नगर के युवा अधिवक्ता सम्यक जैन की शिकायत पर जांच करने पहुंची जांच समिति नगर परिषद की खुल सकती है बड़ी पोल... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, July 28, 2022

नगर के युवा अधिवक्ता सम्यक जैन की शिकायत पर जांच करने पहुंची जांच समिति नगर परिषद की खुल सकती है बड़ी पोल...



रेवांचल टाइम्स ... चार सदस्य जांच समिति ने निर्माण कार्य बरती गई अनियमितताओं का लिया जायजा डिंडोरी जिला मुख्यालय में इन दिनों नगर परिषद में भारी अनियमितताओं को लेकर शहर में चर्चाओं का दौर जोरों से जारी है सूत्रों की माने तो जिम्मेदारों द्वारा बड़े पैमाने पर सरकारी धन की होली खेली गई है नगर परिषद द्वारा नगर में कराए गए निर्माण कार्य एवं सुंदरीकरण के कार्य समेत विद्युतीकरण के कार्यों के दर को लेकर तरह तरह की बात हो रही है वही नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा बड़ा दावा करते हुए कहां गया कि जिले में सबसे अधिक विकास का डिंडोरी नगर पालिका के अंतर्गत कराया गया है जिसमें लगभग 300 करोड रुपए खर्च किए गए हैं नगर के युवा अधिवक्ता सम्यक जैन द्वारा संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग जबलपुर को शिकायत का तमाम अनियमितताओं की जांच हेतु शिकायत प्रेषित किया गया था जिसमें अधीक्षण यंत्री द्वारा दिनांक 5 जुलाई को 4 सदस्य जांच समिति गठित की गई थी मामले की जांच करने 25 जुलाई को जांच समिति के अधिकारी नीलम चौहान सीएमओ पाटन सुश्री नम्रता बरारे सहायक यंत्री नगर पालिका पनागर आर के सोनी उपयंत्री नगर पालिका शाहपुरा स्वप्निल जैन उपयंत्री नगर पालिका पाटन डिंडोरी पहुंचकर प्रवेश द्वारा रानी अवंती बाई चौक के समीप सीसी रोड वार्ड नंबर 1 के सीसी रोड समेत विद्युतीकरण एवं ओपन जिम समेत अन्य कार्यों की स्थितियों की मौके पर जायजा लिया इस तरह शिकायतकर्ता ने दीक्षित के कार्यकाल में कृत्य किए गए समस्त प्रकार की सामग्री खरीदी के क्रय आदेश स्टॉक पंजी एवं भुगतान किए गए समस्त बिलो की समस्त छाया प्रति सहित जांच  स्टाक पंजी एवं भौतिक सत्यापन कराने की मांग की है मुख्य मार्ग में विद्युतीकरण के कार्य की तकनीकी स्वीकृति नगरी प्रशासन विभाग के एस ओ आर से प्राप्त की गई है या नहीं इस संबंध में ने भी दस्तावेज के परीक्षण किए जाएं उन्होंने पत्र में उल्लेख किया कि निकाय में पदस्थ कर्मचारियों को मूल पद से हटाकर अन्य कार्य में लगा दिया गया है जिससे निकाय की व्यवस्था ठप हो गई है जबकि अगर कोई मूल पद का कर्मचारी कार्य नहीं कर रहा तो उस पर अनुशासनिक कार्यवाही किया जाना चाहिए नगर पालिका द्वारा स्वच्छता अभियान के अंतर्गत फ्लेक्स एवं दीवार लेखन के कार्य की दरें नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा तय की गई है उसके पश्चात भी निकाय में स्थानीय स्तर पर टेंडर लगाकर अधिक दर पर भुगतान करने का आरोप है स्वच्छता अभियान के तहत प्रचार प्रसार दीवार लेखन फ्लेक्स के नाम पर विगत 2,3 वर्षों में की गई भुगतान की जांच करने की मांग की गई है नगर पालिका द्वारा लाखों रुपए की पाइप लाइन डालने का कार्य प्रकरण तैयार कर कृत्य किया जाना था अगर जॉइंट जोड़ने की बात होती तो बिना प्राक्कलन के किया  जा सकता था लेकिन यहां काम लाखों रुपए का था इसलिए प्राक्कलन तैयार कर तकनीकी स्वीकृति उपरांत ई टेंडर के माध्यम से खरीदी किया जाना था लेकिन स्वार्थ पूर्ति के लिए नगरपालिका के खजाने को नुकसान पहुंचाने का आरोप है की नगर पालिका द्वारा विद्युतीकरण के कार्य में 18 फिसदी जीएसटी का भुगतान किया गया है जो कि नियम विरुद्ध है वही फाइलों का स्टीमेट नगरीय प्रशासन विभाग के एस ओ आर से तकनीकी स्वीकृति प्राप्त ना कि जाकर एमपीईबी के एस ओ आर तकनीकी स्वीकृति प्राप्त की गई है जबकि अगर दोनों विभाग के एस ओ आर की तुलना की जाए तो नगरीय प्रशासन की दरें कम है कड़ाई से अगर जांच की जाए तो जिम्मेदारों की मंशा जगजाहिर होगी वही नगर पालिका द्वारा किराए से लगाए गए वाहनों के अनुबंध विज्ञापन लॉग बुक एवं डीजल खर्च की जांच की मांग की गई है नगर पालिका द्वारा ट्रैक्टर और फायर ब्रिगेड के नाम से डीजल जारी की जा रही है विगत 2 वर्षों से नगर पालिका द्वारा वाहनों के नाम पर काटे गए डीजल पर्ची और बहनों की लॉग बुक की जांच करने की बात शिकायत में उल्लेख है तमाम आरोपों की जांच समिति द्वारा की गई है आने वाले कुछ ही दिनों में जांच प्रतिवेदन सामने आने के बाद जिम्मेदारों पर बड़ी गाज गिर सकती है और दूध का दूध और पानी का पानी हो सकता है

No comments:

Post a Comment