रेवांचल टाईम्स ख़बर का हुआ असर... मंडला पी एच ई विभाग में हुए भ्रष्टाचार की होगी जाँच भोपाल हुआ जारी आदेश... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Tuesday, August 16, 2022

रेवांचल टाईम्स ख़बर का हुआ असर... मंडला पी एच ई विभाग में हुए भ्रष्टाचार की होगी जाँच भोपाल हुआ जारी आदेश...

 




रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहूल्य जिला मंडला में पी एच ई विभाग में हुए भ्रष्टाचार की शिकायत में विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने रेवांचल टाईम्स समाचार में प्रकाशित ख़बर को संज्ञान में लेकर कार्यवाही करने हेतु पत्र जारी किया है 

वही भोपाल के कार्यालय प्रधान महालेखागार (लेखा एव हकदारी) -I मध्यप्रदेश से जारी पत्र क्रमांक में क्रनि./वि.1/ समूह -2 / डी- दिनांक 11 अगस्त 2022 को मुख्य अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग जबलपुर परिक्षेत्र जबलपुर को जारी पत्र में यह उल्लेख किया गया है कि उपरोक्त विषयान्तर्गत शिकायत प्राप्त हुई है एवं श्री राजीव उसराठे द्वारा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, मंडला में कार्यरत श्री गोविन्द कुमार संभागीय लेखा अधिकारी-2 के विरुद्ध शिकायत प्रेषित कर लेख किया गया है कि श्री गोविन्द कुमार, संभागीय लेखा अधिकारी-2 द्वारा कार्यपालन यंत्री को भ्रमित एवं कूटरचना एवं सांठ गाँठकर नियम विरुद्ध अस्वस्थ वरिष्ठ लेखा लिपिक श्री सी.बी. शिववंशी का कार्य स्वयं कर रहे है तथा किसी अन्य कर्मचारी के नाम का लॉग इन पासवर्ड उपयोग किया जा रहा है एवं चेक बुक एवं केश बुक भी किसी अन्य कर्मचारी से लिखवाई गई है । जिसकी विभाग के कर्मचारी के द्वारा शिकायत की गई थी और शिकायत में गंभीर आरोप लगाए गए थे।

         जिसकी ख़बर रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र में प्रमुखता से उठी थी कि पी एच ई विभाग में भ्रष्टाचार का बोलबाला है, आये दिन नए नए भ्रष्टाचार की पोल खुल रही है और लगातार लग रहे है, विभाग द्वारा किये कार्यों पर गुणवत्ता विहीन कार्य करने का और उन कार्यों में भ्रष्टाचार करने के आरोप..



        वही मध्य प्रदेश टेक्नीशियन समिति के पूर्व संभागीय अध्यक्ष ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग के कार्यपालन यंत्री एवं संभागीय लेखापाल के द्वारा फर्जी किऐटर लाविग पासवर्ड बनाकर अनैतिक तरीके से भुगतान किया गया है, वही कर्मचारी श्री सैयाम के नाम से बनाकर किया जल जीवन मिशन एवं अन्य मदों में लाखों का खेल खेला गया है जानकारी के अनुसार वरिष्ठ लेखापाल माह अप्रैल में अस्वस्थ हो गये जिसका प्रभार किसी अन्य वरिष्ठ को नहीं दिया गया और संभागीय लेखापाल अपने पास रखकर गुपचुप तरीके से आर के सैयाम सहायक ग्रेट 3 के नाम से जिला कोषालय मंडला से किऐटर लाविग पासवर्ड बेंडर आई डी आई एफ आई एस एस बनाकर लाखों का भुगतान किया गया और ये सब कार्यपालन यंत्री से साठगांठ कर किया गया जबकि संबधित सहायक ग्रेड 3 श्री सैयाम को इस प्रकार का कोई आदेश कार्यालय से जारी नहीं किया गया और भुगतान की कार्यवाही नोट शीट आदि किसी अन्य कर्मचारी से करायी गयी है जिसका अवलोकन भुगतान की नस्ती  से किया जा सकता है, यहाँ तक की वरिष्ठ कोषालय की बिना स्वीैकृति के कुछ कर्मचारी को देनिक वेतन में रखकर फोटो कापी कम्प्यूटर रिपेयरिंग आदि के नाम पर फर्जी भुगतान किया गया वह भी केवल कोटेशन कराकर इनका फर्जी तरीके भुगतान किया जा रहा है, इन्ही कर्मचारी से गोपनीय कार्य कराया जाता है जब इस सबंध में सूचना अधिकार के आवेदन के माध्यम से जानकारी मांगी गई तो आवेदक संबंधित को हीला हवाली करते हुए समयावधि में जानकारी उपलबध नहीं कराई गई जब हुई इस अनिमित्तिया की शिकायत माननीय कलेक्टर महोदय एवं वरिष्ठ अधिकारियों को की गई है तो आन फान में संबधित सहायक ग्रेड 3 के वरिष्ठ लेखा लिपिक की उपस्थिति करा कर दिनांक 11/7/2022 की किऐटर लाविग पासवर्ड बेनडर आई डी को जिला कोषालय से परिवतन कराया गया है जबकि वरिष्ठ लेखा लिपिक कार्य करने की क्षमता में नहीं है संबंधित का मेडिकल फिटनेस प्रमाण पत्र बोर्ड से जारी होना चाहिए जो व्यक्ति कार्य करने की क्षमता नहीं है  जबकि संबंधित का इलाज जबलपुर, नागपुर में चल रहा है ऐसी स्थिति में मण्डला के एक डॉक्टनर से फिटनेस प्रमाण पत्र देकर उपस्थिति कराया गए है इसे फिटनेस प्रमाण पत्र सन्देहास्पद प्रतीत होता है जब लिपिक दिनॉंक 08/04/22 से अवकाश अवधि के भुगतान की जाँच की जायेगी तो स्पष्ट हो जावेगा कि सैयाम का कार्यलीन आदेश जारी नहीं किया गया और सैयाम लिपिक की फर्जी आई डी लाविग पासवर्ड बेंडर आई डी बनाकर कार्यपालन यत्री एवं संभागीय लेखापाल गोविन्द कुमार के द्वारा संचालित कर भुगतान किया गया है उक्त  बिन्दु की जाँच में अनेको प्रकरणों में कार्य पालन यंत्री के द्वारा वरिष्ठ कार्यालय के स्पष्ट आदेशों के बावजूद कोटेशन मै कार्य कराया गया है जब लिपिक अवकाश अवधि के दौरान भुगतान किया गया है जिसकी जांच की जायेगी तो स्पष्ट हो जावेगा कि वही श्री सैयाम का कार्यालयीन आदेश जारी नहीं किया गया और श्री सैयाम लिपिक की फर्जी आई डी लाविग पासवर्ड बेनडर आई डी बनाकर कार्यपालन यंत्री एवं संभागीय लेखापाल श्री गोविन्द कुमार के द्वारा संचालित कर भुगतान किया गया है उक्त बिन्दु के संबंध मे जब सूचना अधिकार के आवेदन के तहत जानकारी मांगी गई जिसमें कार्यपालन यंत्री द्वारा अपने आदेश क्रमांक 1277/ लेखा/लो.स्वा.या मण्डला दिनाँक 21/4/22/ को श्री गोविन्द कुमार संभागीय लेखा अधिकारी के नाम से वरिष्ठ लेखा लिपिक के कार्यो के निषपादन के संबंध में आदेश प्रसारित किया गया अगर उक्त आदेश 21/4/22/ को जारी किया गया होता फिर श्री सैयाम सहायक ग्रेड 2 के नाम जिला कोषालय एवं विभाग से जो कियेटर लागिन पासवर्ड बेंडर आई डी बनाईं गयी वह फर्जी नहीं थी यह कूट रचना कर लाखों के भुगतान किये गए हैं इस संबध में माननीय कलेक्टर महोदया एवं वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर जांच की माँग की गई है। और अगर सूक्ष्मता से जाँच होती है तो ऐसे अनेक भ्रष्टाचार निकल कर सामने आएंगे।

            आगे सब जांच के उपरांत ही सब साफ हो पायेगा की लगाए गए आरोपो में जाँच टीम किसकी और कैसी जॉच करती है और मौके क्या पाती है ये सब जाँच के बाद ही पता चल सकेगा।

No comments:

Post a Comment