हरियाली अमावस्या को महोत्सव के रुप में मनाने की दिशा में सार्थक पहल, नर्मदा उद्गम स्थल से रत्नाकर संगम तक होगा वृक्षारोपण... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, July 22, 2022

हरियाली अमावस्या को महोत्सव के रुप में मनाने की दिशा में सार्थक पहल, नर्मदा उद्गम स्थल से रत्नाकर संगम तक होगा वृक्षारोपण...



रेवांचल टाईम्स - अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ का आह्वाहन, देश का हर नागरिक बने सहभागी

दिल्ली/ वैसे तो हर साल 28 जुलाई को हरियाली अमावस्या का पर्व सारे देश में मनाया जाता है लेकिन इस साल इसे ऐतिहासिक बनाने की दिशा में अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के द्वारा एक ऐसी कार्ययोजना को मूर्त रूप दिया जाना तय करते हुए इसे हरियाली महोत्सव के रूप में मनाने तय किया है, जिसके तहत माँ नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक से लेकर रत्नाकर संगम तक नर्मदा नदी के किनारे और सारे देश में वृक्षारोपण किया जाएगा जो वसुंधरा को हरा भरा करने की दिशा मील का पत्थर साबित होगा।


देश भर के पदाधिकारियों ने किया आव्हान--


माँ नर्मदा के लिए समग्र रूप से कार्य कर रहे संगठन अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ आगामी हरियाली अमावस्या 28 जुलाई 2022 को हरियाली उत्सव के रूप में मनाने जा रहा है, अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के पदाधिकारियों ने ऑनलाइन बैठक कर इस बात पर निर्णय लिया कि नर्मदा उद्गम स्थल अमरकंटक जिला अनूपपुर मध्यप्रदेश से लेकर रत्नाकर संगम गुजरात तक अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के सदस्यों द्वारा हरियाली अमावस्या 28 जुलाई 2022 को एक साथ लगभग 1800 किलोमीटर के नर्मदा तट पर दोनों ओर अलग अलग स्थानों पर वृक्षारोपण किया जायेगा।


देश के हर नागरिक का आव्हान ,महोत्सव में दर्ज कराएं सहभागिता--


ऐसा पहली बार हो रहा है कि माँ नर्मदा तट में एक साथ उद्गम स्थल से लेकर संगम तक एक ही समय में वृक्षारोपण किया जायेगा, अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ ने अपने सदस्यों के साथ ही देश के लोगों से आह्वान किया है कि नर्मदा तट के अलावा जहाँ भी संभव हो अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा के बैनर तले वृक्षारोपण करें, अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा के सभी राज्यों की इकाइयां अपने राज्यों में तथा नर्मदा तट , मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात के लोग नर्मदा तट में वृक्षारोपण करेंगे, संगठन द्वारा वृक्षारोपण के लिए पौधों का सुझाव दिया है जिसमें पीपल, वट, बेल, नीम, आंवला, आम, जामुन आदि पौधों को प्राथमिकता देने की बात कही है अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ ने हरियाली अमावस्या को संघ के उत्सव के रूप में लिया है प्रतिवर्ष हरियाली अमावस्या पर संघ हरियाली उत्सव मनायेगा

अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ ने देशवासियों से अपील किया है कि हरियाली अमावस्या, 28 जुलाई 2022 को जहाँ भी हों उस स्थान पर नर्मदा, मंदिर, नदी- तालाब, सार्वजनिक पार्क, घरों में वृक्षारोपण कर हरियाली उत्सव में शामिल हों।

            


               

    डा. सज्जन कुमार सिंह

     राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी

अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ

No comments:

Post a Comment