बारिश में खाएं ये दालें, पेट रहेगा एकदम फिट - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, June 19, 2022

बारिश में खाएं ये दालें, पेट रहेगा एकदम फिट




रेवांचल टाईम्स:थाली में जब तक दाल न हो खाना अधूरा सा लगता है. ज्यादातर घरों में खाने में रोज दाल और सब्जी बनती है. सर्दी, गर्मी या बारिश हो लोग हर सीजन में दाल खाते हैं. वैसे तो सभी दालें स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती हैं. लेकिन कुछ दालों को अगर सीजन के हिसाब से खाया जाए तो इसका फायदा दोगुना हो जाता है. जैसे बारिश के मौसम में उड़द की दाल खाने से बचना चाहिए. उड़द दाल काफी हैवी होती है और बादी करती है इसलिए इसे मानसून के सीजन में कम खाना चाहिए, लेकिन मूंग और मसूर की दाल को सदाबहार दाल कहा जाता है. इन्हें आप किसी भी मौसम में खा सकते हैं. आप मूंग और मसूर की दाल को अगर मिक्स करके खाते हैं तो ये और भी फायदेमंद साबित होती है. मूंग मसूर की मिक्स दाल हमारे पेट और पाचनतंत्र के लिए बहुत फायदेमंद है.

हर मौसम में फायदेमंद मूंग-मसूर मिक्स दाल
मूंग-मसूर की मिक्स दाल को आप किसी भी मौसम में खा सकते हैं. खासतौर से बारिश के मौसम में ये मिक्स दाल पेट के लिए बहुत फायदेमंद होती है. बारिश के मौसम में हमारा पाचनतंत्र काफी कमजोर हो जाता है. जल्दी से कोई चीज डाइजेस्ट नहीं होती. ऐसे में मूंग मसूर-दाल खाने में बहुत सुपाच्य होती है. वैसे गर्मियों में ठंडी तासीर वाली चीजें खाने की सलाह दी जाती है और सर्दियों में गर्म तासीर वाली. आप चाहें तो इन दालों को मौसम के हिसाब से अलग अलग भी बना सकते हैं. मूंग की दाल की तासीर ठंडी होती है, जबकि मसूर की दाल की तासीर गर्म होती है. इसलिए मानसून सीजन में इन दोनों दालों को मिलाकर खाने की सलाह दी जाती है.

प्रोटीन से भरपूर हैं मूंग मसूर
वैसे तो सभी दालों को प्रोटीन का अच्छा सोर्स माना जाता है सेहतमंद और स्वस्थ रहने के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी है. इसके अलावा प्रोटीन हमारे बाल, नाखून और शरीर में नई कोशिकाएं बनाने का काम करता है. इसलिए कहा जाता है कि खाने में रोज एक कटोरी दाल खानी चाहिए. मसूर की मिक्स दाल भी आपके शरीर में प्रोटीन की जरूरत को पूरी करती हैं. इसलिए रोज न सही तो सप्ताह में 4-5 दिन मूंग और मसूर की दाल को मिक्स करके जरूर खाएं. घर में बच्चों और बुजुर्गों के लिए भी मूंग मसूर की मिक्स दाल बहुत फायदेमंद रहती है.

शुगर, कोलेस्ट्रॉल और दिल की बीमारियां दूर रहती हैं
जो लोग हफ्ते में 4-5 बार मूंग- मसूर की मिक्स दाल खाते हैं उन्हें कई तरह की परेशानियों से भी मुक्ति मिल जाती है. ये मिक्स दाल खाने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल कम होता है, डायबिटीज का खतरा भी कम होता है. मूंग मसूर की मिक्स दाल लो फैट का अच्छा सोर्स है जिसे खाने से हार्ट की बीमारियां दूर रहती हैं. इन दालों में काफी मात्रा में फाइबर होता है जिससे शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है और दिल की बीमारियां कम होती हैं. इसके अलावा मूंग मसूर की मिक्स दाल में अच्छी मात्रा में आयरन और जिंक भी होता है जो आपके शरीर में खून बढ़ाने का काम भी करता है. और मांसपेशियों को भी हेल्दी रखता है

पचाने में आसान और बच्चे-बुजुर्गों के लिए वरदान है
हाई प्रोटीन सोर्स होने की वजह से दालों को पचाना आसान नहीं होता. यही वजह है कि दिन के खाने में दाल खाने की सलाह दी जाती है. पेट की किसी तरह की परेशानी होने पर भी मूंग मसूर का दाल खाने की सलाह दी जाती है. पाचन खराब होने पर उल्टी, दस्त, पेट दर्द, कब्ज, बहदहमी, गैस, पेट फूलने जैसी समस्याएं होती हैं. ऐसे में डॉक्टर्स मूंग मसूर की हल्की दाल खाने की सलाह देते हैं. इस दाल को पतला बनाया जाए तो और भी सुपाच्य हो जाती है और तुरंत पेट को आराम पहुंचाती है. इसके अलावा बच्चों को भी खाने में मूंग-मसूर की मिक्स दाल दे सकते हैं. बुजुर्गों का पाचनतंत्र भी कमजोर हो जाता है उन्हें भी ये मिक्स दाल जरूर खानी चाहिए.

No comments:

Post a Comment