जिले का शैक्षिणक नवाचार प्रोजेक्ट नई उड़ान की सफलता....हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी बोर्ड परीक्षा परिणाम में 20 से 25 प्रतिशत की वृद्धि - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, May 10, 2022

जिले का शैक्षिणक नवाचार प्रोजेक्ट नई उड़ान की सफलता....हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी बोर्ड परीक्षा परिणाम में 20 से 25 प्रतिशत की वृद्धि

मण्डला 10 मई 2022







मध्यप्रदेश शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं के बाद भी वर्ष 2019-20 में हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम 55 प्रतिशत रहा एवं हायर सेकेण्डरी का 57 प्रतिशत रहा एवं कोविड-19 जैसी अप्रत्याशित परिस्थितियों से शिक्षण सत्र 2020-21 और 2021-22 प्रभावित हुआ जिसके कारण विद्यार्थी घर पर अध्ययन के लिए बाध्य हुए।

डिजीलेप के माध्यम से शिक्षा के साथ-साथ कोविड-19 परिस्थितियों में जिले में शिक्षा की गुणवत्ता और उपलब्धता को सुनिश्चित करने कलेक्टर हर्षिका सिंह के निर्देशन में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के माध्यम से ‘‘प्रोजेक्ट नई उड़ान’’ का आगाज किया गया। इसका उद्देश्य कोरोना काल में दूर-दराज तक शिक्षा से विद्यार्थियों को जोड़े रखना और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ घर में ही विद्यार्थी को विद्यालय की सुविधा प्रदान करना रहा। साथ ही विद्यालयों को संसाधन युक्त बनाकर शिक्षकों को शिक्षण कौशल में निपुण बनाना रहा जिसके फलस्वरूप इस वर्ष बोर्ड परीक्षा परिणामों में उछाल आया। इस वर्ष हाईस्कूल बोर्ड परीक्षा में राज्य स्तरीय प्रवीण सूची में 4 एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षा में 2 विद्यार्थियों ने स्थान प्राप्त  किया। इसी प्रकार जिला स्तरीय प्रवीण सूची में हायर सेकेण्डरी परीक्षा में शासकीय विद्यालय के 5 विद्यार्थियों ने अपनी जगह बनाई व जिले को गौरवान्वित किया। मण्डला जिले का परीक्षा परिणाम जबलपुर संभाग में पहले स्थान पर रहा तथा राज्य स्तर पर 5वे स्थान पर रहा।

प्रोजेक्ट नई उड़ान का संयोजन जिला शिक्षा अधिकारी के सानिध्य में अतिरिक्त परियोजना समन्वयक राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान मुकेश पांडे द्वारा किया गया।

शैक्षणिक परिवेश - जिले में 122 हाईस्कूल और 91 हायर सेकेंडरी हैं। शिक्षकों की कमी अतिथि शिक्षक द्वारा पूरी की जा रही है। इंटरनेट यूं तो सबकी पहुंच में है मगर मंडला का कुछ भाग आज भी इंटरनेट नेटवर्क से दूर है। विगत वर्ष हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी के 54412 दर्ज विद्यार्थियों में से 15629 विद्यार्थी इन्टरनेट सुविधा से विहीन थे जिसमें 31407 अनुसूचित जनजाति व 2573 अनुसूचित जाति के विद्यार्थी शामिल थे। सरकारी स्कूलों में अधिकांश विद्यार्थी आदिवासी समुदाय से आते हैं।

प्रोजेक्ट नई उड़ान के अंतर्गत विगत वर्ष किए गए नवाचारों की जानकारी इस प्रकार है- चलित प्रयोग शाला-  प्रोजेक्टि नई उड़ान का शुभारंभ 1 अक्टूबर 2020 को किया गया जिसमें चलित प्रयोग शाला रथ को हरी झण्डी दिखाकर कलेक्टर द्वारा रवाना किया गया। चलित प्रयोगशाला में प्रयोगशाला सामग्री का प्रदर्शन जिले की 454 ग्राम पंचायतों में किया गया जिसमें लगभग 32277 विद्यार्थी लाभान्वित हुए। विद्यालय विहीन गांव, टोलों में पेड़ के नीचे या शामियाना लगाकर प्रयोगशाला सामग्री का प्रदर्शन व उपयोगिता जानकर विद्यार्थी आश्चर्यचकित भी हुए और रोमांचित भी। नवीन शिक्षक सत्र 2021-22 में जुलाई से सितम्बर तक 460 चिन्हित ग्राम पंचायतों में आयोजित की गई जिसमें 32900 विद्यार्थी एवं 3300 जनप्रतिनिधि, पालकों की उपस्थिति रही।

प्रयोगशाला पुस्तकालय उन्नयन-  जिले के चिन्हित 48 हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों की प्रयोगशाला एवं पुस्तकालयों को आधुनिक रूप दिया गया तथा अन्य विद्यालयों के प्राचार्याें एवं शिक्षकों की इन संस्थाओं में एक्सपोजर विजिट कराई गई जिससे अन्य विद्यालय भी अपनी प्रयोगशाला एवं पुस्तकालयों को आधुनिक बना रहे हैं।

ई-विद्यालय- ई-विद्यालय जिला प्रशासन के पोर्टल एनआईसी मण्डला में ई-विद्यालय ऑपशन दिया गया है, जिसमें डिजिटल पठन-पाठन सामग्री उपलब्ध़ कराई गई है जिससे दूरस्थ स्थान के विद्यार्थी भी अपने अधिगम को निरन्तर रख सकें।

ऑनलाईन निःशुल्क प्रश्नोत्तरी- प्रोजेक्ट नई उड़ान अंतर्गत प्रतियोगी परीक्षा एवं सभी विषय की बहुविकल्पीय प्रश्नों का संकलन कर तैयारी हेतु ऑनलाईन निःशुल्क प्रश्नोत्तरी का आयोजन जुलाई 2020 से अब तक प्रत्येक रविवार को किया जा रहा है। जिससे हायर सेकेण्डरी के लगभग 16000 छात्र-छात्राएं प्रति सप्ताह लाभान्वित हुए। इस सत्र में 7 जून 2021 से निरन्तर प्रत्येक रविवार, प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी एवं बहुविकल्पीय प्रश्नों का संकलन कर ऑनलाईन निःशुल्क प्रश्नोत्तरी, क्विज गूगल फार्म के माध्यम से आयोजित हुई जिसमें लगभग 9000 विद्यार्थी लाभांवित हुए।

निःशुल्क जेईई एवं नीट कोचिंग सुविधा-  प्रतियोगी परीक्षा जेईई एवं नीट की तैयारी हेतु निःशुल्क जिले के चयनित छात्रों का ऑनलाईन एवं ऑफलाईन प्रत्येक विकासखण्ड के उत्कृष्ट ई-विद्यालयों में संचालित की जा रही है। विगत वर्ष जिले के 5 छात्रों का मेन्स में चयन हुआ है।

मॉड्यूल निर्माण- कोविड-19 के दौरान विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित न हो इस हेतु जिला स्तर पर विगत दो वर्षों से जिले के विषय विशेषज्ञों के द्वारा प्रत्येक विषय के मॉड्यूल तैयार कराए गए जिसके छात्रों द्वारा अध्यापन फलस्वरूप जिले के बोर्ड परीक्षा परिणाम में वृद्धि हुई है। 

कैरियर गांइडेंस- प्रोफेशनल कैरियर कांउसलर के द्वारा ऑनलाईन व ऑफलाईन कैरियर मार्गदशर्न किया गया। जिनके द्वारा मध्यप्रदेश शासन को कैरियर गाइडेंस एसपायर पोर्टल की जानकारी व रजिस्ट्रेयशन प्रक्रिया को समझाया गया। जिससे विद्यार्थी कैरियर के प्रति जागरूक हुए एवं अध्ययन को प्राथमिकता देते हुए जिले के परीक्षा परिणामों को बेहतर बनाने में उनका योगदान रहा। विगत दो वर्षों से संकुल स्तरीय एवं विकासखण्ड स्तरीय प्रति सप्ताह कैरियर कांउसलिंग कराई जाती है। साथ ही जिला स्तर पर जिला प्रशासन एवं शिक्षा विभाग द्वारा कैरियर मेला लगाया जा रहा है जिसमें प्रतिवर्ष विद्यार्थी लाभांवित हो रहे हैं।

ब्लॉकवार डाउट क्लियरिंग क्लासेस - वार्षिक परीक्षा के पूर्व विभिन्न विषयों में विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं के समाधान के लिए डाउट क्लियरिंग क्लासेस प्रत्येक विकासखण्ड में आयोजित की गई जिसमें कक्षा 10वीं एवं 12वीं के गणित, विज्ञान एवं अंग्रेजी विषय के विद्यार्थियों ने इस सुविधा से लाभांवित हुए।

इस वर्ष चलित प्रयोगशाला का शुभारंभ 1 जुलाई से किया गया है साथ ही विद्यार्थियों के लिए प्रवेश पूर्व कैरियर कांउसलिंग की गई। विषयवार महत्व पूर्ण पाठ्यक्रम के संकलन से माड्यूल निमार्ण कर अध्यापन कराया गया। अन्य गतिविधियां विगत दो वर्षों से संचालित की जा रही है जिसके फलस्वरूप जिले के वार्षिक परीक्षा परिणाम में 20 से 25 प्रतिशत् की वृद्धि हुई है। कलेक्टर मण्डला द्वारा विद्यालयों की सतत् मॉनीटरिंग की गई एवं सभी विभागीय अधिकारियों को फील्ड भ्रमण के दौरान विद्यालयों के निरीक्षण एवं विद्यार्थियों को मार्गदर्शन प्रदान करने हेतु आदेशित किया गया जिसके परिणामस्वरूप जिले का परीक्षा परिणाम उत्कृष्ट रहा।

समाचार क्रमांक/79/फोटो संलग्न

No comments:

Post a Comment