'दुल्हन हम ले जाएंगे' लिखी गाड़ी से पहुंचे IT अफसर, 390 करोड़ की संपत्ति जब्त की; 12 घंटों तक गिने नोट - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Thursday, August 11, 2022

'दुल्हन हम ले जाएंगे' लिखी गाड़ी से पहुंचे IT अफसर, 390 करोड़ की संपत्ति जब्त की; 12 घंटों तक गिने नोट




रेवांचल टाइम्स:आयकर विभाग ने 1 से 8 अगस्त तक महाराष्ट्र में एक स्टील, कपड़ा व्यापारी और रियल एस्टेट डेवलपर के परिसरों पर छापेमारी की। अधिकारियों ने 58 करोड़ रुपये की बेहिसाबी नकदी और 32 किलो सोने सहित 390 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति जब्त की है। आपको बता दें कि आयकर विभाग की नासिक विंग ने अगस्त के पहले सप्ताह में जालना और औरंगाबाद शहरों में उद्योगपति के कार्यालयों और आवासों पर छापेमारी की थी। यहां मिले नोटों को गिनने में आयकर विभाग को 12 से 13 घंटे का वक्त लगा।

दिलचस्प बात यह है कि आयकर विभाग की ओर से यह कार्रवाई एकदम फिल्म अंदाज में अंजाम दी गई। छापेमारी करने वाले अधिकारियों ने एक सप्ताह तक कार्रवाई की थी और यह ऐसी औचक थी कि किसी को पता भी नहीं चला। अधिकारी जिन गाड़ियों में आते थे, उनमें मैरिज पार्टी लिखा होता था। इसके अलावा दुल्हन हम ले जाएंगे और सुनीत वेड्स प्रियंका जैसे स्टीकर भी गाड़ियों में लगा रखे थे। ऐसा इसलिए किया गया ताकि किसी को संदेह न हो सके और वह रंगेहाथों पकड़ा जा सके।

58 करोड़ रुपये कैश बरामद हुआ है। इसमें 30 करोड़ रुपये की रकम आलमारी से पाई गई है, जबकि 28 करोड़ रुपये की रकम फार्म हाउस से मिली है। बड़े पैमाने पर सोना भी बरामद हुआ है। कुछ अचल संपत्तियों को भी एजेंसी ने जब्त किया है। सब को मिला लिया जाए तो आयकर विभाग ने 390 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है।

आयकर विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 58 करोड़ रुपये की बेहिसाबी नकदी और 32 किलो सोना समेत 390 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की गई है। जब्त नकदी की गिनती में विभाग को 13 घंटे का समय लगा। इस छापेमारी की कार्रवाई में राज्य भर के 260 अधिकारी और कर्मचारी शामिल थे। इन सभी अधिकारियों को पांच टीमों में बांटा गया था।

No comments:

Post a Comment