अगर आप भी लेते हैं काम का तनाव तो हो जाएं सावधान, समय से पहले मौत होने का मंडरा रहा है खतरा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, March 19, 2022

अगर आप भी लेते हैं काम का तनाव तो हो जाएं सावधान, समय से पहले मौत होने का मंडरा रहा है खतरा



 रेवांचल टाइम्स:इस भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग नौकरी व काम से संबंधित काफी तनाव लेते हैं. यह तनाव आपके जीवन के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है. पुरुषों में काम के बोझ से तनाव के कारण समय पूर्व मृत्यु का 68 प्रतिशत जोखिम अधिक रहता है. एक अध्ययन में सामने आया है कि वयस्कों में काम तनाव कई समस्याओं को जन्म देता है.

आप जहां काम कर रहे हैं, वहांं का कुछ तनाव तो सामान्य होता है, लेकिन कई बार अत्यधिक तनाव आपकी उत्पादकता तथा प्रदर्शन दोनों को प्रभावित कर सकता है. काम का तनाव आपके शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है. यह आपके रिश्तों व घरेलू जीवन को भी काफी प्रभावित करता है.

काम का तनाव नौकरी में सफलता और विफलता के बीच का अंतर पैदा कर सकता है. कार्यस्थल का कुछ तनाव तो सामान्य होता है, लेकिन अत्यधिक तनाव आपकाम की उत्पादकता और प्रदर्शन दोनों को ही प्रभावित कर सकता है. यह आपके शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है और आपके रिश्तों व घरेलू जीवन को प्रभावित कर सकता है.




नौकरी के तनाव से शरीर की आंतरिक प्रणालियों में बाधा पड़ती है. इससे दिल की बीमारी का खतरा बढ़ता है. कई लोग काम के तनाव में आकर शराब और धूम्रपान का सहारा ले लेते हैं. इसके अलावा वह व्यायाम छोड़ देते हैं. यह चीजें हृदय रोग का कारण बनती हैं. इससे हृदय गति में परिवर्तन होने से दिल कमजोर होता जाता है.
to


No comments:

Post a Comment