सीएम शिवराज का एलान - इंदौर में लता मंगेशकर के नाम से बनेगी संगीत अकादमी, महाविद्यालय - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, February 7, 2022

सीएम शिवराज का एलान - इंदौर में लता मंगेशकर के नाम से बनेगी संगीत अकादमी, महाविद्यालय



भोपाल | सुर साम्रज्ञी लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि उनके जन्मस्थल इंदौर में उनके नाम की संगीत अकादमी स्थापित की जाएगी। साथ ही उनके द्वारा जो गाया गया है, उसका संग्रहालय स्थापित किया जाएगा जिसमें उनके द्वारा जो भी गाया है, वह सब उपलब्ध रहेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल की स्मार्ट सिटी में प्रदेश के कलाकारों के साथ लताजी की स्मृति में पौधरोपण किया। सीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश से लताजी का गहरा नाता रहा है। उनका यहां जन्म हुआ और उनके संगीत क्षेत्र में योगदान की वजह से इंदौर में संगीत अकादमी स्थापित की जाएगी। उनकी इंदौर में ही प्रतिमा की स्थापना की जाएगी। इंदौर में उनके नाम पर संगीत महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी जिसमें संगीत की शिक्षा दी जाएगी। चौहान ने कहा कि लताजी के जन्मदिन पर मध्य प्रदेश सरकार हर वर्ष पुरस्कार भी सरकार देगी।


सीएम ने कहा लताजी की नर्मदा यात्रा करने की इच्छा थी


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जब 2017 में नर्मदा यात्रा की थी तब उन्हें लोगों को संदेश देने के लिए आमंत्रण देने बात हुई थी और उन्होंने नर्मदा यात्रा करने की इच्छा भी जताई थी। मगर उन्हें दुख था कि वे स्वास्थ्य कारणों से नर्मदा यात्रा नहीं कर पा रही हैं। चौहान ने कहा कि आज लताजी के निधन से देश का हर व्यक्ति अपनी व्यक्तिगत क्षति मान रहा है, यह बहुत बड़ी बात है। मेरे लिए भी उनके निधन से व्यक्तिगत क्षति हुई है और मैं तो जहां कभी दौरे पर जाता था तो रास्ते में लताजी के गाने सुनने के लिए कैसेट तलाशता था।

No comments:

Post a Comment