ठंडा पानी भी आपकी सेहत को पहुंचा सकता है नुकसान, जानिए इसके साइड इफेक्‍ट्स - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, February 19, 2022

ठंडा पानी भी आपकी सेहत को पहुंचा सकता है नुकसान, जानिए इसके साइड इफेक्‍ट्स





रेवांचल टाइम्स । कई लोगों को ठंडा पानी पीने से ही प्‍यास बुझती है और उन्‍हें विंटर के मौसम में भी फ्रिज का ठंडा पानी पीना अच्‍छा लगता है. अगर आप भी हर मौसम में ठंडा पानी पीना प्रेफर करते हैं तो आपको बता दें कि ठंडा पानी आपकी सेहत को कई तरह से नुकसान (Cold water harms your health) पहुंचा सकता है। यह आपके डाइजेशन को तो प्रभावित करता है, साइनस की समस्‍या को भी बढ़ा सकता है. गार्डेन लाइफ के मुताबिक, ठंडा पानी पीने से आपकी पल्‍स और हार्ट रेट कम हो सकता है और अगर पहले से ही आपको हार्ट की कोई समस्‍या है तो ये ट्रिगर कर सकता है. यही नहीं, ये आपके शरीर पर फैट बढ़ाने का भी काम करता है. तो आइए जानते हैं कि ठंडा पानी पीने से आपकी सेहत (Health) को आखिर क्‍या क्‍या नुकसान (Side effects) हो सकते हैं।

डाइजेशन की समस्‍या
ठंडा पानी डाइजेशन सिस्‍टम को तेजी से प्रभावित करता है. अगर आप रेग्‍युलर ठंडा पानी पीते हैं तो इससे खाना पचाने में दिक्कत आती है और पेट में दर्द, जी मचलना, कब्‍ज और पेट फूलने जैसी समस्या हो सकती है. दरअसल जब हम ठंडा पानी पीते हैं तो बॉडी टेम्परेचर से ये मैच नहीं करता और शरीर में पहुंच कर पेट में मौजूद खाने को पचाने में दिक्कत करता है.

सिर दर्द और साइनस

अधिक ठंडा पीने से ‘ब्रेन फ्रीज़’ की भी समस्‍या हो सकती है. यह बर्फ वाले पानी या फिर आइस क्रीम के ज्यादा सेवन से होता है. इसमें ठंडा पानी स्पाइन की सेंसेटिव नसों को ठंडा कर कर देता है जिससे यह दिमाग पर असर डालती हैं. इसी वजह से सिर में दर्द और साइनस की भी समस्‍या हो सकती है।

हार्ट रेट धीमा
हमारे शरीर में वेगस नर्व (vagus nerve) होती है जो गर्दन से होते हुए हार्ट, लंग्स और डाइजेस्टिव सिस्टम को कंट्रोल करती है. आप ज्यादा ठंडा पानी पीते हैं तो ये नर्व को तेजी से ठंडी कर देती है और हार्ट रेट और पल्‍स रेट धीमा हो जाता है जिससे इमरजेंसी सिचुएशन हो सकता है।






मोटापा बढ़ाए
ठंडा पानी आपके शरीर में जमे फैट को और सख्त बनाता है जिस वजह से फैट बर्न होने में दिक्कत आती है. अगर आप वज़न कम करने की सोच रहे हैं तो ठंडा पानी से दूर रहें।

No comments:

Post a Comment