गौरव दिवस इवेन्ट्स: फुड फेस्टिवल में सजी स्थानीय उत्पादों की श्रृंखला कलेक्ट्रेट रोड पर संगीतमय शाम की बिखरी रौनक - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Monday, November 14, 2022

गौरव दिवस इवेन्ट्स: फुड फेस्टिवल में सजी स्थानीय उत्पादों की श्रृंखला कलेक्ट्रेट रोड पर संगीतमय शाम की बिखरी रौनक

मण्डला 14 नवम्बर 2022





                गौरव दिवस के आयोजन के पहले दिन 14 नवंबर को प्रातः 7 बजे से रात 9 बजे तक अनेक प्रतियोगिताएं एवं गतिविधियां आयोजित की गई। 14 नवंबर की शाम लगभग 430 बजे कलेक्ट्रेट रोड से बैगा-बैगी चौक तक के मार्ग पर फुड फेस्टिवल प्रमुख आकर्षण का केन्द्र रहा। इस फुड फेस्टिवल में मंडला जिले के जनजातीय एवं स्थानीय उत्पादों के साथ-साथ अनेक प्रकार के व्यंजनों ने नगरवासियों को अपनी ओर खींचा। साथ ही कलेक्ट्रेट रोड पर आयोजित हुए इस फुड फेस्टिवल में महावीर आईस्क्रीम, अमृततुल्य चाय, वंधन विकास केन्द्र, आंचल महिला समिति, गुजराती स्टॉल, नवोदय तंदूरी चाय, कृषि विभाग, मधुरम, किंगफिशर, आदिवासी प्राकृतिक कलेवा, श्रीनाथ पावभाजी, दीदी कैफे, रिलाईंस फाउंडेशन, स्व-सहायता समूह सहित अनेक स्टॉलों में स्थानीय उत्पाद आकर्षक रूप में देखे गए। इसी प्रकार सीआरपीएफ जवानों द्वारा बंदूक एवं हथियारों का प्रदर्शन, यातायात पुलिस द्वारा रोबोट सिग्नल ने उपस्थितजनों को शिक्षाप्रद जानकारी भी दी।

 

कलेक्ट्रेट रोड हुआ संगीतमय-जायकेदार

 

                फुड फेस्टिवल का आयोजन कलेक्ट्रेट रोड पर किया गया। इस दौरान मार्ग को अत्यंत आकर्षक ढंग से सजाया गया। आकर्षक लाईटिंग एवं संगीत ने वातावरण को अद्भुत रूप दिया। नगरवासी बड़ी संख्या में फुड फेस्टिवल पहुंचे तथा स्थानीय व्यंजनों का भरपूर आनंद लिया। फुड फेस्टिवल में स्थानीय व्यंजनों के अलावा कलाकारों ने संगीतमय प्रस्तुति दी। जनजातीय परिधानों में सजे कलाकारों ने सामूहिक नृत्य, गायन आदि से उपस्थितजनों का खूब मनोरंजन किया तथा तालियाँ बटोरी। मंच पर कलाकारों ने नाटक, गायन आदि से समां बांधा।


No comments:

Post a Comment