार रूपए देय होंगे। श्री तिवारी ने बताया कि शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत इंजीनियरिंग, मेडीकल, पैरा मेडीकल, विधि आदि की पढ़ाई में मंडल द्वारा शुल्क वहन किया जाता है। अन्य देशों में संचालित ख्यातिलब्ध यूनिवर्सिटी में श्रमिकों के बच्चों के अध्ययन की लिए फीस सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए राशि का प्रावधान किया गया है। इसी प्रकार पीएससी रजिस्टर्ड संस्थानों द्वारा पीएससी की कोचिंग प्राप्त करने पर भी फीस की प्रतिपूर्ति मंडल द्वारा की जाएगी। उन्होंने आव्हान किया कि जिले में ऐसे बच्चों का चिन्हांकन उन्हें शिक्षा के बेहतर अवसर प्रदान कराएं। श्री तिवारी ने निर्माण श्रमिकों के लिए चलाई जा रही प्रसूति सहायता, चिकित्सा सहायता, अत्येष्टि एवं अनुग्रह भुगतान योजना, खिलाड़ी प्रोत्साहन, औजार उपकरण खरीदी, साईकिल अनुदान, आवास योजना, रेनबसेरा, पीठा श्रमिक आश्रय, कौशल प्रशिक्षण, आईटीआई एवं श्रमोदय विद्यालय के संबंध में भी विस्तार से जानकारी देते हुए पात्र हितग्राहियों को योजनाओं से लाभान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोई भी पात्र हितग्राही योजनाओं के लाभ से वंचित न रहे। मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कल्याण मंडल के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधियों से भी योजनाओं के संबंध में फीडबैक प्राप्त किया।

No comments:

Post a Comment