आदि गुरु शंकराचार्य जी के जीवन दर्शन पर व्याख्यान कार्यक्रम का किया गया आयोजन... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, May 16, 2022

आदि गुरु शंकराचार्य जी के जीवन दर्शन पर व्याख्यान कार्यक्रम का किया गया आयोजन...



रेवांचल टाईम्स - अद्वैतवाद सिद्धांत के प्रतिपादक व भगवान आदि शंकराचार्य जी की 2529 जयंती के अवसर पर विकासखंड मुख्यालय बिछिया के जनपद सभाकक्ष में 13 मई 2022 दिन शुक्रवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें आदि गुरु शंकराचार्य जी के जीवन दर्शन पर व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें सर्वप्रथम आदि शंकराचार्य जी के छाया चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथियों के माध्यम से प्रारंभ किया गया जिसमें मुख्य रुप से कार्यक्रम मुख्य अतिथि परम श्रद्धेय संत खंडेश्वरी जी महाराज उपस्थित रहे एवं वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता मदन खत्री सरस्वती शिशु मंदिर व्यवस्थापक नरसिंहपुर जी की उपस्थिति रही, इस अवसर पर मनोज पटेल धीरेंद्र पटेल, अनेक सामाजिक कार्यकर्ता जनपद पंचायत अधिकारी गण,पंचायत स्पेक्टर राजाराम मरावी जी, एपीओ मैडम मनरेगा, एन आर एल एम समन्वयक, सलमा खान, अनिल दुबे सहायक प्रबंधक व्यापार उद्योग केंद्र मंडला मुख्य रूप से उपस्थित रहे जिला समन्वयक मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद मंडला श्री राजेंद्र चौधरी जी द्वारा सर्वप्रथम कार्यक्रम की रूपरेखा से अवगत कराया गया जिसमें मुख्य रुप से आदि गुरु शंकराचार्य जी का संक्षिप्त परिचय व कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला गया तत्पश्चात मदन खत्री जी द्वारा व्याख्यान कार्यक्रम किया गया जिसमें उनके माध्यम से आचार्य गुरु शंकराचार्य जी के जीवन दर्शन पर व्याख्यान कार्यक्रम किया गया, ततपश्चात संत खंडेश्वरी महाराज जी द्वारा उद्बोधन दिया गया जिसमें उन्होंने संत समाज और नागरिकों की समाज में क्या भूमिका होनी चाहिए इस विषय पर बेहतर व्याख्यान का उद्बोधन किया जिसमें उन्होंने समाज कार्य किस प्रकार किया जाना चाहिए वह हर एक व्यक्ति का कर्तव्य होता है कि वह समाज से जुड़कर समाज का कार्य करें बिना किसी स्वार्थ के हर व्यक्ति को समाज का कार्य करना चाहिए इन सब बातों से सभी को अवगत कराया गया वह मानव सेवा ही जन सेवा है आदि शंकराचार्य जी के जीवन दर्शन पर अपने विचार व्यक्त किए इस प्रकार आभार विकासखंड समन्वयक कीर्ति कुरील सोनी व सुनील साहू विकासखंड समन्वयक मवई के द्वारा किया गया जिसमें ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति के समस्त सदस्य ग्रामीण जन, नव अंकुर संस्थाएं, बीएसडब्ल्यू विद्यार्थी, वा अन्य  सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment